home page

भारत में अंतरराष्ट्रीय यात्रा को आसान और सुरक्षित बनाने के लिए जल्द शुरू होने वाली है ई-पासपोर्ट सेवा, एस जयशंकर

EAM Jaishankar आज के समय में सुरक्षा एक एक अहम मुद्दा हो गया है. आपको बता दें कि भारत अंतरराष्ट्रीय यात्रा को आसान और सुरक्षित बनाने के लिए काम कर रहा जिसके लिए ई-पासपोर्ट जल्द शुरू करने का काम जारी है।
 | 
s

Newz Fast, New Delhi   बता दें कि इस बात की जानकारी शुक्रवार को विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दी। खबर में पढ़े क्या कहा विदेश मंत्री ने-

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शुक्रवार को पासपोर्ट सेवा दिवस के अवसर पर एक संदेश दिया ।

 खास बात यह है कि उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार अंतरराष्ट्रीय यात्रा को ओर आसान बनाने जा रही है। खास बात यह है कि  जयशंकर ने बताया कि पहचान की चोरी और डेटा सुरक्षा के खिलाफ सुरक्षा को सक्षम करने के लिए भारत जल्द ही ई-पासपोर्ट शुरू करने जा रहा है।

उन्होंने कहा केंद्रीय पासपोर्ट संगठन के साथ विदेश मंत्रालय इस अवसर को चिह्नित कर रहा है और भारत के नागरिकों को समय पर, विश्वसनीय, सुलभ, पारदर्शी और कुशल तरीके से पासपोर्ट और पासपोर्ट से संबंधित सेवाएं प्रदान करने की हमारी प्रतिबद्धता को दोहरा रहा है।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा-

इस दिवस पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा की पासपोर्ट सेवा दिवस 2022 के अवसर पर भारत और विदेशों में हमारे सभी पासपोर्ट जारी करने वाले प्राधिकरणों के साथ जुड़कर मुझे बहुत खुशी हो रही है।

खास बात यह भी थी कि विदेश मंत्री ने उल्लेख किया कि कोविड -19 महामारी के परीक्षण समय के दौरान भी पासपोर्ट सेवाएं प्रदान की गईं।
जयशंकर ने बताया, 'मंत्रालय इस अवसर पर दो और महामारी के आधे साल, और पिछले एक महीने में दिए गए 4.50 लाख अतिरिक्त आवेदनों के साथ, 9.0 लाख के प्रभावशाली मासिक औसत के साथ तेजी से निपटा, और देश ने इस प्रकार एक रिकार्ड स्थापित किया।'

यह भी बता दें कि विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा, 'जब हम इस साल 24 जून को पासपोर्ट सेवा दिवस मना रहे हैं, हम नागरिक अनुभव के अगले स्तर को प्रदान करने की अपनी प्रतिबद्धता को हम जारी रखेंगे।'

जयशंकर ने कहा कि सरकार बीते समय में नागरिकों के लिए पासपोर्ट नियमों और प्रक्रियाओं को सरल बनाने में बहुत सफल रही है।

उन्होंने कहा, 'पासपोर्ट वितरण पारिस्थितिकी तंत्र को और सुगम बनाने के लिए, मंत्रालय पुलिस सत्यापन में लगने वाले समय को कम करने के लिए राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों की पुलिस के साथ लगातार काम कर रहा है।

एमपासपोर्ट पुलिस ऐप का उपयोग अब 22 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में 8275 पुलिस स्टेशनों को कवर करते हुए किया जाता है।'


उन्होंने यह भी बताया कि कागज रहित दस्तावेजीकरण प्रक्रिया को सुविधाजनक बनाने के लिए पासपोर्ट सेवा प्रणाली को डिजिलाकर सिस्टम के साथ भी एकीकृत किया गया है।

एस जयशंकर ने कहा, 'मंत्रालय ने डाक विभाग के सहयोग से 428 डाकघर पासपोर्ट सेवा केंद्रों (पीओपीएसके) का संचालन किया ताकि हमारे नागरिकों तक उनके दरवाजे पर पहुंच सकें।'