home page

भूख की कमी, सीने में दर्द, मुँह सूखना ये रूमेटाइड अर्थराइटिस के हो सकते हैं शुरूआती लक्षण, बिल्कुल न करें नजरअंदाज

गठिया की बीमारी के लक्षणों की बात करें तो केवल जोड़ों का दर्द ही नहीं इसके शुरूआती लक्षण हैं, वहीं वजन का तेजी से कम होना, शरीर में सूजन आ जाना और बॉडी पेन होना, ये भी इसके शरुआती लक्षण हो सकते हैं। इन लक्षणों को आमतौर पर लोग नजरंअदाज कर देते हैं।
 | 
health

Newz Fast,New Delhi गठिया की बीमारी का ज्यादातर खतरा बढ़ते उम्र के साथ अधिक होता है, वहीं इस बीमारी के दो प्रकार होते हैं अर्थराइटिस और रूमेटाइड अर्थराइटिसइस बीमारी के होने से जोड़ों में बहुत ही ज्यादा दर्द रहता है, वहीं व्यक्ति को चाल-फेर करने में कई सारी समस्यायों का सामना करना पड़ सकता है।

इस बीमारी का मुख्य कारण है हड्डियों की कमजोरी, ये इम्यून सिस्टम को धीरे-धीरे कमजोर कर देती है, जिससे ये सारी समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। ये बीमारी जोड़ों के स्तर के साथ शुरू होती है। ये बीमारी सीधे तौर पर इम्यून सिस्टम को भी प्रभावित करती है, जिससे कि स्वास्थ्य से जुड़ी कई समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं। इसलिए जानिए गठिया की बीमारी होने पर कौन-कौन सी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

बुखार
रूमेटाइड अर्थराइटिस के शुरूआती लक्षणों कि बात करें तो ये एक प्रारंभिक चेतावनी हो सकती है। इसके शुरूआती लक्षणों कि बात करें तो हड्डियों एवं जोड़ों में दर्द के साथ बुखार आना, चाल-फेर में परेशानी होना, ये सारे इसके मुख्य लक्षण हो सकते हैं। इसलिए इस बीमारी के संक्रमण का संकेत अधिक होने कि संभावना बनी रहती है।

पैरों का सुन्न होना और सिरहन का बने रहना
अक्सर लोग पैर सुन्न हो जाने के आम लक्षणों को आम समझ के अनदेखा कर देते हैं, पैरों का सुन्न हो जाने को कार्पल टनल सिंड्रोम के नाम से भी जाना जाता है, इससे पैरों में जकड़न के साथ में दर्द भी बहुत ही ज्यादा बढ़ जाता है। वहीं ये लक्षण यदि ज्यादा बढ़ जाता है तो कई प्रकार कि समस्यायों को भी बढ़ा सकता है। इसलिए इन लक्षणों को आपको अनदेखा नहीं करना चहिये और डॉक्टर से तुरंत संपर्क भी करना चहिये .

जोड़ों में मामूली सूजन का होना
जोड़ों में सूजन की समस्या आम बात है, लेकिन इसका मुख्य कारण रूमेटाइड अर्थराइटिस भी हो सकता है, इसके होने पर जोड़ों में दर्द बना रहता है, इसलिए यदि सूजन की समस्या से आप परेशान हैं तो इसे बिल्कुल भी अनदेखा न करें, वरना ये रूमेटाइड अर्थराइटिस का मुख्य कारण हो सकता है।