College Education: 12वीं के बाद इस फिल्ड में बनाए करियर, इन टिप्स को करें फॉलो

अक्सर देखा जाता है कि 12वीं करने के बाद करियर के चुनाव में की तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. लेकिन इन बातों का ध्यान रख आप आसानी से करियर का चुनाव कर सकते है. 

 | 
q

Newz Fast,New Delhi आज के समय में एक सही करियर ऑप्शन चुनना बेहद मुश्किल हो गया है.आज के समय में एक सही करियर ऑप्शन चुनना बेहद मुश्किल हो गया है.

 कई स्टूडेंट 12वीं के बाद ये फैसला नहीं ले पाते की उनको आगे किस चीज़ में अपना करियर बनाना है. उस समय ज़रूरी है की वे खुद को अच्छे से परखें. समय निकाल कर खुद पर ध्यान दें की उनको किस चीज़ में ज़्यादा दिलचस्पी है.

छात्र ने जो कोर्स और करियर विकल्पों चुना है उसकी योग्यता, लाभ और कमियां, वेतन और विकास के अवसरों जैसी कई ज़रूरी चीज़ों को अच्छे से समझ लें.

हर छात्र किसी न किसी चीज़ में माहिर होता है. उसी के हिसाब से अपने करियर विकल का चयन करना चाहिए.
एडमिशन लेने से पहले वहां पढ़ने वाले पूर्व छात्रों से वहां की अच्छे से जानकारी बटोर लें. उसी के बाद कोई भी फैसला लें.
 आज के समय में 12वीं के बाद कई ऐसे फील्ड हैं जिसमें करियर बनाया जा सकता है.

 हालांकि एक सही करियर ऑप्शन चुनना बेहद मुश्किल काम है. अकसर 12वीं पास करने के बाद बच्चे इस सोच में पड़ जाते हैं की अब किस फील्ड में करियर बनाना बेहतर रहेगा. ऐसे में एक सही विकल्प न मिलने पर अच्छा करियर बनाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. 

कई बार छात्र गलत सलाह के साथ-साथ माता-पिता के दबाव में आकर भी ऐसा करियर विकल्प चुन लेते हैं जिसमे उनकी कोई रुचि नहीं होती. इसलिए एक अच्छा करियर विकल्प चुनते समय कुछ बातों का ख़ास ख्याल रखना होगा.

छात्रों का सही आकलन उनकी परीक्षा के बाद रिजल्ट आने पर होता है. ज्‍यादातर छात्र अपने करियर विकल्प के रूप वही चुनते हैं जिन सब्जेक्ट में उनके अच्छे मार्क्स आए हों. छात्र को ये पता होना ज़रूरी है की उनकी रुचि किस चीज़ में है. उन्हें कौन सा सब्जेक्ट पढ़ना पसंद है. इससे उन्हें ऐसे करियर आइडिया चुनने में मदद मिलेगी जिनमे वो अपनी स्किल और इंटरेस्ट का भरपूर इस्तेमाल कर सकते हैं. इसी के आधार पर ये फैसला लें की कौन से कोर्स को करने के बाद अच्छा करियर बना पाएंगे.


पसंदीदा सब्‍जेक्‍ट की सूची बनाएं
कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले अपने पसंदीदा सब्‍जेक्‍ट और फील्ड की एक लिस्ट बना लें. इससे छात्रों को करियर विकल्प देखने में मदद मिलेगी. यह लिस्ट उस चीज़ को छात्र के दिमाग से हटाने में मदद करेगी जिसमे उनका बिलकुल भी इंटरेस्ट नहीं है. जिसके आधार पर कम से कम 10-15 करियर विकल्पों को नोट करें जिनको करने में रुचि हो.

सही कोर्स का चुनाव करें
हर छात्र किसी न किसी चीज़ में माहिर होता है. उसी के हिसाब से अपने करियर विकल्प का चयन करना चाहिए. आजकल किसी भी कोर्स को करियर के अनुसार ढाल सकते हैं.

 इसके लिए जरूरी नहीं है कि सिर्फ महंगे कॉलेज में दाखिला लिया जाए. इसके बाद किसी भी अच्छे कॉलेज या यूनिवर्सिटी से डिग्री कोर्स, वीकेंड कोर्स, डिप्लोमा कोर्स, डिस्टेंस लर्निंग कोर्स कर सकते हैं.

 एडमिशन लेने से पहले वहां पढ़ने वाले पूर्व छात्रों से वहां की अच्छे से जानकारी बटोर लें. उसी के बाद कोई भी फैसला लें.

चुने हुए करियर विकल्पों की जांच करें
छात्र ने जो कोर्स और करियर विकल्पों चुना है उसकी योग्यता, लाभ और कमियां, वेतन और विकास के अवसरों जैसी कई ज़रूरी चीज़ों को अच्छे से समझ लें. 

साथ ही उस करियर से जुड़े तजुर्बेदार लोगों से भी इस बारे में अच्छी जानकारी हासिल कर ले. इससे कोर्स के बारे में अच्छी जानकारी मिल पाएगी.