बेटा... शादी कब कर रही हो, उम्र निकल रही है', भारत की लड़कियों पर क्यों होता है जल्दी शादी करने का दवाब

भारत में लड़की की उम्र 25 पार करते ही लोगों को उसकी शादी की चिंता सताने लगती है।
 | 
shadhi

Newz Fast, New Delhi  इस दौरान घरवाले न केवल उस पर शादी करने का दबाव बनाने लगते हैं बल्कि उसे न चाहते हुए भी शादी के बंधन में बंधने जैसा कड़ा फैसला लेना पड़ता है।

नतीजा सोच-व्यवहार या आदतें न मिलने पर पति-पत्नी के बीच परेशानियां शुरू हो जाती हैं।'बेटा... अब तो शादी कर लो, उम्र निकले जा रही है' अगर आप 25 पार करने के बाद भी सिंगल हैं, तो बहुत लाजमी सा है कि यह सवाल अक्सर आपसे से पूछा जाता होगा।

हालांकि, इसके पीछे का सबसे बड़ा कारण क्योंकि भारत में 20 से 30 की उम्र में चल रहीं लड़कियों पर शादी करने का भयंकर दबाव होता है।

दिलचस्‍प बात यह है कि घरवालों से ज्‍यादा आस-पड़ोस के लोग उस लड़की की शादी की फिक्र करने लगते हैं, जिसका नतीजा माता पिता अपने बेटी पर जल्द से ज्यादा शादी करने का दवाब बनाने लगते हैं।

वह न केवल लड़की को व्‍हॉट़सएप पर लड़कों के फोटो दिखाते हैं

बल्कि खुद से रिश्ते की बात चला अचानक से एक-दूसरे से मुलाकात भी करा देते हैं। लेकिन यह कोई नहीं जानता कि इन सब में एक लड़की सबसे ज्यादा सफर करती है।

वह न केवल हर पल शादी करने का दबाव महसूस करती है बल्कि कभी-कभार करियर और विवाह में से उसे किसी एक को भी चुनना पड़ जाता है।

हालांकि, शादी करना जीवन की मुख्य प्राथमिकताओं में से है, लेकिन इसके बाद भी अनगिनत महिलाएं इसे एक दबाव के रूप में लेती हैं। हालांकि, यहां सोचने वाली बात ये है कि किन कारणों की वजह से आज भी महिलाओं पर जल्दी शादी करने का दवाब बनाया जाता है।
संस्कृति का हिस्सा

बहुत से लोग आज भी यही मानते हैं कि विवाह हमारी संस्कृति का अभिन्न हिस्सा है। सदियों से चली आ रही परंपरा के अनुसार महिलाओं ने जल्दी शादी करने के सिद्धांत का ही पालन किया है, फिर भले ही उसमें उनकी मर्जी शामिल हो या नहीं।

यही एक वजह भी है कि इतना सब कुछ बदल जाने के बाद भी अगर कोई महिला अपनी पसंद से शादी करने का फैसला करती है, तो समाज न केवल उसे बुरी नजर से देखता है

बल्कि तरह-तरह की बातें सुनाकर उसके आत्मविश्वास को तोड़ने में भी कोई कसर नहीं छोड़ते। शादी का पहला साल होता है बहुत खास, लेकिन ये 5 महिलाएं ऐसा नहीं मानतीं!

शादी करने का सही समय क्‍या है?

भले ही हमारा समाज कितना भी क्यों न बदल गया हो, लेकिन 25 की उम्र में लड़की की शादी हो जाने वाली सोच अभी भी नहीं बदली है। यही एक वजह भी है कि शादी वाली ऐज में अगर आपने गलती से भी अपना करियर चुन लिया, तो लोग आपको एकदम अलग नजराें से देखने लग जाते हैं।

वह न केवल आपका विद्रोह करेंगे बल्कि आपको तरह-तरह की बातें भी सुनाएंगे। हालांकि, असल सच्चाई तो यही है कि एक लड़की के लिए शादी करने का सही समय वही है, जब वह इसके लिए मन से तैयार हो।

'बेटी के खातिर मैं अपने पति को छोड़ नहीं पाई', साथी से धोखा मिलने वाले के बाद भी क्यों रिश्ते में रहते हैं लोग

30 के बाद कोई नहीं करेगा शादी

भारत में महिलाओं पर जल्‍दी शादी करने का दबाव बनाने का एक कारण यह भी है कि माता-पिता और रिश्तेदारों को लगता है कि समय से शादी नहीं हुई, तो अच्‍छा लड़का नहीं मिलेगा।

उनके मुताबिक पुरुष उन महिलाओं से शादी करना पसंद नहीं करते हैं, जिनकी उम्र ज्यादा होती है।

हालांकि, ऐसे लोग यह भूल जाते हैं कि शादी एक कमिटमेंट है, जिसे दोनों ही भागीदारों को मिलकर चलाना होता है। यही एक वजह भी है कि जल्दबाजी में शादी करने के चक्कर में कपल्स के बीच यह सोच विकसित नहीं हो पाती है, जिसकी वजह से भी शादियां टूट जाती हैं