रेप के कारण पैदा हुआ बच्चा, मां को 27 साल बाद दिलाया इसांफ, जानिए पूरा मामला

12 साल की उम्र में रेप का शिकार हुई महिला को 28 साल बाद आखिरकार न्याय मिल गया। महिला को इंसाफ किसी और ने नहीं बल्कि रेप से पैदा हुए बेटे ने दिलवाया है।
 | 
E

Newz Fast,UP एक साल पहले दर्ज किए गए मुकदमे में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी दो सगे भाईयों को गिरफ्तार कर लिया है। मामला उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले का है।

एसपी संजय कुमार इस मामले में जानकारी देते हुए बताया कि थाना सदर बाजार के एक क्षेत्र की रहने वाली पीड़िता जब 12 साल की थी, तब मोहल्ले के ही आरोपी हसन और उसके छोटे भाई गुड्डू ने उसका गैंगरेप किया था। पीड़िता का आरोप है कि दोनों आरोपियों ने उसके साथ कई बार रेप किया।

रेप से गर्भवती हुई, बेटे को दिया जन्म और गांव के व्यक्ति को सौंप दिया
एसपी ने बताया, ''रेप के बाद 13 साल की उम्र में पीड़िता गर्भवती हो गई और 1994 में उसने एक बच्चे को जन्म दिया था। पीड़िता ने अपने बच्चे को शाहाबाद क्षेत्र के एक गांव में रहने वाले एक व्यक्ति को सौंप दिया था और खुद अपने बहनोई के साथ रामपुर चली गई।''


शादी हुई, लेकिन पति ने दे दिया तलाक
रामपुर में बहनोई ने पीड़िता की विवाह गाजीपुर के एक एक व्यक्ति से करवा दिया। 10 साल बाद जब उसे पत्नी के रेप के बारे में जानकारी हुई तो उसने पत्नी (पीड़िता) को तलाक दे दिया।

इसके बाद पीड़िता अपने गांव आकर रहने लगी। इधर, पीड़िता का बेटा बड़ा हो गया। करीब 27 साल बाद उसने अपने माता-पिता के बारे में जानना चाहा।

27 साल बाद मां तक पहुंचा बेटा, कानूनी लड़ाई लड़कर मां को दिलाया इंसाफ
मां (पीड़िता) का नाम और पता मिलने के बाद बेटा उसतक पहुंच गया, जिसके बाद उसे इस घटना की जानकारी हुई। मां ने रोते हुए बेटे को आपबीत बयां की तो बेटा भी रो पड़ा।

इसके बाद बेटे के साथ पीड़िता ने पुलिस में शिकायत दी। कोर्ट के आदेश पर सदर बाजार थाने में दो आरोपियों के खिलाफ गैंगरेप मामला दर्ज किया गया। इसके बाद आरोपियों, महिला और उसके बेटे का डीएनए डेस्ट कराया गया। रिपोर्ट में आरोपी गुड्डू का डीएनए पीड़िता के बेटे से मिल गया।