OLX पर युवक के साथ हुई ठगी, जानिए पूरा मामला

बिहार के मुजफ्फरपुर ज़िले से ओएलएक्स पर बाइक खरीदने के नाम ठगी का मामला सामने आया है। मिली जानकारी के मुताबिक एक युवक के साथ 42 हजार रुपए की ठगी हो गई।
 | 
d

 
Newz Fast,Bihar पीड़ित कुमार अजित बाल गृह में लेखाकार के पद कार्यरत है। उसने पर ओएलएक्स पर एक 25 हज़ार रुपये की बाइक का विज्ञापन देखा था।

बाइक पसंद आने पर विज्ञापन में दर्ज नंबर पर कॉल कर बाइक ख़रीदने की इच्छा जताई। जिस नंबर पर पीड़ित ने कॉल किया था वह ख़ुद को फ़ौजी बताया और कहा कि उसका ट्रांसफर हो गया है, इसलिए बाइक बेचना चाहता है।

42 हज़ार रुपये से ज़्यादा की हुई ठगी
कुमार अजित ने उसके बातों का यक़ीन कर लिया और फिर उससे बाइक ख़रीदने के लिए पूछने लगा। ठग ने पीड़ित को भरोसे में लेते हुए रजिस्ट्रेशन और कुरियर सर्विस के नाम पर पैसे मंगवान शुरू कर दिए।

7 किश्तों में पीड़ित ने अलग-अलग डीजिटिल पेमेंट के ज़रिए 42 हजार रुपए ठग को ट्रांसफर कर दिए। पीड़ित के 42 हज़ार रुपये देने के बावजूद जब बाइक नहीं मिली इसके बाद भी ठग ने उससे पैसे मांगे तो वह समझ गया कि उसके साथ ठगी हो गई है।

इतना ही नहीं वह कॉल पर वर्दी और गौमाता की क़सम खाते हुए पैसे ट्रांसफर करने का दबाव बनाता रहा। उन दोनों के बीच हुई बातचीत का कॉल रिकॉर्डिंग भी सामने आया है।


बहाने-बहाने से खाते में मंगवाता रहा रुपये
पीड़ित व्यक्ति ने टाउन थाना में इस बाबत लिखित शिकायत दर्ज करवाई है। मोबाइल नंबर और गाड़ी का रजिस्ट्रेशन जिस व्यक्ति के नाम पर है उसके ख़िलाफ़ पुलिस ने शिकायत दर्ज कर ली है। पुलिस की मानें तो बाइक का रजिस्ट्रेशन अमित कुमार (करजा निवासी) के नाम पर है।

आर्मी का जवान बताकर उसने कुमार अजित को भरोसे में लिया और बहाने-बहाने से पैसे ट्रांसफर करवाता रहा। वहीं जब आर्मी कैंटीन में संबधित व्यक्ती की जानकारी ली गई तो पता चला की उस नाम का कोई भी व्यक्ति यहां नहीं है। इस तरह के कई मामले पहले भी आचुके हैं।


फौज़ी बताकर अजित के साथ हुई ठगी
पीड़ित ने बताया कि फौज़ी बताकर उसके साथ ठगी हो गई। आरोपी ने कहा कि वह रांची (झारखंड) में बतौर आर्मी पोस्टेड है।

अब जम्मू-कश्मीर ट्रांसफर हो गया है। इसलिए वह 25 हज़ार रुपये में ही अपनी बाइक बेचकर जाना चाह रहा है। दोनों के बीच बाइक लेन देन की बात हो गई,

उसके बाद ठग ने कहा कि आर्मी कैंप का कुरियर सर्विस है, 2150 रुपये कुरियर करने में लगेंगे। आप यह रुपया मुझे भेज दीजिए मैं वाइक कुरियर करवा देता हूं।

उसके बाद एक अलग चार्ज के नाम पर 3150 रुपये फिर मंगवा लिए। उसके बाद 7150 रुपये कुरियर ब्वॉय को देने के नाम पर मंगाव लिया।


वर्दी और गौमाता की खाने लगा कसम
इसके बाद भी वह एक और बहाना लगाते हुए कहा कि रुपये भेजने में आपने देर कर दी, इसलिए 9150 और भेजने होंगे। इसके अलावा ट्रांसपोर्टिंग फीस, ईमेल वेरिफिकेशन समेत कई चार्ज बताकर कुल 41500 रुपये की ठगी कर ली। इतने रुपये की ठगी के बाद भी वह पीड़ित को और चूना लगाने की फिराक में था।

ठग ने पीड़ित से फिर पैसे मांगे तो पीड़ित ने कहा कि अब उसके पास पैसे नहीं है। इसके बाद ठग ने वर्दी और गौ माता की कसम खाकर पैसे डालने के लिए प्रभाव बनाता रहा लेकिन पीड़ित ने उसे पैसे नहीं भेजे। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।