home page

सुहागरात को लेकर सामने आई हैरान कर देने वाली जानकारी, यह सब सोचते हैं भारतीय लड़के...

जेंडर एडिट्यूड का पता लगाने के लिए इस सर्वे में पुरुषों से कुछ अतिरिक्त सवाल भी पूछे गए. ये सवाल उन स्थितियों से जुड़े हुए थे, जब पत्नी अपने पति के चाहने पर संबंध बनाने से इनकार कर देती है.
 | 
suhagraat

Newz Fast, New Delhi इस सर्वे में इनकार के लिए तीन कारण दिए गए थे, पहला यौन विकार हो, किसी अन्य महिला के साथ संबंध बनाने हो या फिर थकान या मूड न होना

इस रिपोर्ट में कहा गया है, पांच में से चार से अधिक (82 फीसदी) महिलाएं अपने पति से संबंध बनाने से इनकार कर सकती हैं. पति से संबंध बनाने के लिए ना कहने वाली इन महिलाओं की सबसे अधिक संख्या गोवा (92 फीसदी) में है जबकि अरुणाचल प्रदेश (63 फीसदी) और जम्मू एवं कश्मीर (65 फीसदी) में यह सबसे कम है.

जेंडर एडिट्यूड का पता लगाने के लिए इस सर्वे में पुरुषों से कुछ अतिरिक्त सवाल भी पूछे गए. ये सवाल उन स्थितियों से जुड़े हुए थे, जब पत्नी अपने पति के चाहने पर संबंध बनाने से इनकार कर देती है.

पुरुषों से यह पूछा गया था कि क्या उन्हें लगता है कि वह पत्नी के संबंध बनाने से इनकार के बाद इन चार तरह का बर्ताव करने का हक रखता है; जैसे- गुस्सा हो जाना, पत्नी को डांट देना, पत्नी को घर खर्च के लिए पैसे नहीं देना, मारपीट करना, पत्नी की इच्छा के खिलाफ जबरदस्ती करना शामिल हैं.

सर्वे में 15-49 आयुवर्ग के सिर्फ छह फीसदी पुरुषों का मानना है कि अगर पत्नी संबंध बनाने से इनकार करती है तो उनके पास इन चारों विकल्पों को अख्तियार करने का हक है.

सहमत नहीं होने वाले पुरुषों की संख्या 70 फीसदी से अधिक है जबकि पंजाब (21 फीसदी), चंडीगढ़ (28 फीसदी), कर्नाटक (45 फीसदी) और लद्दाख (46 फीसदी) में इनमें से किसी भी विकल्प से रजामंद नहीं होने वाले पुरुषों का प्रतिशत 50 फीसदी से कम है. एनएफएचएस-4 की तुलना में इस प्रतिशत में पांच फीसदी अंकों की गिरावट आई है.