home page

रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन को ब्लड कैंसर, उन्हीं के करीबी बिजनेसमैन ने कहा- काश कैंसर से मर जाए पुतिन

बीते कुछ दिनों से रूसी राष्ट्रपति के बीमार होने की खबरें आ रही थी। अब अमेरीका की एक पत्रिका ने रूसी राष्ट्रपति के करीबी बिजनेसमैन के हवाले से यह बताया कि रूसी राष्ट्रपति को ब्लड कैंसर है।

 | 
putin

Newz Fast,New Delhi रूस-युक्रेन युद्ध के बीच रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन की बीमारी की खबर कुछ दिनों पहले सामने आई थी। अब इस मामले में अमरीकी पत्रिका न्यू लाइन्स की एक रिपोर्ट सामने आई है। जिसमें यह दावा किया गया है कि रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ब्लड कैंसर से ग्रसित हैं। उनकी तबियत बेहद खराब है।

रूसी राष्ट्रपति के एक करीबी उद्योगपति की बातचीत की रिकॉडिंग के हवाले से अमरीकी पत्रिका ने यह दावा किया है। हालांकि अमरीकी पत्रिका ने रूसी राष्ट्रपति के करीबी उद्योगपति का पहचान सार्वजनिक नहीं किया है

अमरीकी पत्रिका न्यू लाइन्स को रूसी राष्ट्रपति पुतिन के करीबी उद्योगपति और पश्चिमी देश में रह रहे उनके सहकर्मी के बीच हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग हाथ लगी है। जिसमें पुतिन के करीबी उद्योगपति यह कहते सुने जा रहे हैं कि ब्लादिमीर पुतिन को ब्लड कैंसर है। जिससे वो बुरी तरह से बीमार है। हालांकि यह रिकॉर्डिंग मार्च महीने का ही है।

रूसी बिजनेसमैन से पुतिन को बताया पागलः
व्यवसायी ने रिकॉर्डिंग में कहा कि रूसी सैनिकों को यूक्रेन पर आक्रमण करने का आदेश देने से कुछ समय पहले ब्लादिमीर पुतिन की एक सर्जरी हुई थी। रिकॉर्डिंग में उक्त व्यवसायी रूसी और यूक्रेनी अर्थव्यवस्थाओं को बर्बाद करने के लिए पुतिन की आलोचना करते सुनाई दे रहा है।

रिकॉर्डिंग में उक्त कारोबारी पुतिन के बारे में यह कहता सुनाई दे रहा है कि समस्या उनके दिमाग में है। एक पागल आदमी दुनिया को उल्टा कर सकता है।

विजय परेड के दिन कंबल से खुद को ढंकते दिखे थे पुतिनः
बताते चले कि रूस-यूक्रेन युद्ध की शुरुआत के बाद से ही पुतिन के बीमार होने की अफवाहें फैल रही हैं। 9 मई को रूस की विजय परेड के दिन पुतिन को खुद को एक कंबल से ढंकते हुए देखा गया था। इसके अलावा बैठकों के दौरान लंबी मेज पर अन्य राजनेताओं से अलग बैठे पुतिन की तस्वीरें सामने आई थी। जिसने उनके बिगड़ते स्वास्थ्य के बारे में अटकलों को हवा दी है।

क्रेमलिन ने पुतिन के बीमार होने का किया खंडनः
हालांकि रूसी सरकार के मुख्यालय क्रेमलिन ने रूसी राष्ट्रपति की बीमारी का खंडन किया है। क्रेमलिन ने जोर देकर कहा कि ब्लादिमीर पुतिन ठीक हैं और मीटिंग के दौरान लंबी टेबल का इस्तेमाल सिर्फ कोरोना से संबंधित एहतियात है। बताते चले कि यूक्रेन पर आक्रमण का आदेश देने के लिए पुतिन को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निंदा का सामना करना पड़ रहा है।

रूस-युक्रेन युद्ध में अभी तक हो चुकी हजारों मौतेंः
24 फरवरी से शुरू हुए रूस-युक्रेन के इस युद्ध में अब तक हजारों लोग मारे जा चुके हैं और 61 लाख से अधिक यूक्रेन से भाग गए हैं। रूसी हमलों से युक्रेन के कई शहर तबाह हो गए है। अंतरर्राष्ट्रीय स्तर से इस युद्ध को रोकने की कई कोशिशें हुई है। लेकिन अभी तक सफलता नहीं मिली है। वहीं दूसरी ओर युक्रेन की अदालत इस युद्ध के संबंधित दर्ज मामलों में सुनवाई शुरू कर दी है। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार शुक्रवार को यूक्रेन की एक अदालत ने एक 62 वर्षीय नागरिक की रूसी सैनिक द्वारा हत्या के मामले में प्रारंभिक सुनवाई की।