Weather Alert: इस राज्य में बारिश ने मचाई तबाही, आवागमन के रास्ते हुए बंद, जानिए

उत्तराखंड में बारिश का सिलसिला लगातार जारी है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में भारी बारिश की संभावना को देखते हुए यलो अलर्ट जारी किया है।
 | 
s

Newz Fast,Uttrakhand देहरादून,पौड़ी, नैनीताल, चंपावत, बागेश्वर, पिथौरागढ़ में अगले 24 घंटे में भारी बारिश की संभावना जताई गई है।

बदरीनाथ और यमुनोत्री हाईवे भूस्खलन के चलते बाधित है। शुक्रवार को लामबगड़ नाला में हाईवे बंद होने से एक मरीज को एसडीआरएफ ने पालकी बनाकर नाला पार करवाया।

प्रदेश में मानसून सीजन में हो रही बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त है। प्रदेश में विभिन्न स्थानों पर मलबा आने से 21 स्टेट हाईवे समेत 195 सड़कें बंद हैं।

शुक्रवार को एक ही दिन में 111 सड़कें बंद हो गईं। लोनिवि ने 55 सड़कों को खोला। सड़कों को खोलने के लिए लोनिवि ने 194 मशीनें तैनात हैं। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार देहरादून, पौड़ी,नैनीताल,चंपावत, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में कहीं-कहीं भारी वर्षा के आसार हैं।

मरीज को एसडीआरएफ ने पालकी बनाकर नाला पार करवाया

जोशीमठ बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर लामबगड़ नाला बंद होने से यात्रियों के साथ स्थानीय लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

शुक्रवार को लामबगड़ नाला में हाईवे बंद होने से एक मरीज को एसडीआरएफ ने पालकी बनाकर नाला पार करवाया।

जानकारी के मुताबिक माणा गांव से गब्बर सिंह बड़वाल, उम्र 58 साल को माइनर हार्ट अटैक आ गया था। उन्‍हें उपचार हेतु हायर सेन्टर ले जाया गया।

लामबगड़ में नाला बन्द होने के चलते एसडीआरएफ ने उन्‍हें नाले से पार पहुंचाया। यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर बड़कोट के निकट भूस्खलन की खबर है। राजमार्ग को सुचारू करने का कार्य चल रहा है। उत्तरकाशी जिला मुख्यालय सहित सभी तहसील क्षेत्रों में बादल छाए हुए हैं।

गुरुवार को बदरीनाथ हाईवे पर सिरोबगड़ में आवाजाही ठप हो गई थी। नेशनल हाईवे की जेसीबी मशीनें भी लगभग एक घंटे बाद मौके पर पहुंची और दोपहर ढाई बजे यहां पर आवाजाही सुचारू हो सकी। सिरोबगड़ में भी सुबह लगभग दो घंटे आवाजाही ठप रही।

मोरी के आराकोट क्षेत्र में वर्षा के कारण चार संपर्क मार्ग बाधित

शुक्रवार को सुबह के दौरान मोरी और यमुना घाटी में जमकर वर्षा हुई। मोरी के आराकोट क्षेत्र में वर्षा के कारण चार संपर्क मार्ग बाधित हो चुके हैं।

देहरादून में भी सहस्रधारा क्षेत्र में भारी वर्षा के चलते बुधवार रात हुए भूस्खलन से काफी नुकसान हो गया था। जिसकी चपेट में पांच से छह मकान आ गए और वाहन भी क्षतिग्रस्त हुए।

कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने सहस्रधारा के ब्रह्मपुरी क्षेत्र में हुए नुकसान का निरीक्षण किया। घटनास्थल का मौका मुआयना करने के बाद कैबिनेट मंत्री जोशी ने संबंधित अधिकारियों को दिशा.निर्देश दिए।

उन्होंने प्रभावितों को हर संभव मदद का भरोसा दिया। आपदा मद में पीड़ितों को सहायता राशि के चेक प्रदान किए गए।

मौसम विभाग के पूर्वानुमान अनुसार उत्तराखंड के विभिन्न जनपदों में भारी बारिश की संभावना के दृष्टिगत नदियों का जलस्तर अचानक बढ़ने से होने वाली दुर्घटनाओं के न्यूनीकरण हेतु SDRF उत्तराखण्ड द्वारा आम जनमानस को नदी किनारे ना जाने व श्रद्धालुओं को नदी किनारे स्नान के दौरान विशेष सावधानी बरतने के लिए अलर्ट किया जा रहा है।