home page

इन किसानों को लौटानी होगी 2000 रुपये की 10वीं क़िस्त, नही तो…

Newz Fast, New Delhi  रिपोर्ट में बताया गया है कि इन 7 लाख से ज्यादा किसानों को शीघ्र ही योजना का पैसा वापस करना पड़ सकता है। ऐसे किसानों के पास केवल राज्य विधानसभा चुनाव खत्म होने तक का ही समय है।
 | 
kissanyojna

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए साल 2022 के पहले दिन पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों के बैंक खातों में 10वीं किस्त ट्रांसफर की थी। जिसके तहत किसानों के खाते में एक जनवरी को 2-2 हजार रुपए आए थे। लेकिन एक रिपोर्ट की मानें तो कुछ किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की किस्त के रूप में आए दो हजार रुपए वापस लौटाने पड़ेंगे।

इसके पीछे वजह अपात्र किसानों के खातों में योजना की रकम पहुंचनी बताई गई है। ऐसे किसानों की संख्या करीब सात लाख बताई गई है।

अपात्र किसानों को लौटानी होगी रकम

 रिपोर्ट में ये किसान उत्तर प्रदेश के बताए गए हैं। इस हिसाब से उत्तर प्रदेश के लगभग सात लाख किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की दसवीं किस्त के रूप में मिले पैसे को लौटाना पड़ सकता है।

रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि ऐसे किसान या तो अन्य स्रोतों से कमाई के लिए इनकम टैक्स भुगतान कर रहे हैंं। ऐसे किसान पीएम किसान योजना के तहत पात्रता की योग्यता में खरे नहीं उतरते। आपको बता दें कि योजना में शर्त दी गई है कि लाभार्थी किसान के खाते में सालाना 6000 रुपये यानी 2000-2000 की तीन किस्तों में जारी की जाएगी। जबकि अगर अपात्र लोगों के खातों में पैसा आता है तो उनको यह रकम लौटानी होगी।

जारी होंगे नोटिस 

 रिपोर्ट में बताया गया है कि इन 7 लाख से ज्यादा किसानों को शीघ्र ही योजना का पैसा वापस करना पड़ सकता है। ऐसे किसानों के पास केवल राज्य विधानसभा चुनाव खत्म होने तक का ही समय है। रिपोर्ट के अनुसार अगर अपात्र किसान विधानसभा चुनाव खत्म होने के बाद योजना की रकम वापस नहीं करते तो उनको सरकारी की ओर से वसूली के लिए नोटिस भी जारी हो सकते हैं।