श्रीकांत त्यागी पर चौतरफा शिकंजा, बुलडोजर के बाद GST का छापा: सरेंडर के लिए कोर्ट में अर्जी

एफआईआर दर्ज होने के बाद से श्रीकांत त्यागी फरार है। चर्चा है कि उसने सोमवार को गौतबुद्धनगर के सूरजपुर सीजेएम कोर्ट में सरेंडर की अर्जी लगाई है और अदालत ने उसे 10 अगस्त की तारीख तय कर दी है।

 | 
tyagi

Newz Fast, Viral Desk नोएडा की पॉश सोसाइटी में महिला से बदसलूकी करने के आरोपी गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी (Shrikant Tyagi) पर पुलिस और प्रशासन का चौतरफा शिकंजा कसता जा रहा है।

नोएडा स्थित उसके आवास के बाहर बनाए गए अवैध निर्माण को ढहाने के बाद अब भंगेल मार्केट में स्थित उसकी दुकान पर जीएसटी टीम का छापेमारी चल रही है।

एफआईआर दर्ज होने के बाद से फरार श्रीकांत त्यागी पुलिस से बचने को भागा-भागा फिर रहा है। उत्तर प्रदेश से लेकर उत्तराखंड तक सरगर्मी से उसकी तलाश जारी है। मीडिया रिपोर्टों में दावा किया जा रहा है कि उसकी लास्ट लोकेशन ऋषिकेश की बताई जा रही है। 

हालांकि, उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि अभी तक हमारे उत्तराखंड पुलिस को उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा संपर्क नहीं किया गया है।

इसके बावजूद मैंने देहरादून और हरिद्वार के एसएसपी को कहा है कि यदि उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा कोई भी मदद मांगी जाती है तो तुरंत मदद की जाए।

चर्चा है कि श्रीकांत त्यागी ने सोमवार को गौतबुद्धनगर के सूरजपुर सीजेएम कोर्ट में सरेंडर की अर्जी लगाई है और अदालत ने उसे 10 अगस्त की तारीख तय कर दी है।

वहीं, नोएडा पुलिस ने सेक्टर 93बी स्थित ग्रैंड ओमैक्स सोसाइटी में एक महिला से गाली-गलौज और हाथापाई करने के आरोपी श्रीकांत त्यागी की गिरफ्तारी में मदद करने वाले व्यक्ति को 25,000 रुपये का नकद इनाम देने की घोषणा की है। नोएडा पुलिस की आठ टीमें आरोपी की तलाश में जुटीं हैं। 

एसएचओ सहित 6 पुलिस कर्मी सस्पेंड

एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार ने बताया कि इस मामले में डीजीपी द्वारा थाना फेस-2 के एसएचओ सुजीत उपाध्याय सहित सोसाइटी की सुरक्षा में तैनात किए गए एक सब-इंस्पेक्टर और चार सिपाहियों को भी काम में लापरवाही बरतने के आरोप में सस्पेंड कर दिया गया है।

पीड़ित महिला को दिए गए दो पीएसओ

इसके साथ ही पीड़ित महिला को भी दो सुरक्षा कर्मी उपलब्ध कराए गए हैं। बताया जा रहा है कि सोसाइटी में आने वाले हर व्यक्ति की गहनता से जांच की जा रही है। उक्त महिला ने त्यागी द्वारा सोसायटी के साझा क्षेत्र में पौधे लगाने पर आपत्ति जताई थी, जिससे वह भड़क उठा था।

त्यागी के फ्लैट के बाहर बना अवैध निर्माण ढहाया 

बता दें कि सोमवार सुबह करीब नौ बजे नोएडा प्राधिकरण के प्रवर्तन दस्ते ने ग्रैंड ओमैक्स सोसाइटी में पहुंचकर श्रीकांत त्यागी के ग्राउंड फ्लोर वाले अपार्टमेंट के बाहर बने अवैध निर्माण को ध्वस्त कर दिया।

वरिष्ठ अधिकारियों ने सोसाइटी के निवासियों से बातचीत की। उन्होंने सरकार के अवैध निर्माण को ढहाए जाने के कदम की तारीफ की। इस मौके पर कुछ लोगों को मिठाइयां बांटते हुए भी देखा गया।

उन्होंने त्यागी को जल्द ही गिरफ्तार करने की मांग की है। सोसाइटी में रविवार शाम से ही भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात हैं। इस सोसायटी में 1,000 से अधिक परिवार रहते हैं।

बता दें कि, कथित तौर पर खुद को भाजपा नेता बताने वाले श्रीकांत त्यागी का वीडियो वायरल होने के बाद भाजपा ने उससे पल्ला झाड़ लिया था। स्थानीय भाजपा सांसद डॉ. महेश शर्मा ने शनिवार को त्यागी के भाजपा सदस्य होने से इनकार किया था।

उन्होंने कहा था कि आरोपी पर कड़ी कार्रवाई होगी और 48 घंटे के अंदर उसे गिरफ्तार किया जाएगा। इस घटना के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए थे,

जिनमें से एक में त्यागी महिला के खिलाफ कथित तौर पर गंदी-गंदी गालियां देने के साथ अपशब्दों का इस्तेमाल करते और हाथापाई करते दिख रहा है। त्यागी ने महिला के पति के लिए भी कथित तौर पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए अपमानजनक टिप्पणी की थी।