home page

Covid Vaccination: कोरोना वैक्सीन के कारण भारत में बची 42 लाख लोगों की जान, Lancet की स्टडी में दावा

आपको बता दें कि देश में कोरेना वायरस से बचने क् लिए कई तरह के तरीके अपनाए गए. टीकाकरण से लेकर मास्क लगाना, दो गज की दूरी तमाम कोशिश की गई कि इस बीमारी से बचा जा सके.
 | 
t

Newz Fast, New Delhi लेकिन बता दें कि कोरोना वैक्सिन न देश में 42 लाख लोगों की जान बचाई है. देश में कोरोना टीकाकरण अभियान अभी भी जारी है।

एक स्टडी में दावा किया गया है कि कोविड वैक्सीन की वजह से विश्वभर में दो करोड़ लोगों की जान बची जबकि भारत में 42 लाख लोगों की जान बची।

यह बात सच है कि  कोरोना महामारी (Covid 19) के कारण दुनियाभर में करोड़ों लोगों की जान चली गई। भारत में भी कोरोना के कारण लाखों लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना संक्रमण से बचाव के कई देशों में टीकाकरण अभियान (Covid Vaccination) शुरू किया गया। इसी वैक्सीन की बदौलत करोड़ों लोगों की जान भी बची है।
भारत में बची 42 लाख लोगों की जान

आपको बता दें कि द लैंसेट इंफेक्शियस डिजीज जर्नल में प्रकाशित एक रिपोर्ट में दावा किया है कि भारत में ही साल 2021 में वैक्सीन के कारण 42 लाख लोगों की जान बची।

साथ ही विश्व भर में वैक्सीन के कारण दो करोड़ लोगों की जान बचाई जा सकी। 185 देशों से अधिक मौतों पर आधारित अनुमानों से इसका पता चला है। ये आंकड़ें दिसंबर 2020 से दिसंबर 2021 तक लिए गए हैं।

बचाई जा सकती थी करीब 6 लाख जान

 बताया जा रहा है कि स्टडी में कहा गया कि अगर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के टारगेट को 2021 तक पूरा कर लिया जाता तो 5,99,300 लोगों की जान बचाई जा सकती थी।

डब्ल्यूएचओ ने 2021 के अंत तक प्रत्येक देश में 40 प्रतिशत आबादी को दो या दो से अधिक खुराक का टीकाकरण करने का लक्ष्य दिया था।