Sleeping While Sitting: अगर आप भी बैठकर सोते हैं तो Alert हो जाएं, वरना हो सकता है नुकसान

शायद आपको पता नहीं होगा कि बैठकर सोने के कुछ नुकसान भी है।  क्या ऐसा करना मौत का कारण भी बन सकता है? आइए इस बारे में विस्तार से जानते हैं।

 | 
sleeping

Newz Fast, New Delhi सोना हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद है। क्योंकि, नींद के दौरान आपका शरीर व मसल्स खुद को रिपेयर करती हैं और थकावट से राहत भी मिलती है।

लेकिन सोने का तरीका सभी का अलग-अलग होता है। कुछ लोग पेट के बल सोते हैं, तो कुछ लोग कमर के बल सोना पसंद करते हैं। ऐसे ही कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो बैठे-बैठे सो जाते हैं।

शायद आपको पता नहीं होगा कि बैठकर सोने के कुछ नुकसान भी है।  क्या ऐसा करना मौत का कारण भी बन सकता है? आइए इस बारे में विस्तार से जानते हैं।

बैठकर सोने के नुकसान

1. पीठ दर्द
अगर आपको भी है बैठे बैठे सोने की आदत तो आप भी हो सकते है पीठ दर्द कि समस्या से परेशान। बैठकर सोने से आपके स्पाइनल कॉलम का आकार बिगड़ जाता है।

जिसकी वजह से पीठ दर्द की शिकायत हो सकती है,और साथ ही साथ ये पीठ में सूजन का कारण भी बन सकता है।

2. ब्लड सर्कुलेशन में कमी
बहुत देर तक एक ही पोजिशन में बैठकर सोने की वजह से आपके खून की नली में ब्लाकेज की समस्या हो सकती है।

इसके साथ ही झुनझुनाहट की भी परेशानी मुमकिन है पैरो में खून का थक्का भी जम सकता है जिसके वजह से चलने में तकलीफ हो सकती है।

3. जोड़ों में अकड़न
बैठे-बैठे सोने की वजह से आपके जोड़ों में अकड़न की समस्या भी उत्पन्न हो सकती है। इतना ही नही बैठकर सोने की वजह से पैरों की नसों मे खिंचाव आ सकता है।

इसके साथ ही बहुत देर तक एक ही पोजिशन में बैठने के कारण शरीर का मूवमेंट नहीं हो पाता है जो अकड़न की वजह बन जाता है।

बैठकर सोने के फायदे
सोना हमारे स्वास्थ के लिए बहुत जरूरी है, समान्यतया बैठकर सोना नुकसानदायक होता है लेकिन कभी कभी ये हमारे लिए लाभदायक भी साबित होता है।

1. प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए है अरामदायक
प्रेग्नेंसी में महिलाओं को की तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसमें सबसे प्रमुख है सोने का सही पोजिशन  ऐसे में वह हमेशा सही तरीके की खोज में रहती हैं। बैठकर सोना उनके लिए काफी आरामदायक साबित हो सकता है।

2. पेट की समस्याएं होती है दूर
आपको बता दें कि बैठकर सोने से कई तरह की गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल संबंधी दिक्कतें दूर हो सकती है।

अगर हम अच्छी तरीके से नहीं सोते है तो हमे कब्ज,गैस, जैसी समस्या हो सकती है। ऐसे में बैठकर सोना एक कारगर साबित हो सकता है, यह पेट की समस्या दूर कर गैस कब्ज से निजात दिला सकता है।

3. स्लीप एपनिया से मुक्ति
बहुत से लोगों को सोते वक्त सांस लेने में तकलीफ होती है। लेकिन, जब वह बैठकर सोते हैं तो इससे उनकी मांसपेशियों खुली रहती है

जिससे उन्हें सोने में सांस लेने की तकलीफ दूर हो जाती है। इस कारण बैठकर सोने से ऑब्स्ट्रक्टिव स्लीप एपनिया दूर हो जाती है।

क्या लंबे समय तक बैठकर सोने से हो सकती है मौत?
वैसे तो कभी-कभी बैठकर सोने के बहुत बड़े नुकसान के कोई सबूत नहीं मिले हैं, लेकिन, ज्यादा लंबे वक्त तक बैठकर सोने से खून का थक्का पैरों में जम सकता है।

इस पर ठीक से न ध्यान देने पर बाद में पैरों में सूजन, पैरों में दर्द की समस्या आदि की समस्या हो सकती है। लंबे वक्त तक यह परेशानी रहने से व्यक्ति की मौत भी हो सकती है।