सुबह के समय कितना होना चाहिए ब्लड शुगर लेवल ? इस चार्ट के जरिए समझें

Blood Sugar Fasting: आमतौर पर सुबह के वक्त डायबिटीज मरीजों में ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। जानिए इसके पीछे की वजह...

 | 
blood

Newz Fast, Viral Desk डायबिटीज मरीजों में ब्लड शुगर का बढ़ना एक गंभीर समस्या बनी हुई है। दरअसल शुगर लेवल बढ़ने से कई अन्य बीमारियों के होने का खतरा कई गुना बढ़ जाता है।

जिसमें दृष्टि का कमजोर होना , हार्ट अटैक आना व ब्रेन स्ट्रोक जैसी गंभीर बीमारियों का होना भी शामिल है। बता दें कि ज्यादातर डायबिटीज से पीड़ित मरीजों में सुबह के वक्त शुगर लेवल बढ़ जाता है।

ऐसे में यही सवाल उठता है कि खाली पेट शुगर लेवल कैसे बढ़ जाता है और सुबह के समय शुगर लेवल कितना होना चाहिए। इसके अलावा डायबिटीज मरीजों को शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए अपनी सेहत और डाइट दोनों का अच्छे से ख्याल रखना चाहिए।

हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार सुबह के समय शुगर लेवल का बढ़ना मरीज के लिए हानिकारक भी हो सकता है। आइए जानते हैं सुबह के समय आपका ब्लड शुगर लेवल कितना होना चाहिए।

सुबह के समय कितना होना चाहिए शुगर लेवल ?

हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार सुबह के वक्त यानी कि जब आप सो कर उठते हैं तो उस समय आपका सामान्य ब्लड शुगर लेवल 70 से 100 mg/dl होना चाहिए।

लेकिन अगर आपका शुगर लेवल इस रेंज से ऊपर होता है जैसे कि 100 से 125 mg/dl तक या फिर उससे ज्यादा तो यह आपकी सेहत के लिए काफी हानिकारक साबित हो सकता है।

इसलिए सुबह के वक्त आपका शुगर लेवल सामान्य होना चाहिए। ऐसी स्थिति में अधिकतर लोगों के दिमाग में एक सवाल जरूर उठता कि सुबह के वक्त खाली पेट भी शुगर लेवल क्यों बढ़ जाता है? आइए इस सवाल के जवाब को ठीक से समझते हैं।

दरअसल, डायबिटीज मरीजों में रात को सोते समय हॉर्मोन को कंट्रोल करने के लिए शरीर में अधिक मात्रा में इंसुलिन बनने लगता है। जिस कारण सुबह के वक्त डायबिटीज मरीजों में अक्सर शुगर लेवल बढ़ जाता है।

कैसे करें शुगर लेवल को कंट्रोल

शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए डायबिटीज से पीड़ित मरीजों को ठीक समय पर खाना चाहिए।

रोजाना कम से कम आधे घंटे के लिए टहलें या फिर एक्सरसाइज करें।

तला -भुना खाना खाने से बचें।

शुगर लेवल को नियमित रूप से चेक करते रहें।

शुगर लेवल चार्ट

फास्टिंग – 80-100 mg/dl

खाने के तुरंत बाद – 170-200 mg/dl

खाने के 3 घंटे बाद – 120-140 mg/dl

रात को सोते समय – 100-140 mg/dl