WhatsApp New Features: WhatsApp का ये नया फीच उड़ाएगा हैकर्स के छक्के, ऐसे काम करेगा यह फीचर

अब इन कमियों को दूर करते हुए वॉट्सएप अपने यूजर्स की सेफ्टी (Safety) को और मजबूत करने के लिए एक धांसू फीचर (WhatsApp Features) लेकर आने वाला है.

 | 
whatsapp

Newz Fast, New Delhi इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप वॉट्सएप (WhatsApp) दुनिया में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाने वाले ऐप में से एक है. इस पर यूजर्स की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है.

ऐसे में इसकी पैरेंट कंपनी मेटा (Meta) भी समय-समय पर नए फीचर्स जोड़ती रहती है. हालांकि तमाम फीचर्स के बाद भी यूजर्स की सेफ्टी और सिक्योरिटी को लेकर कई बार इस ऐप पर कमियां सामने आ चुकी हैं.

अब इन कमियों को दूर करते हुए वॉट्सएप अपने यूजर्स की सेफ्टी (Safety) को और मजबूत करने के लिए एक धांसू फीचर (WhatsApp Features) लेकर आने वाला है.

यह फीचर यूजर्स के अकाउंट को हैक होने से बचाएगा. आइए आपको बताते हैं, क्या है यह फीचर और कैसे करेगा काम.

अभी बीटा वर्जन है रिलीज

रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले कुछ समय से वॉट्सएप अकाउंट हैक होने के कई मामले सामने आ रहे थे. इसे देखते हुए कंपनी ने इस पर लगाम लगाने के लिए एक फीचर पर काम शुरू किया.

वॉट्सएप के फीचर को ट्रैक करने वाले WABetaInfo के मुताबिक, टीम ने जिस पर काम किया है उसे लॉगिन अप्रूवल फीचर (Login Approval Feature) नाम दिया गया है.

यह टू स्टेप वेरिफिकेशन (Two Steps Verifications) पर आधारित होगा. अभी इसकी टेस्टिंग जोरों पर चल रही है और बीटा वर्जन 2.22.17.22 को इसलिए रोलआउट भी किया गया है. टेस्टिंग सफल होने के बाद इसे जल्द ही आम यूजर्स के लिए रिलीज कर दिया जाएगा.

ऐसे काम करेगा यह फीचर

WABetaInfo के मुताबिक, लॉगिन (Login) अप्रूवल फीचर आने के बाद यूजर्स को इसे एक्टिव करना होगा. फीचर एक्टिव होने के बाद जब कोई आपके अकाउंट को हैक कर दूसरे डिवाइस में लॉगिन करेगा तब आपको वॉट्सएप पर ही एक इन-ऐप अलर्ट मिलेगा.

जब तक आप उस अलर्ट पर क्लिक करके लॉगिन अप्रूवल नहीं देंगे, तब तक कोई भी दूसरे डिवाइस में आपके अकाउंट से लॉगिन नहीं कर सकेगा.

ये नोटिफिकेशन उसी डिवाइस पर जाएगा जिस पर सबसे पहले से वॉट्सएप लॉगिन (WhatsApp Login) है. इस फीचर की एक और खास बात ये है कि नोटिफिकेशन में वह टाइम बताया जाएगा जब लॉगिन का प्रयास किया गया

साथ ही उस डिवाइस का नाम भी उसमें दर्ज होगा जिसमें लॉगिन की कोशिश की जा रही है. बता दें कि जीमेल (Gmail) पर भी आपको कुछ इसी तरह का फीचर मिलता है.