home page

पैरेंट्स बनने के बाद ऐसे Signs मिल रहे हैं, तो समझ लें आपको है ब्रेक की जरूरत

माता-पिता अपने बच्चों को भरपूर समय देना चाहते हैं और देते भी हैं, लेकिन क्या वे अपने लिए समय निकालते हैं? हम में से ज्‍यादातर लोगों का यही कहना होगा कि पैरेंट्स को बच्‍चों की परवरिश के बीच अपने लिए तो बिलकुल भी समय नहीं मिल पाता है।
 | 
bacho k shath jada s jada time spend kre

Newz Fast, New Delhi  माता-पिता होने के नाते हम सभी को अपने बच्चों के साथ समय बिताना पसंद होता है। लेकिन क्या कभी ऐसा समय आया है, जब आपको महसूस हुआ हो कि अब आपको अपने आपको भी समय देने की जरूरत है।

जो माता-पिता अपने बच्चों के साथ ज्यादा समय बिताते हैं, वो बच्चे स्कूल में अच्छा प्रदर्शन करते हैं। लेकिन यह भी सच है कि जो पार्टनर आपस में इमोशनली कनेक्ट होते हैं वे अच्छे पेरेंट्स साबित होते हैं।

इसलिए जरूरी है कि आप अपने पार्टनर के साथ कुछ समय बिताएं ताकि पैरेंटिंग के लिए आप तरोताजा महसूस कर सकें।

यहां बताए गए कुछ संकेतों पर गौर करके आप जान सकते हैं कि अब समय आ गया है, जब आपको अपने पार्टनर के साथ या थोड़ा मी टाइम लेने की जरूरत है।

सिनेमा हॉल से दूरी

अगर आप न्यूक्लियर फैमिली में रहते हैं तो बहुत चांसेस हैं कि आप सालों से थिएटर नहीं गए हैं, क्योंकि बच्चों की देखभाल के लिए कोई नहीं होता।

हो सकता है कि बच्चे की देखभाल के लिए नैनी रखना आपको सही नहीं लगता हो लेकिन एक्सपर्ट की मानें तो बच्चों को नैनी के साथ रखने से बच्चे कुछ ना कुछ नया सीखते हैं।

इसलिए जब भी मौका मिले भरोसेमंद नैनी पर आप अपने बच्चे को छोड़कर अपने पार्टनर के साथ मूवी डेट पर जरूर जाएं।
​बच्चों में बढ़ते टैंट्रम

बच्चों के साथ समय बिताना उनके लिए फायदेमंद होता है,

लेकिन यह भी सच है कि बच्चों के साथ ज्यादा समय बिताने से बच्चे अपनी क्रिएटिविटी भूल जाते हैं, माता पिता के साथ ही खेलने के लिए जिद करते हैं। इसलिए जरूरी है कि बच्चों को थोड़ा स्पेस दें और उन्हें अपने क्रिएटिव दिमाग का इस्तेमाल कर के खेलने दें।

​खुद की प्राइवेसी का रखें ध्यान

बच्चे के 5 साल के होने के बाद भी, यदि बच्चा आपके बाथरूम में होने पर भी आपसे बातें करना चाहता है, तो यह एक संकेत है कि आप बच्चे के साथ जरूरत से ज्यादा समय बिताते हैं।

5 साल के बच्चे को समझाने में कोई बुराई नहीं है लेकिन बाथरूम में आपको प्राइवेसी की जरूरत होती है।

ट्रिप कैंसल करना

कई बार बहुत सी महिलाएं अपनी पसंदीदा जगहों पर घूमना कैंसिल करने लगती हैं, क्योंकि उन्हें अपराध बोध महसूस होता है। उन्हें लगता है कि अपनी पसंदीदा जगह जाने से बेहतर है कि हम अपना समय बच्चों को दें।

ऐसा महसूस करना बहुत ही सामान्य है। लेकिन, एक्सपर्ट्स की मानें तो अगर आप अपने लिए वक्त निकालेंगे और खुद के जीवन को भरपूर जिएंगे तो आपके बच्चे को भी यही शिक्षा मिलेगी।

आप भी यही चाहेंगे कि आपका बच्चा भविष्य में अपने लिए समय निकाल कर अपनी जिंदगी खुलकर जिए।

​बच्चों के साथ देर रात तक समय बिताना

आपको इस बात से खुशी महसूस हो सकती है कि आपका बच्चा आपके साथ समय बिताना चाहता है ना कि मोबाइल और कंप्यूटर देखकर। लेकिन देर रात तक बच्चों के साथ टीवी देखना

या बातें करने से आप अपने पार्टनर को कुछ समय कम देने लगती हैं। ऐसा करने से शायद अनजाने में आप अपने पार्टनर से दूरी बना रहे हैं। इसलिए जरूरी है कि बच्चों के साथ-साथ अपने पार्टनर के साथ भी समय बिताएं।

​बच्चों को हर इवेंट पर साथ लेकर जाना

यह अच्छी बात है कि आप अपने बच्चों को अपनी हर एक्टिविटी में शामिल करना पसंद करते हैं, लेकिन हो सकता है कि बच्चों को यह ज्यादा पसंद ना आए।

जो इवेंट बड़ों के लिए ऑर्गेनाइज किया गया हो, वहां बच्चे एंजॉय नहीं कर पाते, ऐसे में आप कोशिश करें कि बच्चे को हर जगह अपने साथ लेकर ना जाएं।

गेट स्‍लिम जूस से घटाएं पेट की चर्बी, जानें कैसे