Big Breaking

Ranchi Today News : हाथ में सांरगी लेकर साधू के भेष में 22 साल बाद आया पति, विधवा पत्नी ने ऐसे पहचाना

jogi photo

Newz Fast, Ranchi

Ranchi Today News

झारखंड में पत्नी के लिए 22 साल पहले मर चुका पति अचानक जिंदा हो गया। किसी फिल्म स्टोरी की तरह लगने वाली यह कहानी सच है। 22 साल पहले पति को मरा मान कर विधवा की तरह जीवन जी रही पत्नी उस समय दंग रह गई, जब उसके सामने उसका पति सारंगी बजाते हुए आ गया। पूरे इलाके में यह चर्चा का विषय बना हुआ है। Ranchi Today News

दरअसल गढ़वा जिले के कांडी प्रखंड के सेमौरा गांव निवासी उदय 22 वर्ष पहले अपने पैतृक आवास को छोड़कर चला गया। उसके बाद घर के परिजनों द्वारा कई जगहों पर उदय को खोजा गया, लेकिन कहीं भी उसका आता-पता नहीं चला।

काफी दिन बीत जाने के बाद घरवालों को आशंका हुई कि वह जिंदा नहीं है और कोई घटना-दुर्घटना में मारा गया होगा। Ranchi Today News

ranchi today news

इसके बाद से ही उसकी पत्नी एक विधवा की जिंदगी जीने लगी और बेटे-बेटी अनाथ हो गए। लेकिन 22 साल बीत जाने के बाद रविवार को अचानक उदय जोगी के भेष में हाथ में सारंगी लिए हुए अपने पैतृक आवास सेमौरा गांव पहुंचा। उदय अपनी पत्नी से भिक्षा लेने के लिए पहुंचा और बाबा गोरखनाथ का भजन गाने लगा। Ranchi Today News

जोगी के भेष में पहुंचे उदय को देखते ही उसकी पत्नी पहचान गई, और अपने खोए हुए पति को पाने के लिए बिलख- बिलख कर रोने लगी। फिर उसे जोगी का रूप छोड़कर अपने घर रहने के लिए कहने लगी, परंतु उदय साव अपना बार-बार परिचय छुपाता रहा। इतने देर में घर व गांव के कई सदस्य वहां पहुंच गए और उन्होंने भी उदय को पहचान लिया। Ranchi Today News

See also  Kabul Breaking News : This is how Taliban captured Afghanistan, see full report with time

jogi photo ranchi

आखिर में उदय ने अपना असली परिचय बताया और अपनी पत्नी से भिक्षा लेने के लिए आग्रह किया। उन्होंने कहा कि पत्नी के भिक्षा के बिना मुझे सिद्धि प्राप्त नहीं हो सकती है, इसलिए मुझे भिक्षा देकर अपना कर्तव्य का पालन करने दे।

जोगी के भेष में बरसों बाद उदय साव के घर आने की सूचना पर कई गांव की लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। Ranchi Today News

सभी लोगों ने चाहा कि जोगी के भेष में पहुंचे उदय अब अपने घर परिवार के साथ ही रहे। लेकिन उसने घर परिवार में रहने से इनकार कर दिया। यहां तक कि वह गांव से बाहर आकर डिग्री कॉलेज कांडी में शरण लिए हुए है।

jogi photo

इस बीच बाबा गोरखनाथ के धाम पर यज्ञ व भंडारा कराने के लिए गांव के लोग अनाज और पैसे भी एकत्रित करने में जुट गए हैं। समाचार लिखे जाने तक अपनी पत्नी से भिक्षा नहीं मिलने के कारण वह आसपास के क्षेत्रों में ही घूम रहा है। Ranchi Today News

Related posts

दैनिक भास्कर के ठिकानों पर आयकर विभाग ने की छापेमारी, सामने आई ये बड़ी वजह

Sandeep Kumar

Journalist Dinesh Poonia : पत्रकार दिनेश पूनिया

Sandeep Kumar

Leave a Comment