home page

किसान की बेटी ने रचा इतिहास, बिना कोचिंग के UPSC एग्जाम को किया क्रैक, बन गई IAS अफसर

 बल्कि अच्छी खासी जुनून और मेहनत होना चाहिए, हर वर्ष इस परीक्षा में लाखों अभ्यर्थी अपना किस्मत आजमाते हैं, मगर उनमें से चुनरी स्टूडेंट ही इस एग्जाम में अपना करिश्मा दिखाते हैं।

 | 
kisan

Newz Fast, New Delhi देश के सबसे कठिन परीक्षा में से एक यूपीएससी (UPSC) यानी सिविल सर्विस एग्जाम को माना जाता है, इस परीक्षा को पास करने के लिए सिर्फ डिग्री ही नहीं

 बल्कि अच्छी खासी जुनून और मेहनत होना चाहिए, हर वर्ष इस परीक्षा में लाखों अभ्यर्थी अपना किस्मत आजमाते हैं, मगर उनमें से चुनरी स्टूडेंट ही इस एग्जाम में अपना करिश्मा दिखाते हैं।

dd

आज आप लोगों को इस एग्जाम से जुड़ी एक ऐसी ही कहानी बताने जा रहे है, जो बिना कोचिंग के इस एग्जाम में क्वालीफाई कर अपने माता-पिता का मान बढ़ाया, कहानी मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर की रहने वाली तपस्या परिहार की है

 जिन्होंने सिविल सर्विस एग्जाम (UPSC) की तैयारी के लिए कोचिंग जॉइन किया, लेकिन जब सफलता नहीं मिली, तब उन्होंने सेल्फ स्टडी पर भरोसा किया और ऑल इंडिया में 23वीं रैंक हासिल कर आईएएस अफसर बनीं।

dd

बता दे की तपस्या परिहार मूल रूप से मध्य प्रदेश (MP) के नरसिंहपुर की रहने वाली है, 12वीं तक की पढ़ाई केंद्रीय विद्यालय से की, 12वीं के बाद तपस्या ने पुणे (PUNE) के इंडियन लॉ सोसाइटी लॉ कॉलेज (LOW COLLEGE) में एडमिशन लिया और यहां से वकालत की पढ़ाई की।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पुणे से लॉ की पढ़ाई पूरी करने के बाद तपस्या परिहार ने यूपीएससी एग्जाम देने का फैसला किया, एग्जाम (EXAM) की तैयारी के लिए तपस्या ने कोचिंग जॉइन (COACHING JOIN) की, लेकिन पहले प्रयास में उन्हें असफलता हाथ लगी और प्री परीक्षा में ही फेल हो गईं।

फिर यूपीएससी एग्जाम (UPSC EXAM,) में पहले प्रयास में असफलता के बाद तपस्या परिहार (Tapasya Parihar) ने कोचिंग छोड़ दी और खुद मेहनत करने का फैसला किया, इसके बाद उन्होंने सेल्फ स्टडी पर फोकस किया, दूसरे प्रयास के लिए जब तपस्या ने पढ़ाई शुरू की तो उनका टारगेट ज्यादा से ज्यादा नोट्स बनाने और आंसर पेपर सॉल्व करने पर था

kisan

बता दे की तपस्या परिहार ने यूपीएससी एग्जाम की तैयारी के लिए रणनीति में बदलाव किया और कड़ी मेहनत की, उन्होंने एग्जाम (EXAM) से पहले रिवीजन पर ध्यान दिया और कई आंसर पेपर सॉल्व कर डाले, इसके बाद तपस्या की मेहनत रंग लाई और उन्होंने सिविल सर्विस एग्जाम 2017 में ऑल इंडिया में 23वीं रैंक प्राप्त कर आईएएस बनने में सफल रहीं