home page

देवर भाभी पर रखता था गलत नजर, कहासुनी के बाद मार दी मां-बेटे को गोली

Newz Fast, Rewari अनुज की पीठ में गोली लगने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना के समय पीड़िता अपने बेटे के साथ दीपावली की तैयारियों में लगी हुई थी। पुलिस ने बताया कि संतोष के पति की लगभग 6 साल पहले मौत हो गई थी।
 | 
rewari murder case

Rewari Today News

Rewari News

रेवाड़ी जिले में दीपावली के त्योहार पर अपराधियों ने ताबड़तोड़ वारदातों को अंजाम दिया। शनिवार रात को शहर के घंटेश्वर मंदिर पर बदमाशों ने एक ऑटो चालक की चाकूओं गोदकर हत्या कर दी।

रोहड़ाई थाना क्षेत्र के गांव हांसावास में गुरुवार की शाम को करीब साढ़े 5 बजे हुई इस वारदात में असम राइफल्स से रिटायर्ड विक्रमसिंह ने उसी परिसर में रहने वाली अपने छोटे भाई की 43 पत्नी वर्षीय संतोष,उसके 16 वर्षीय बेटे शिवम और सबसे छोटे भाई अजय के 11 साल के बेटे अनुज पर गोली चला दी। आरोपी ने तीनों पर गोली चला दी। जिसमें संतोष और उसके बेटे शिवम की मौके पर ही मौत हो गई।

अनुज की पीठ में गोली लगने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना के समय पीड़िता अपने बेटे के साथ दीपावली की तैयारियों में लगी हुई थी। पुलिस ने बताया कि संतोष के पति की लगभग 6 साल पहले मौत हो गई थी

rewari today news

शिकायतकर्ता में मृतका के देवर और आरोपी के छोटे भाई अजय ने बताया कि गुरुवार की शाम को उसका सबसे बड़ा भाई विक्रमसिंह शराब के नशे में झगड़ा कर रहा था। वह समझाने के लिए गए थे जिसके उन्हें लगा कि त्योहार का दिन है कुछ समय बाद मान जाएगा। इसके बाद भी कहासुनी जारी रही और आरोपी ने अपनी बेटी से लाइसेंसी रिवाल्वर मंगाकर तीनों को सीधे ही गोली मार दी।

आरोप है कि विक्रमसिंह संतोष पर गलत नजर रखता था, जिसको लेकर झगड़ा हुआ था। दोहरे हत्याकांड की सूचना मिलते ही पुलिस में भी हड़कंप मच गया और घटना के पश्चात कोसली डीएसपी मुकेश कुमार के साथ रोहड़ाई थाना प्रभारी रतनलाल सहित अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने दोनों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल भेजा और शुक्रवार को मां-बेटे के शवों का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। उधर अनुज का गुड़गांव के अस्पताल में दाखिल कराया गया है। फिलहाल बच्चे की हालत खतरे से बाहर बताई गई है।