home page

DJ के चक्कर में रह गया कुंवारा, बिना दुल्हन लौटी बारात; जानिए पूरा मामला

Haryana: DJ के चक्कर में रह गया कुंवारा, बिना दुल्हन लौटी बारात; जानिए पूरा मामला

 | 
wedding without dulha dulhan

Newz Fast, Haryana  हरियाणा के महेन्द्रगढ़ जिले में एक दुल्हन के 7 फेरे सिर्फ इसलिए रूक गए, क्योंकि शराबियों ने देर रात तक डीजे बजाने की जिद की और इसी जिद के चक्कर में दोनों पक्ष आपस में भिड़ गए।

बात इतनी बढ़ गई कि बगैर दुल्हन बरात को लौटना पड़ा। हालांकि वधु पक्ष की तरफ से अपनी रिश्तेदारी में आनन-फानन में बेटी का रिश्ता तय किया गया और उसका विवाह कराकर उसे घर से विदा किया गया। बात थाने तक भी पहुंच गई थी, जिसे पंचायती तौर पर निपटा दिया गया।

बता दें कि महेन्द्रगढ़ शहर के पंचमुखी हनुमान मंदिर के पास रहने वाले सुरेश कुमार की दो बेटियों की शादी गुरुवार को होनी थी। एक बेटी की शादी दिन में खुशी-खुशी हो गई, जबकि दूसरी बेटी की बरात देर रात झज्जर जिले के गांव बापड़ोदा से आई, लेकिन इस बरात को बगैर दुल्हन वापस लौटना पड़ा।

लड़की वालों ने बताया कि झज्जर जिले से आई बरात पहले ही काफी देरी से साढ़े 11 बजे पहुंची। फिर 12 बजे तक धर्मशाला में ही बराती और दूल्हा डटा रहा। किसी तरह डीजे पर नाचते-गाते बरात आगे बढ़ी तो पुलिस ने आकर नियमानुसार रात को डीजे बजाने पर लगी पाबंदी का हवाला देकर डीजे बंद करा दिया।

रात में अरेंज किए ढोल, हो गया झगड़ा

लड़की के मामा ने बताया कि दूल्हा पक्ष के कहने पर डीजे बंद होते ही उन्होंने रात में ही ढोल अरेंज किए, लेकिन उनके साथ भी शराब के नशे में धुत बरातियों ने झगड़ा कर दिया, जिसके चलते वह भी लौट गए।

रात करीब 2 बजे किसी तरह बरात घर तक पहुंची, लेकिन यहां भी शराबियों की वजह से हंगामा खड़ा हो गया। बात इतनी बढ़ गई कि आपस में मार पिटाई हो गई और फिर लड़की ने शादी करने से इनकार कर दिया। वर पक्ष की तरफ से आरोप लगाया गया कि लड़की ने परिजनों के दबाव में शादी से इनकार किया। सुबह तक मान-मनोव्वल होती रही, लेकिन बात नहीं बनी।

थाना पहुंचने के बाद हुआ पंचायती फैसला

बरात लौट गई, लेकिन दूल्हा पक्ष के कुछ लोग शुक्रवार सुबह महेन्द्रगढ़ शहर थाना में पहुंच गए। बाद में पंचायती तौर पर आपस में फैसला हुआ, जिस पर दोनों पक्ष राजी हो गए और फिर दूल्हा और बरात बगैर दुल्हन के ही लौट गई।

हाथों हाथ दूसरी जगह पीले किए बेटी के हाथ
 
इधर झज्जर की बरात लौटने के बाद शादी में आए हुए रिश्तेदारों व परिजनों के बीच काफी देर तक चर्चा हुई। बाद में किसी रिश्तेदारी में रोहतक जिले में बेटी की शादी तय की गई।

साथ ही वर पक्ष को शुक्रवार को ही शादी करने के लिए मनाया। बात बनते ही शुक्रवार देर शाम रोहतक से बरात आई तथा बेटी की शादी संपन्न हुई।