home page

Indian Cricketer: ये 5 खिलाड़ी जो विदेशों में पैदा होने के बाद भी भारत की ओर से खेले

भारतवासियों के लिए क्रिकेट एक ऐसा खेल है जिससे वह सबसे अधिक देखना पसंद करते है। टी 20 जैसे मैचों के चलते ये ओर भी लोकप्रिय हुआ। 
 | 

Newz Fast, Viral Desk  भारतीय किक्रेट टीम के लगभग सभी खिलाड़ियों नें अपने बेहतरीन खेल प्रदर्शन की बदौलत भारतीय लोगों के दिल में अपनी विशेष जगह बनाई हुई है। 

सदियां बीत जाने के बाद भी इनके फैन्स उन्हे बुलते नहीं। एक समय था जब भारत में भारतीयों के इलावा अन्य देशों के खिलाड़ियों ने भी अपनी भागीदारी दी थी। 

एक क्रिकेट-डोमिनेंट नेशन होने के नातेए भारत में पैदा हुए क्रिकेटरों को दूसरे देशों के लिए खेलते हुए देखना आम बात है। 

फिलहाल, हाशिम अमला और गुरिंदर संधू जैसे कुछ लोकप्रिय उदाहरण हैं। हालांकि, ऐसे भी उदाहरण सामने आए हैं जिनमें भारत के बाहर पैदा हुए खिलाड़ी ने देश के लिए खेला है।

तो आज हम आपको उन पांच लोकप्रिय क्रिकेटरों के बारे में बताने जा रहे है जो विदेशों में पैदा हुए लेकिन इंटरनेशनल लेवल पर भारत के लिए खेले।

यह आश्चर्य की बात है कि एक खिलाड़ी जो भारत में पैदा नहीं हुआ, उन्होंने नीली जर्सी पहनी है। हालांकि, टैलेंट की कोई बाउंड्रीज नहीं होती है।

cri

1) रॉबिन सिंह- त्रिनिदाद और टोबैगो

रॉबिन सिंह इस लिस्ट में एक लोकप्रिय क्रिकेटर हैं। वास्तव में, उन्होंने भारत जाने से पहले ही अपना प्रोफेशनल डेब्यू कर लिया था। देश के लिए, वह नब्बे के दशक के अंत में मध्यम तेज गति के बेस्ट ऑलराउंडरों में से एक थे।

उन्होंने वनडे क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करके दिखाया है लेकिन रॉबिन का टेस्ट करियर सफल नहीं रहा। उन्होंने मात्र एक ही टेस्ट मैच खेला है। वर्तमान में वह एक कोच की भूमिका निभा रहे है। इस भूमिका में उनके कई सफल कार्यकाल हो चुके हैं।

रॉबिन सिंह के वनडे करियर की बात की जाए तो उन्होंने 136 मैच खेले है और 25.95 की औसत के साथ 2336 रन बनाये है। इस दौरान उनके बल्ले से एक शतक और 9 अर्धशतक देखने को मिले है।

df

2) सलीम दुरानी- अफगानिस्तान

सलीम दुरानी उन लोकप्रिय क्रिकेटरों में से एक हैं जो विदेशों में पैदा हुए लेकिन भारत के लिए खेले। सलीम का जन्म काबुल में हुआ था।

अफगानिस्तान के टेस्ट में ऑफिशियल डेब्यू करने से पहले ही सलीम वहां पैदा हुए थे। वो अफगानिस्तान के टेस्ट में डेब्यू करने से पहले ही टेस्ट क्रिकेट खेल चुके थे भले ही वह टीम इंडिया के लिए हो।

सलीम ने वास्तव में भारत के लिए काफी अच्छा प्रदर्शन किया था। उन्होंने 29 टेस्ट मैच खेले और बल्ले और गेंद दोनों से अच्छा प्रदर्शन किया। बाद में वे टीम इंडिया के मैनेजर भी बने। हालाँकि, यह बहुत ही कम समय के लिए था।

3) खोखान सेन- बांग्लादेश

खोखान सेन का जन्म बांग्लादेश में हुआ था, हालांकि उस समय यह ईस्ट पाकिस्तान के अंडर में आता था। वह टीम इंडिया के पहले विकेटकीपरों में से एक हैं जिन्होंने लगातार रन बनाए।

हालांकि, कुछ मैचों के बाद सेन की फॉर्म में गिरावट आती चली गयी। अंत में मैनेजमेंट ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया , फिर भी, उन्होंने डोमेस्टिक सर्किट में अच्छा प्रदर्शन जारी रखा।

दाएं हाथ के इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने भारत को 14 टेस्ट मैचों में रिप्रेजेंट किया है और 165 रन बनाये है। वहीं उनके फर्स्ट क्लास करियर की बात की जाए तो उन्होंने 82 मैच खेले है और 23.24 की औसत से 2580 रन बनाये है।

4 ) लाल सिंह- मलेशिया

लाल सिंह भी इस लिस्ट में अपना नाम दर्ज करवाने में सफल हो गए है। क्रिकेटर का जन्म स्थान मलेशिया है। वह एकमात्र टेस्ट क्रिकेटर हैं जो आज तक मलेशिया में पैदा हुए हैं।

लाल सिंह भी एक नॉन -टेस्ट खेलने वाले देश में पैदा हुए क्रिकेटरों में से एक हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट खेला। लाल सिंह इंग्लैंड के खिलाफ भारत के पहले टेस्ट मैच का हिस्सा थे। हालाँकि, यह हायर लेवल पर उनकी अंतिम उपस्थिति भी थी।

उन्होंने जो भारत के लिए एकमात्र टेस्ट मैच खेला उसमें 44 रन अपने खाते में जोड़े। उन्होंने 32 फर्स्ट क्लास मैच खेले है और 24.95 की औसत से 1123 रन बनाये है।

5) गुलाबराय रामचंद- पाकिस्तान

गुलाबराय रामचंद भारतीय क्रिकेट इतिहास के एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं। कराची में जन्मे इस ऑलराउंडर ने भारत के लिए 33 टेस्ट खेले। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में देश की कप्तानी भी की।

गुलाबराय की कप्तानी में भारत को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहली जीत मिली। वह घरेलू क्रिकेट में बॉम्बे और राजस्थान के लिए भी खेले। विकिपीडिया के अनुसार, वह एक कमर्शियल ब्रांड को सपोर्ट करने वाले पहले खिलाड़ियों में से एक हैं।