home page

जब रिश्ते में धोखा देता है पार्टनर, तो इस तरह छिपाता है सारे सबूत

धोखा देने वाले पार्टनर्स बड़ी ही चालाकी से अपना सच छिपाते हैं। रिश्ते में उन्हें पहचानना बड़ा ही मुश्किल होता है।
 | 
risto m derdr

Newz Fast, New Delhi  आप भी जानें कि किन तरीकों से वे धोखा देते हैं और आपको भनक भी नहीं लगती। रिश्ते में धोखा देने वाले लोग बहुत चालाकी से अपनी चालें चलते हैं, जिससे आप उनकी एक भी चोरी पकड़ न सकें।

वे अपने पीछे कोई ऐसा ट्रैक या संकेत नहीं छोड़ते हैं जो उनके राज को खोल दें, हालांकि अनजाने में कई बार वे कुछ ऐसी गलतियां कर बैठते हैं, जिससे उनकी पूरी पोल खुल जाती है।

लेकिन चीट करने वाले इसे भी आसानी से संभाल लेते हैं। एक चीटर व्यक्ति के दिमाग में कई तरह के ट्रिक्स चल रही होती हैं, जिससे वे अपना सारा झूठ छिपाने का काम करते हैं। हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं, जिनसे धोखेबाज पार्टनर अपने ट्रैक छुपाने की कोशिश करते हैं।

​सोच समझकर करते हैं बात

धोखा देने वाले लोग अपनी हर बात को लेकर बहुत ही सावधान रहते हैं कि कहीं वे अपने पार्टनर के साथ कुछ जरूरी बात न शेयर कर दें। ऐसे लोग पहले ही दिमाग में एक कहानी बना लेते हैं और आपको सुना देते हैं, जिससे आप उन पर कभी संदेह नहीं कर पाते।

चीट करने वाले पार्टनर हमेशा आपकी टाइमिंग की पूरी जानकारी रखते हैं कि कब, कहां जाते हो, जिससे गलती से भी उनकी चोरी कभी पकड़ी न जाए।

​छोटी-छोटी बात भी शेयर करने का दिखावा

अगर आपका पार्टनर हद से ज्यादा आपसे बातें शेयर कर रहा है, तो समझ जाइए कुछ तो गड़बड़ है। ऐसे लोग आपसे इस तरह अपनी हर एक बात साझा करते हैं कि आपको उनके किसी भी सीक्रेट रखने का कोई संदेह नहीं होता है।

चीटर्स इस मनोवैज्ञानिक चाल का फायदा उठाते हैं। वे आपसे इतना कुछ शेयर कर देते हैं कि आपके उन पर डाउट करने का कोई सवाल ही नहीं रह जाता है। आप सोचते हैं कि आपका पार्टनर कितना अच्छा है कि पहले ही सबकुछ बता देता है। जबकि इससे उनका राज खुल नहीं पाता है।

​फोन को रखते हैं प्रोटेक्टेड

जो साथी अपने पार्टनर को धोखा दे रहे होते हैं, वे अपने फोन को सबसे ज्यादा प्रोटेक्ट रखते हैं, क्योंकि उसमें उनके अफेयर की पूरी जानकारी छिपी होती है। एक धोखेबाज साथी का फोन ढेर सारे पासवर्ड्स से भरा रहता है, जिससे अगर आप कभी उनके फोन को खोलने का प्रयास भी करें, तो वो आसानी से बिना लॉक खोले ओपन न हो।

हालांकि यही एक कारण संदेह पैदा करने का भी होता है। अगर आपका पार्टनर आपसे अपना फोन छिपाकर रखता है, तो ये एक बड़ा संकेत है कि वे धोखा दे रहे हैं और अपने ट्रैक को छिपाने की कोशिश कर रहे हैं।

​इस तरह चीजें होती हैं कॉमन

एक चीटर अपने लैपटॉप और फोन से अपनी ब्राउजिंग हिस्ट्री हमेशा डिलीट कर देता है, ताकि आप कभी भी उनपर फोन लेने के बाद भी शक न कर पाएं कि वे क्या सर्च कर रहे थे।

हालांकि कुछ चुनिंदा चीजों के डिलीट करने वाली सिचुएशन ही शक पैदा करने का काम भी करती है। धोखा देने वाले पार्टनर्स बड़ी ही चालाकी से अपने फोन से कुछ चीजें डिलीट कर देते हैं, हालांकि कई बार ये रिसाइकिल बिन में रह जाता है, जो आपको उनकी सच्चाई के बारे में बता सकता है।

वहीं काम के कारण लेट होने का बहाना भी इन लोगों में कॉमन होता है, जबकि वह अपना आधा टाइम दूसरी व्यक्ति के साथ स्पेंड करते हैं।