home page

Sirsa News Hindi : भाई के हत्यारों को नहीं पकड़ पाई पुलिस, अब बहन रक्षा बंधन पर सिरसा पुलिस को भेजेगी चुड़ियां

Newz Fast, Sirsa Sirsa News Hindi रक्षाबंधन का त्यौहार भाई-बहन के लिए खास होता है। लेकिन इस बार यह त्यौहार हरियाणा की सिरसा पुलिस को शर्मिंदा कर सकता है। दरअसल एक बहन जिसके भाई की हत्या के केस को पुलिस नहीं सुलझा पा रही है। जिसके विरोध को दिखाने के...
 | 
Sirsa News Hindi : भाई के हत्यारों को नहीं पकड़ पाई पुलिस, अब बहन रक्षा बंधन पर सिरसा पुलिस को भेजेगी चुड़ियां

Newz Fast, Sirsa

Sirsa News Hindi

रक्षाबंधन का त्यौहार भाई-बहन के लिए खास होता है। लेकिन इस बार यह त्यौहार हरियाणा की सिरसा पुलिस को शर्मिंदा कर सकता है। दरअसल एक बहन जिसके भाई की हत्या के केस को पुलिस नहीं सुलझा पा रही है।

जिसके विरोध को दिखाने के लिए यह बहन खुद पुलिस कप्तान डॉ. अर्पित जैन के पास जाएगी और कहेगी कि अगर आप मेरे भाई की हत्या की गुत्थी सुलझा नहीं सकते, तो लीजिए चूड़ियां पहन लीजिए।  Sirsa News Hindi

ये मामला सिरसा के कालांवाली का है। दरअसल कालांवाली के वार्ड नंबर-3 में अंकुर हत्याकांड को लेकर अभी तक 7 माह बीत चुके हैं, लेकिन पुलिस के हाथ खाली हैं।

Sirsa News Hindi : भाई के हत्यारों को नहीं पकड़ पाई पुलिस, अब बहन रक्षा बंधन पर सिरसा पुलिस को भेजेगी चुड़ियां

इसको लेकर अंकुर प्रजापति की छोटी बहन प्रियंका ने हत्यारों को न पकड़ने के विरोध में रक्षाबंधन पर सिरसा पुलिस कप्तान डॉ. अर्पित जैन एवं कालांवाली थाने के प्रभारी राजाराम को चूड़ियां भेजने की बात कही। Sirsa News Hindi

उनका कहना है कि जो पुलिस उसके भाई के हत्यारों को नहीं पकड़ सकती, ऐसी पुलिस को चूड़ियां ही पहन लेनी चाहिए। अब उनके परिवार की उम्मीद पुलिस से उठती जा रही है।

उन्होंने बताया कि उस समय कालांवाली के डीएसपी आईपीएस नितीश कुमार अग्रवाल जब भी उनसे मिलते थे तो एक ही बात कहते थे कि यह केस उनके लिए महत्वपूर्ण है। इस केस को वह सुलझाकर ही रहेंगे। Sirsa News Hindi

Sirsa News Hindi : भाई के हत्यारों को नहीं पकड़ पाई पुलिस, अब बहन रक्षा बंधन पर सिरसा पुलिस को भेजेगी चुड़ियां

कहीं ना कहीं उनका तबादला हो जाना इस केस के लिए एक बड़ी बात है। वहीं नए डीएसपी एवं पुलिस कप्तान का इस केस पर जरा सा भी ध्यान नहीं है। बता दें कि, बीती 18 जनवरी को कालांवाली के वार्ड नंबर-3 में महावीर प्रजापति के घर आए अज्ञात लुटेरे पहुंचे थे। Sirsa News Hindi

घर में लोगों को बंधक बनाकर लूटपाट का विरोध करने पर अंकुर प्रजापति को अज्ञात लुटेरे गोली मारकर फरार हुए थे। जिसके बाद 22 जनवरी को जिंदगी और मौत से जंग लड़ते हुए अंकुर प्रजापति ने अस्पताल में दम तोड़ दिया था।