home page

सुहागरात पर दूल्हे को हल्दी वाला दूध क्यों पिलाती है दुल्हन? जानिए वजह

शादी के बाद में दूल्हा-दूल्हन के लिए एक पल बहुत ही खास होता है। और वह पल होता है सुहाग-रात। सुहाग-रात दो जिस्मों का मिलन ही नहीं हैं बल्कि ये समय होता है जब दो अजबनी एक दूसरे के बहुत करीब आते हैं और अपनी दिल की सारी भावनाओं को उजागर करने के लिए एक नए सफर पर चलने की शुरुआत करते हैं। ये सफर पल दो पल का नहीं होता यह सफर होता है जीवनभर साथ निभाने का।
 | 
suhag raat and dudh

Newz Fast, New Delhi सुहाग-रात पर सुहाग की सेज पर जाने से पहले भारतीयों में आज भी यह परंपरा बनी हुई है कि दूल्हा केसर बादाम या फिर घर पर स्पेशल रुप से तैयार किए गये दूध का ही सेवन करके कमरे में दाखिल होता है।

कुछ जगहोँ पर दूल्हन अपने पति को सुहाग-सेज पर खुद अपने हाथों से दूध पिलाती है। चलिए आपको बताते है कि सुहाग-रात पर दूध को पीने के पीछे आखिर क्या राज़ है।

शादी की रात को दूल्हे को पिलाए जाने वाले दूध में केसर, बादाम और काली मिर्च का अनोखा मिश्रण होता है जब इन सब चीजों का मिश्रण मिलकर दूध उबाला जाता है तो फिर इसमें से कुछ ऐसे तत्व निकलते हैं जो की रोमांस को बढ़ावा देते हैं और इसको पीने के बाद दुल्हे को बहुत अच्छा महसूस होता है पुराने जमाने में लड़का और लड़की एक दूसरे को शादी से पहले नहीं देखा करते थे


जिसकी वजह से पहली रात पर दूल्हा काफी ज्यादा नर्वस महसूस करता है।इस दूध को पीने से Nervousness कम हो जाती है और जोश व उत्साह में काफी बढ़ोतरी होती है। और इसके साथ ही इस दूध में डाले गए केसर व बादाम की खुशबू से हार्मोन्स भी काफी ज्यादा संचारित होते हैं और दूल्हे का मूड बहुत अच्छा होता है।


भारतीय शादियों में रीति रिवाज बहुत ज्यादा लंबे और थका देने वाले होते हैं। दूल्हा अपनी शादी की सारी रस्मों को अदा करके जब थक जाता है तो फिर सुहाग-रात पर यह दूध उसे भरपूर जोश प्रदान करता है।

इस दूध में काली मिर्च, सौंफ और हल्दी भी मिली होती है जिसकी वजह से यह एक Anti bacterial और ताकत को बढ़ाने वाला गहरा काढ़ा बन जाता है। जब आप किसी के साथ पहली बार स-बंध बनाते हैं तो फिर आपको अनेक तरह की बीमारियां होने का खतरा बना रहता है तो यह स्पेशल दूध आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है।


जब दुल्हन अपने पति को अपने हाथों से ये दूध पिलाती है तो फिर उन दोनों के बीच यह पल उनके रिश्ते को काफी गर्माहट देता है और वह एक दूसरे के बहुत करीब आ जाते हैं। जब यह दोनों मिलकर इस दूध को पीते हैं तो फिर उनके बीच की नजदीकियां बढ़ जाती हैं। सुहाग-रात पर ऐसा करने से उनके रोमांस में काफी बढ़ोतरी होती है और इस बात से दोनों को ही बहुत आनंद मिलता है।

शादी दो दिलों का ही नहीं बल्कि दो जिस्मों का भी मिलन होता है. इस अहसास को लेकर हर किसी के मन में अलग-अलग ख्याल आते हैं. सबसे सबसे खास अहसास शादी की पहली रात का होता है क्योंकि हर शादीशुदा जोड़े के लिए यह रात बहुत अहम होती है.

इस रात कई रस्में भी निभाई जाती हैं. इस मौके पर जो सबसे ज्यादा फेमस रस्म है, दूल्हे को एक गिलास केसर वाला दूध पिलाना. इस रस्म को आपने कई फिल्मों, टीवी सीरियल में देखा होगा. या फिर हो सकता निजी जिंदगी में भी आपको इसका अनुभव रहा हो. लेकिन इस रस्म को निभाने के पीछे की वजह क्या है? क्या आप जानते हैं?
सबसे पहले आपको बताते हैं ये दूध बनाया कैसे जाता है. ये आम दूध नहीं होता बल्कि इसमें केसर, चीनी, हल्दी, काली मिर्च पाउडर, बादाम, सौंफ और अन्य चीजें डालकर खूब उबाला जाता है और फिर गुनगुना होने पर दूल्हे हो पिलाया जाता है.

शादी की पहली रात पर दूल्हे को पिलाये जाने वाले दूध में काली मिर्च और बादाम का अनोखा मिश्रण होता है.

जब इसे उबाला जाता है तो इसमें से कुछ ऐसे तत्व निकलते हैं जो रोमांस को बढ़ा देते हैं और इसको पीने के बाद पुरुष पार्टनर बेहतर Orgasm Feel करता है.

दूध को पीने से नर्वसनेस कम हो जाती है और जोश व उत्साह में बढ़ोतरी होती है.

इसके साथ इस दूध में डाले गए केसर और बादाम की खुशबू से हार्मोन भी अधिक संचारित होते हैं और दूल्हे का मूड अच्छा होता है.

इस दूध में काली मिर्च, सौंफ और हल्दी मिली होती है जिसके कारण यह एक एंटी बैक्टीरियल और Immunity बढ़ाने वाला मिक्सचर बन जाता है.

जब दुल्हन अपने पार्टनर को अपने हाथों से यह दूध पिलाती है तो उन दोनों के बीच यह पल उनके रिश्ते को गर्माहट देता है, वह एक दूसरे के करीब आते हैं.

जब दोनों मिलकर इस दूध को पीते हैं तो उनके बीच की नजदीकियां बढ़ती हैं.

सुहागरात पर ऐसा करने से उनके रोमांस में बढ़ोतरी होती है और दोनों को ही आनंद मिलता है.