home page

Monsoon skin care: मानसून में इन टिप्स से त्वचा रहेगी मुलायम, बता रही ब्यूटी एक्सपर्ट सिमरन अरोड़ा...

Monsoon skin care आपको बता दें कि बारिश के मौसम में कई तरह की बामारी बढ़ जाती है. देखा जाए तो हमारी त्वचा भी खुरदरी हो जाती है.
 | 
a

Newz Fast, New Delhi   मानसूनी दिनों में त्वचा संबंधी कोई समस्या न हो साथ ही त्वचा कांतिवान बनी रहे। इसके लिए बस कुछ बातों का ध्यान रखना है। आपको बता रही हैं कुछ खास टिप्स सौंदर्य विशेषज्ञ सिमरन अरोड़ा...

देश के कुछ हिस्सों में मानसून आ चुका है। शेष जगहों में जल्द ही मानसून का आगमन होने वाला है। मानसून के दिन एक ओर जहां हमें गर्मी से राहत दिलाते हैं, वहीं त्वचा संबंधी समस्याओं के पैदा होने का कारण भी बनते हैं।

इसलिए इन दिनों त्वचा की थोड़ी अतिरिक्त देखभाल की जरूरत पड़ती है। बता रही हैं कुछ खास टिप्स सौंदर्य विशेषज्ञ सिमरन अरोड़ा...

 बता दें कि मानसूनी दिनों में त्वचा अधिक तैलीय हो जाती है। इसलिए इन दिनों चेहरे को दिन में कम से कम तीन-चार बार अवश्य धुलें। इससे त्वचा की साफ-सफाई अच्छी तरह होगी।

त्वचा चिपचिपी नहीं होगी साथ ही त्वचा में निखार आएगा। त्वचा को साफ करने के लिए क्लेंजिंग, टोनिंग और माइश्चराइजिंग वाला फार्मूला अपनाएं।

इससे त्वचा में जमी धूल-गंदगी भी अच्छी तरह साफ हो जाती है। टोनर का इस्तेमाल करने से त्वचा के रोमछिद्र सही अवस्था में आ जाते हैं।

भले ही मानसून के दिन आने वाले हैं, लेकिन सूर्य की हानिकारक अल्ट्रावायलेट किरणें त्वचा के लिए नुकसानदेह साबित होती हैं। इसलिए सनस्क्रीन क्रीम या लोशन का इस्तेमाल अवश्य करें। इससे त्वचा को पोषण मिलेगा साथ ही उसमें निखार आएगा।
मानसूनी दिनों में चेहरे की त्वचा को पोषण देने के लिए जरूरी है कि सप्ताह में एक बार मुल्तानी मिट्टी का मास्क लगाएं। इससे त्वचा में मौजूद अतिरिक्त तेल निकल जाता है।

 ध्यान रहें कि हाथों और पैरों की देखभाल के लिए सप्ताह में एक बार मैनीक्योर और पैडीक्योर जरूर करवाएं। इससे त्वचा की अच्छी तरह सफाई होने के साथ ही उसे पोषण भी मिलता है।

 अक्सर देखा जाता है कि मानसूनी दिनों में अक्सर होंठ फटने की समस्या भी सामने आती है। होंठों को फटने से बचाने के लिए अच्छी क्वालिटी की मिल्क क्रीम लगाएं।

इसके साथ ही होंठों पर नारियल का तेल भी लगा सकती हैं। इन दिनों गहरे रंग की लिपस्टिक का प्रयोग करने की बजाय हल्के रंग की लिपस्टिक का प्रयोग करना बेहतर रहता है।

मानसूनी दिनों में गर्मी के दिनों की ही भांति कम से कम मेकअप करना अच्छा रहता है। इसके साथ ही इस बात का ध्यान रखें कि वाटरप्रूफ मेकअप सामग्री का ही इस्तेमाल करना सही रहता है। हल्का मेकअप करने से त्वचा में किसी प्रकार का कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है।
बारिश के दिनों में जहां तक संभव हो त्वचा की ब्लीचिंग करने से बचना चाहिए।

मानसून के दिनों में बाहर से लौटने पर हाथों और पैरों की अच्छी तरह से सफाई करनी चाहिए। इसके बाद इन पर अच्छी क्वालिटी की हैंड और फुट क्रीम या लोशन का प्रयोग करना लाभदायक होता है।

यदि बारिश के पानी में बाल भीग गए हैं तो बेहतर रहेगा कि घर आने पर इन्हें भी धुल लें। इससे बालों में जमा गंदगी निकल जाएगी और उनमें निखार आएगा।

 यह ध्यान रहें कि मानसूनी दिनों में भी पानी का पर्याप्त मात्रा में सेवन करें। कारण, त्वचा अंदर से हाइड्रेट रहेगी तो उसमें प्राकृतिक निखार आएगा। इससे बाल भी स्वस्थ रहते हैं साथ ही आपकी सेहत भी सही रहती है।

खास बात यह है कि बारिश के दिनों में मौसमी फलों और मौसमी सब्जियों का सेवन करना त्वचा के लिए बहुत लाभदायक होता है। कारण, इनमें विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद होते हैं।

मौसमी फलों और सब्जियों के सेवन से त्वचा में निखार आता है। हालांकि मानसूनी दिनों में इस बात का विशेष ध्यान रखें कि फलों और सब्जियों को अच्छी तरह से साफ करके ही प्रयोग करें।