इस राज्य में भारी बारिश से मची तबाही, लोगों को हो रही काफी परेशानी

 मध्य प्रदेश में पिछले कई दिनों से जारी मानसून का ब्रेक अब खत्म हो चुका है। इसी के चलते प्रदेश के अलग-अलग जिलों में झमाझम बारिश का सिलसिला जारी है,
 | 
G

Newz Fast,MP वहीं प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में देर रात उस वक्त हड़कंप मच गया, जब रात करीब 3 बजे अचानक बादलों की गड़गड़ाहट हुई,

इसके बाद शुरू हुआ तेज बारिश का सिलसिला देर रात तक चला। इस दौरान शहर में आधे घंटे के अंदर 3 इंच बारिश होने की जानकारी सामने आई है।


जलजमाव की स्थिति पैदा हो गई
तेज बारिश के चलते शहर के कई अलग-अलग हिस्सों में जलजमाव की स्थिति पैदा हो गई, तो वहीं बारिश इतनी तेज थी कि, मानो बादल फट गए हों,

वहीं शहर में बिगड़ती स्थिति देख नगर निगम के अधिकारी भी अलर्ट मोड़ पर नजर आए। लगभग एक से डेढ़ घंटे तक चली झमाझम बारिश ने लोगों में जहां डर का माहौल पैदा कर दिया, तो वहीं अधिकारियों को भी अलर्ट कर दिया।


लगभग 1 घंटे तक चली आफत की बारिश
शहर में देर रात 3 बजे शुरू हुआ झमाझम बारिश का सिलसिला रात लगभग 4 बजे तक चलता रहा, जहां इस झमाझम बारिश ने सभी को हिला कर रख दिया, तो वहीं नगर निगम के अधिकारी भी अलर्ट मोड पर नजर आए।

अलग-अलग हिस्सों से जलजमाव की सूचनाएं मिलने लगी थी, जिसके बाद निगम की टीम ने मैदान संभालते हुए स्थिति संभाली। जैसे-जैसे बारिश का सिलसिला थमता गया, वैसे-वैसे आमजन और अधिकारियों ने राहत की सांस ली।


महापौर ने दिए निर्देश अधिकारी हुए एक्टिव
शहर के नवनिर्वाचित महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने शुक्रवार की शाम शपथ ग्रहण की ही थी कि, देर रात मूसलाधार बारिश हो गई।

वहीं इसके बाद महापौर पुष्यमित्र भार्गव एक्टिव नजर आए, और उन्होंने तुरंत अधिकारियों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए, जिसके बाद अधिकारियों की टीम ने मैदान संभालते हुए शहर के अलग-अलग हिस्सों में दौरा किया, और जलजमाव की स्थिति पर नियंत्रण पाया।

इतना ही नहीं अधिकारियों की टीम देर रात से सुबह तक एक्टिव रही, जहां अलग-अलग क्षेत्रों से मिलने वाली शिकायतों का निराकरण किया गया।


आगे ऐसा रहेगा मौसम का मिजाज
मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो प्रदेश में अच्छा खासा सिस्टम एक्टिव हुआ है, जिसके चलते झमाझम बारिश का सिलसिला जारी है, तो वहीं आने वाले दिनों में भी मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में झमाझम बारिश का सिलसिला जारी रहेगा, जहां इंदौर समेत मालवा निमाड़ के कई जिलों में भी मूसलाधार बारिश का दौर देखा जा सकता है।