पत्रकार दिनेश पूनिया (Journalist Dinesh Poonia)

हरियाणा के सिरसा गांव से निकलकर सोशल मीडिया के जरिए लोगों की आवाज बुलंद करने वाले दिनेश पूनिया (Dinesh Poonia) अपनी एक अलग पहचान बनाने को तैयार हैं।

दिनेश पूनिया (Dinesh Poonia) की प्रारंभिक शिक्षा पत्रकारिता में सीडीएलयू से पूरी हुई है।

अब दिनेश पूनिया (Dinesh Poonia) पत्रकारिता के क्षेत्र में विकास कर लोगों की समस्याओं और समस्याओं को उठाकर भविष्य की ओर बढ़ रहे हैं।

dinesh kumar from gudia khera

दिनेश पूनिया (Dinesh Poonia) कहते हैं कि हमारा जीवन तभी सफल होता है जब हम किसी की आवाज बनकर उनकी समस्याओं का समाधान करते हैं।

अगर हम कोई एक काम कर रहे हैं तो हमें उसके लिए खुद को पूरी तरह से समर्पित कर देना चाहिए।

लोगों की सेवा की भावना दिनेश पूनिया (Dinesh Poonia) के मन में तब आई जब वह 12वीं के बाद आगे की पढ़ाई के बारे में सोच रहे थे।

जिसमें उन्होंने आसपास के लोगों को देखा जो अधिकारियों की तानाशाही और ढीली व्यवस्था से तंग आ चुके थे।

दिनेश पूनिया ने सोचा कि इसे हटा देना चाहिए और लोगों की आवाज बनना आज के समय में सबसे बड़ा धर्म है।

लोगों की आवाज बनने से शोहरत के साथ-साथ मन में भी शांति आएगी कि किसी को हमारी वजह से फायदा हुआ है।

Journalist dinesh kumar

Journalist Dinesh Poonia

दिनेश पूनिया (Dinesh Poonia) की प्रारंभिक शिक्षा उनके गांव गुड़िया खेरा में हुई।

अपने परिवार और अपने आसपास के लोगों को देखकर बचपन से ही उनके मन में उनसे कुछ अलग करने का मन था।

जिसके बाद उन्होंने एक ऐसा माध्यम चुना जो लोगों की आवाज बन सके और अपना खुद का प्लेटफॉर्म “द चौपाल”
(Thechopal) बनाया,
जबकि इस समय वह “न्यूज़फास्ट डॉट कॉम” (Newzfast.com) के साथ सह-संस्थापक के रूप में भी काम कर रहे हैं।

दिनेश पूनिया (Dinesh Poonia) धीरे-धीरे अपने बनाए इन माध्यमों से लोगों को जागरूक करने लगे और लोगों की
आवाज बनकर दर्शकों के बीच फैलने लगे।

आज उनकी सामग्री को बहुत से लोग पढ़ते हैं।

वहीं दिनेश पूनिया आसपास के इलाके में एक जाना माना चेहरा बन गए हैं।

दिनेश पूनिया (Dinesh Poonia) हमेशा मेहनत पर विश्वास करते हैं।

उनका मानना ​​है कि जीवन में सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता, उसका एक ही उपाय है, वह है मेहनत।

मेहनत से ही हम अपने सपनों को साकार कर सकते हैं।

Journalist Dinesh Poonia

आज के समय में लोग किस्मत पर विश्वास करते हैं, लेकिन दिनेश को कुछ और ही सोचना पड़ता है।

दिनेश कहते हैं कि इंसान अपनी किस्मत खुद बनाता है।

इसी सोच के चलते आज वह “द चोपल” (Thechopal) और “न्यूज़फ़ास्ट” (Newzfast) का मशहूर चेहरा बन गए हैं।

दिनेश “द चोपल” के संस्थापक के रूप में कार्यरत हैं।

अपनी सफलता के बारे में बात करते हुए, दिनेश पूनिया (Dinesh Poonia) ने कहा कि उनका परिवार चाहता था
कि वह एक सरकारी नौकरी प्राप्त करे और इसकी तैयारी करे।

लेकिन दिनेश पूनिया (Dinesh Poonia) कुछ अलग करना चाहते थे। उनका मानना ​​था कि आप दुनिया के
बाहर कुछ करेंगे तभी लोग जानेंगे और लोगों के दिलों में अपनी जगह बना पाएंगे।

दिनेश पूनिया (Dinesh Poonia) बेसहारा और पीड़ित लोगों की आवाज बनना चाहते थे।

वह बेरोजगारों की समस्या और उनका समाधान लोगों के सामने रखना चाहते थे।

जिससे वह काम करने लगा।

उन्होंने पत्रकारिता में एमए किया और इस युग में प्रचलित परिस्थितियों और प्रवृत्तियों के बारे में पता लगाया।

वह मीडिया इंडस्ट्री के चलन को बदलना चाहते थे और उन्होंने अपना चैनल बनाया।

उनकी यात्रा 2018 में खुद के लिए काम करने के बजाय लोगों के लिए काम करने की मुख्य दृष्टि से शुरू हुई थी।

वह गरीब किसानों और बेरोजगार लोगों के लिए अपनी आवाज उठाना चाहते थे, जिनकी सरकार अनदेखी करती है।

दिनेश पूनिया (Dinesh Poonia) सोचते हैं कि अक्सर गरीब लोगों की आवाज दबा दी जाती है, जिसे उठाने का काम वह करेंगे।

क्योंकि गांव के लोगों के बीच रहने वाले दिनेश पूनिया (Dinesh Poonia) ने उनकी हर समस्या को गहराई से जाना और परखा है।

वह इस माध्यम से उन लोगों की आवाज बनना चाहते हैं।

आज किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाला एक युवक आसपास के इलाके में एक चर्चित चेहरा बनकर उभरा है।

जिन्होंने किस्मत से नहीं बल्कि मेहनत के दम पर लोगों के दिलों में अपनी जगह बनाई है।

वहीं दिनेश अन्य युवाओं को भी प्रेरित कर रहे हैं कि वे जीवन में मेहनत कर आगे बढ़ सकें।

साथ ही आप दिनेश पूनिया (Dinesh Poonia) को ट्विटर पर फॉलो कर सकते हैं – यहां क्लिक करें