home page

मेरी कहानी: मैं 29 साल की हूं, मेरी शादी नहीं हो रही: जिसकी वजह बहुत ही शर्मानक है

सवाल: मैं 29 साल की एक अविवाहित महिला हूं। मैंने अर्थशास्त्र में मास्टर डिग्री के साथ अपनी पढ़ाई पूरी की है। फिलहाल मैं एक अच्छे स्कूल में टीचर हूं।
 | 
mari khani

Newz Fast, New Delhi मैं पीएचडी की तैयारी भी कर रही हूं। मुझे अपनी निजी जिंदगी में कोई तकलीफ नहीं है। लेकिन मेरी समस्या यह है कि पांच साल से मेरे माता-पिता मेरे लिए एक उपयुक्त जीवनसाथी की तलाश कर रहे हैं,

जिन्हें मेरे काले रंग की वजह से बहुत ज्यादा निराशा का सामना करना पड़ रहा है। मेरी कहानी भी भारत की उन लड़कियों की तरह है, जिन्हें अपने डार्क कॉम्प्लेक्शन की वजह से सुंदर नहीं माना जाता।

इस वजह से न केवल मेरे माता-पिता का दिल टूट गया बल्कि मेरा आत्मविश्वास भी कम हो रहा है।

ऐसा इसलिए क्योंकि मेरे टैलेंट से ज्यादा मेरे रंग को तवज्जो दी जाने लगी है। एक बार फिर मेरे सामने वहीं सब चीजें आ गईं, जिनसे मैं लंबे समय से दूर भाग रही थी।

दरअसल, कॉलेज के दिनों में मेरा एक बॉयफ्रेंड था। मैं उससे बहुत ज्यादा प्यार करती थी। मैं आपसे छिपाना नहीं चाहती हमारे बीच शारीरिक संबंध भी थे। लेकिन कॉलेज खत्म होने के तुरंत बाद उसने मुझसे सारे रिश्ते तोड़ दिए।

वह न केवल पढ़ने के लिए दूसरे शहर चला गया बल्कि उसने एक बार भी मुझसे बात नहीं की। ऐसा नहीं कि मैंने उससे संपर्क करने की कोशिश नहीं की, लेकिन तमाम कोशिशों के बाद भी मेरे हाथ कुछ नहीं लगा।

यही एक वजह भी है कि जब मैं अपनी जिंदगी के सबसे खराब दौर से गुजर रही थी, तब एक दिन मैं उसके एक दोस्त से मिली। जब मैंने उससे अपने पूर्व प्रेमी के बारे में पूछा, तो उसने कहा कि

'पूरा कॉलेज जानता था कि वह तुम्हें लेकर बिल्कुल भी गंभीर नहीं है।

वास्तव में मुझे बताते हुए बहुत दुख हो रहा है। वह अक्सर हमारे सामने तुम्हारा मजाक उड़ाता था। उसने तुम्हारा निकनेम 'काली' रखा था। बेहतर यही होगा कि तुम उसे भूल जाओ।'

उसकी इन बातों को सुनकर मेरा दिल बैठ गया। मेरी जानकारी के बिना मेरा एक्स बॉयफ्रेंड मेरे साथ कितना गंदा व्यवहार कर रहा था। उसने न केवल अपने मजे के लिए मेरा इस्तेमाल किया बल्कि समय आने पर मुझे छोड़कर भी चला गया।

मौजूदा हालात में एक बार फिर जब मेरे साथ यही सब चीजें दोबारा होने लगी हैं, तो काफी परेशान रहने लगी हूं। मुझे समझ नहीं आ रहा कि मैं इस सबसे कैसे निपटूं?

मुझे अपने माता-पिता की मदद के लिए क्या करना चाहिए।

फोर्टिस अस्पताल में मनोचिकित्सक डॉ केदार तिलवे कहते हैं कि मुझे यह जानकर बहुत ही दुख हो रहा है कि आपको अपने जीवन में इस तरह के निराशाजनक अनुभवों से गुजरना पड़ रहा है।

हालांकि, इसके बाद भी मैं आपको यही सलाह दूंगा कि आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें बिल्कुल भी आपकी गलती नहीं है।

दुर्भाग्य से, हम एक ऐसे देश में रह रहे हैं, जहां आज भी खूबसूरती का मतलब गोरा होने से जोड़ा जाता है। यही एक वजह भी है कि हमारे समाज में एक लड़की का गोरा ना होना उसके लिए जीने-मरने से ज़्यादा बड़ा मुद्दा बना हुआ है।

पुरानी बातों को भूलना पड़ेगा

जैसा कि आपने बताया कि आपका एक प्रेमी था, जो आपकी सांवली रंगत का मजाक बनाता था। ऐसे में सबसे पहले मैं आपसे यही कहना चाहूंगा कि पिछली बातों को भूलने का प्रयास करें।

इसके पीछे का सबसे बड़ा कारण जो व्यक्ति आपका सम्मान नहीं करता था, उसे याद करने का कोई फायदा भी नहीं है। वह पूरी तरह से एक बेईमान व्यक्ति था, जो एक मकसद के साथ आपके करीब आया था।

मुझे लगता है कि आपको पुराने-बीते जहरीले रिश्ते को अपने भविष्य पर हावी नहीं होने देना चाहिए।

ऐसा इसलिए क्योंकि स्वार्थी लोगों द्वारा दिए गए लेबल आपको दुख के अलावा कुछ नहीं देने वाले हैं। यही नहीं, दूसरों के साथ अपनी तुलना करने से बचें।

आप जैसी भी हैं अपने में परफेक्ट हैं। मेरी कहानी: मेरी पत्नी टोना-टोटका करने लगी है, वह मुझे तिलक लगाए बिना घर से निकलने नहीं देती

आपके माता-पिता भी खुश नहीं हैं

आपने कहा कि आप पीएचडी की तैयारी कर रही हैं। मास्टर डिग्री के साथ ग्रेजुएट भी हैं, जिससे इतना तो पता चलता है कि आप अपनी और अपने परिवार की देखभाल करने के लिए पूरी तरह सक्षम हैं

 इस बात का ध्यान रखें कि खुद पर भरोसा न करके भी हम अपने आत्मविश्वास को कम कर सकते हैं। इसलिए अपनी ताकत और दक्षताओं की पहचान करें हुए उन पर ध्यान दें।

तारीफों को स्वीकार करना सीखें।

अपने आत्मविश्वास और आत्म-सम्मान को फिर से खोजें। मैं ऐसा इसलिए करने के लिए भी कह रहा हूं क्योंकि आपको तनाव में देखकर आपके माता-पिता भी खुश नहीं हैं।

सही जीवनसाथी की प्रतीक्षा करें। एक ऐसे व्यक्ति को चुनें, जो आपकी खूबियों की सराहना करता हो न के आपके रंग का मजाक बनाता हो।