देश में आखिर कार फिर से क्यों बढ़ रहें हैं कोरोना के मामले, जानिए वजह

 | 

Newz Fast,New Delhi देश में जिस तरह से कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं उसको देखते हुए देश की राजधानी के लोक नायक जय प्रकाश नारायण अस्पताल ने वैरिएंट म्यूटेशन पर अध्ययन किया है, जिसकी रिपोर्ट जल्द सामने आएगी।

अस्पताल के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉक्टर सुरेश कुमार ने बताया कि हमने यह अध्ययन इसलिए किया है ताकि यह पता किया जा सके कि क्या कोरोना का कोई नया वैरिएंट सामने आया है।

अगले हफ्ते इस अध्ययन की रिपोर्ट आ सकती है। कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंता जाहिर करते हुए डॉक्टर कुमार ने कहा कि लोग कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे हैं, कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, लेकिन मामले ज्यादा गंभीर नहीं है।

डॉक्टर सुरेश कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रमितों के अस्पताल में भर्ती होने की संख्या में इजाफा देखने को नहीं मिला है इसकी बड़ी वजह है कि लोगों को बूस्टर डोज भी लग गई है।

लेकिन कई ऐसे लोग हैं जो लोग बूस्टर डोज को लेकर कोई खास इच्छा नहीं दिखा रहे हैं। अपोलो अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टर निखिल मोदी ने कहा कि कोरोना के मामले निसंदेह बढ़ रहे हैं हैं लेकिन लक्षण काफी हल्के हैं।

जो मरीज 80-90 वर्ष की उम्र के बीच के हैं और उनको मधुमेह है वो मरीज हमारे पास आ रहे हैं, लेकिन इनके अंदर कोरोना के लक्षण बहुत हल्के हैं।

दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल में डॉक्टर धीरेन गुप्ता ने बताया कि जो लोग समय से अपना टेस्ट नहीं कराते हैं और कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे हैं, वो ज्यादा मुश्किल में आ रहे हैं।

डॉक्टर गुप्ता ने बताया कि कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी की वजह लोगों का लापरवाह बर्ताव है, लोग मास्क नहीं पहन रहे हैं। मौसम में बदलाव भी इसकी एक वजह है। कोरोना से कुछ लोगों की मौत भी हुई है, इसमे से अधिकतर लोगों की मौत कोरोना संक्रमण के चलते नहीं बल्कि अन्य बीमारियों के चलते खरते के चलते हुई है। कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है, जो लोग तीन महीने पहले संक्रमित हुए थे, वह फिर से संक्रमित हो रहे हैं। बता दें कि देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 20551 केस सामने आए थे।