home page

घर में बोर होने की बजाय एकबार जरुर करें चमोली की इन जगहों की सैर, खूबसूरती मोह लेगी आपका मन

भीड़भाड़ से दूर अगर आप भी पहाड़ों में घूमने का प्लान बना रहे हैं तो उत्तराखंड का चमोली जिला आपके लिए बेस्ट है। क्योंकि यहां की खूबसूरती सबका मन मोह लेती है।
 | 
vacation

Newz Fast, New Delhi गर्मी का मौसम शुरु होते ही लोग पहाड़ों की तरफ घूमने के लिए निकल पड़ते हैं। पहाड़ों की सुंदरता और शांति लोगों को आकर्षित करती है।

भीड़भाड़ से दूर अगर आप भी पहाड़ों में घूमने का प्लान बना रहे हैं तो उत्तराखंड का चमोली जिला आपके लिए बेस्ट है। क्योंकि यहां की खूबसूरती सबका मन मोह लेती है।

भीड़भाड़ से दूर अगर आप सुकून के कुछ पल बिताना चाहते हैं तो आपको चमोली जिले की सैर करनी चाहिए।

यह जिला उत्तर में तिब्बत और पूर्व में पिथौरागढ़ और बागेश्वर के उत्तराखंड जिलों, दक्षिण में अल्मोड़ा, दक्षिण-पश्चिम में पौड़ी गढ़वाल, पश्चिम में रुद्रप्रयाग और उत्तर-पश्चिम में उत्तरकाशी से घिरा हुआ है।

यहां आपको मंदिर से लेकर झील तक सबकुछ देखने को मिलेगा। इसलिए इस बार अपनी ट्रैवल लिस्ट में इस जगह को जरूर शामिल करें। आज इस आर्टिकल में हम आपको चमोली की उन जगहों के बारे में बताएंगे,जहां आप घूम सकते हैं।

कार्तिक स्वामी मंदिर

यह मंदिर भगवान कार्तिक को समर्पित है। जो भगवान शिव के बेटे हैं। इस मंदिर के चारों ओर आपको बर्फ की ऊंची-ऊंची चोटियां देखने को मिलेंगी। इस जगह पर बर्फ भी पड़ती है। जिसके कारण मदिंर बर्फ से ढक जाता है।

जिससे मंदिर की खूबसूरती ज्यादा बढ़ जाती है। केवल इतना ही नहीं मदिंर के अंदर मौजूद कार्तिक भगवान की मूर्ति देख आप हैरान हो जाएंगे। क्योंकि यह मूर्ति की नक्काशी अद्भुत है।
गोपेश्वर गांव

अगर आप प्रकृति की खूबसूरती से रूबरू होना चाहते हैं, तो चमोली में बसे इस गांव को अपनी बकेट लिस्ट में जरूर शामिल करें। यहां आपको कई प्राचीन मंदिर भी देखने मिलेंगे।

लोगों को कहना है कि इस गांव का नाम भगवान कृष्ण के नाम पर रखा गया है। इसलिए यह गांव आध्यातम के लिहाज से भी काफी मायने रखता है।

देवरिया ताल

अगर आप घंटों पानी में पैर डालकर बैठना चाहते हैं तो आप चमोली में बसे देवरिया ताल जा सकते हैं। यह झील समुद्र से करीब 2438 मीटर की ऊंचाई पर बसी है। इस झील का पानी एकदम साफ है। यहां आप अपने पार्टनर के साथ अच्छा समय बिता सकते हैं। (धारचूला में घूमने की बेस्ट जगहें)


हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा

 हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा बेहद ऊंचाई पर स्थित है। यह फ्लावर्स ऑफ वैली के पास स्थित है। इस गुरुद्वारे का नाम यहां मौजूद झील से लिया गया है, जिसका नाम हेमकुंड है। इसका मतलब होता है बर्फ की झील।

सिखों के लिए यह बेहद पवित्र स्थान है। यह गुरुद्वारा दसवें सिख गुरु, श्री गुरु गोबिंद सिंह जी को समर्पित है। इस झील के पास लक्ष्मण जी का भी एक छोटा सा मंदिर है।
उरगाम गांव

यह गांव चमोली जिले में स्थित है। यह गांव चारों तरफ से हिमालय की बर्फ से ढका हुआ है। यहां आपको सेब के बाग और घने जंगल देखने को मिलेंगे। यह गांव 2100 की ऊंचाई पर बसा हुआ है। अगर आप मॉर्डन लाइफस्टाइल से थक गए हैं, तो इस बार उरगाम की सैर करें।