home page

E-SHRAM Card: क्या किसान भी कर सकते हैं ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण ? जानिए कुछ जरूरी प्वांइट्स

Newz Fast, New Delhi E-SHRAM Card: केंद्र सरकार पिछले साल अगस्त माह में असंठित क्षेत्र के कामगारों के लिए ई-श्रम (E-SHRAM Portal) पोर्टल लेकर आई। सरकार की ओर से दावा किया गया कि इससे असंगठित क्षेत्र के करीब 38 करोड़ कामगारों को फायदा होगा। अब तक 20 करोड़ लोग ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं।
 | 
E Sharm Card Apply

इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने वाले कामगार को एक ई-श्रम कार्ड (e-SHRAM Card) जारी किया जाता है, जिसकी मदद से रजिस्टर्ड कामगार देश में कहीं भी, कभी भी विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का लाभ ले सकते हैं। इसके अलावा फ्री दुर्घटना बीमा की मदद भी है। आइए जानते हैं ई-श्रम कार्ड और ई-श्रम से जुड़े कुछ अननोन फैक्ट्स...

​क्या किसान करा सकते हैं रजिस्ट्रेशन?

ई-श्रम कार्ड केवल असंठित क्षेत्र के कामगारों के लिए है। लिहाजा ईपीएफओ या ईएसआईसी के मेंबर, ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन नहीं कर पाएंगे।

कोई भी कामगार जो गृह-आधारित कामगार, सेल्फ इंप्लॉइड कामगार या असंगठित क्षेत्र में कार्यरत वेतन भोगी कामगार है और ईएसआईसी या ईपीएफओ का सदस्य नहीं है, उसे असंगठित कामगार कहा जाता है।

असंगठित क्षेत्र के कामगारों में निर्माण मजदूरों के अलावा प्रवासी श्रमिक, रेहड़ी-पटरी वाले और घरेलू कामगार आदि शामिल हैं। असंगठित क्षेत्र में ऐसे प्रतिष्ठान/इकाइयां शामिल हैं जो वस्तुओं/सेवाओं के उत्पादन/बिक्री में लगी हुई हैं और 10 से कम कामगारों को नियोजित करती हैं।

ये इकाइयां ईएसआईसी और ईपीएफओ के अंतर्गत कवर नहीं हैं। कृषि श्रमिक और भूमिहीन किसान ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करने के लिए पात्र हैं। दूसरे किसान पात्र नहीं हैं।

​रजिस्ट्रेशन के लिए क्या आय का कोई मानदंड है?

ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के लिए आय का कोई मानदंड नहीं हैं लेकिन कामगार को आयकरदाता (TaxPayer) नहीं होना चाहिए। अगर कामगार ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के बाद असंगठित क्षेत्र से संगठित क्षेत्र में आ जाता है तो उसे केवल वही फायदे मिलेंगे, जो संगठित क्षेत्र के कामगारों के लिए लागू हैं। अभी वर्कर्स के लिए जन्मतिथि या आय का कोई प्रमाण देना जरूरी नहीं है।

​कैसे होगा रजिस्ट्रेशन?

ई-श्रम पोर्टल पर 16 से 59 साल का कोई भी शख्स रजिस्ट्रेशन करवा सकता है। रजिस्ट्रेशन ई-श्रम पोर्टल https://eshram.gov.in/ के जरिए कामगार या तो खुद कर सकता है या फिर कॉमन सर्विस सेंटर (Common Service Center) पर जाकर करा सकता है। निकटतम सीएससी का पता https://findmycsc.nic.in/csc/ के जरिए लगा सकते हैं।

​क्या ​रजिस्ट्रेशन का लगेगा पैसा

रजिस्ट्रेशन पूरी तरह से नि:शुल्क है। कामगारों को पोर्टल या कॉमन सर्विस सेंटर पर रजिस्ट्रेशन के लिए कोई भुगतान नहीं करना पड़ेगा। रजिस्ट्रेशन के बाद वर्कर के खाते से कोई पैसा नहीं कटेगा।

वर्कर्स की बैंक डिटेल्स सोशल सिक्योरिटी स्कीम के तहत फायदों या केन्द्र/राज्य सरकार की ओर से मिलने वाले फायदों की वर्कर के खाते में परेशानी रहित डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए ली जाती हैं।

​रजिस्ट्रेशन के वक्त पेशे का करना होगा चुनाव

रजिस्ट्रेशन करते वक्त वर्कर को अपने पेशे का चुनाव करना होगा। यह 2 लेवल सिलेक्शन पर बेस्ड होगा। पहले लेवल पर वर्कर को सेक्टर का चुनाव करना होगा जैसे कृषि, ऑटोमोबाइल्स, कंस्ट्रक्शन आदि।

दूसरे लेवल पर वर्कर को पेशे के तौर पर उस गतिविधि को चुनना होगा, जिसे वह वर्तमान में कर रहा है। जो गतिविधि वर्कर की अधिकांश आय का सोर्स है, वह प्राइमरी गतिविधि/पेशा होगी। दूसरी कोई गतिविधि जो माइनर होते हुए भी आय का महत्वपूर्ण सोर्स है, सेकंडरी पेशा होगी।

​किन दस्तावेजों की पड़ेगी जरूरत

पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के लिए वर्कर्स को नाम, पेशा, पता, शैक्षणिक योग्यता, स्किल जैसी जानकारियां दर्ज करनी होंगी। रजिस्ट्रेशन के लिए आधार नंबर डालते ही वहां के डाटा बेस से कामगार की सभी जानकारियां अपने आप पोर्टल पर सामने दिख जाएंगी।

व्यक्ति को बाकी की जरूरी जानकारियां भरनी होंगी। कामगार द्वारा ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेज आवश्यक हैं-

  • आधार संख्या
  • आधार से लिंक मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता

यदि किसी कामगार के पास आधार से लिंक मोबाइल नंबर नहीं है, तो वह निकटतम सीएससी पर जा सकता है और बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के माध्यम से रजिस्ट्रेशन कर सकता है। वर्कर को सीएससी पर कोई भी दस्तावेज जमा करने की जरूरत नहीं है।

​कार्ड में रहेगा 12 अंकों का यूनिवर्सल अकाउंट नंबर

ई-श्रम कार्ड (e-SHRAM Card) में 12 अंकों का यूनिवर्सल अकाउंट नंबर यानी यूएएन (UAN) रहेगा। ये कार्ड पूरे देश में हर जगह वैध रहेगा। यूएएन नंबर एक स्थायी नंबर होगा अर्थात एक बार प्रदान किए जाने के बाद, यह कामगार के लिए अपरिवर्तित रहेगा।

ई-श्रम कार्ड जीवन भर के लिए मान्य (Valid) है। लिहाजा इसके रिन्युअल (Card Renewal) की कोई आवश्यकता नहीं है।

​क्या-क्या अपडेट कर सकते हैं कामगार

कामगार नियमित रूप से अपना विवरण, मोबाइल नंबर, वर्तमान पता आदि अपडेट कर सकते हैं। अपने खाते को सक्रिय रखने के लिए, वर्ष में कम से कम एक बार अपना खाता अपडेट करना आवश्यक है। ई-श्रम पोर्टल पर जाकर या सीएससी के माध्यम से कामगार अपना विवरण अपडेट कर सकते हैं।

अपडेट की जा सकने वाली डिटेल्स में मोबाइल नंबर, वर्तमान पता, व्यवसाय, शैक्षिक योग्यता, कौशल के प्रकार, पारिवारिक विवरण आदि शामिल हैं। आधार वाली फोटो ही ई-श्रम पोर्टल पर दिखेगी। फोटो अपडेट करने का फीचर अभी उपलब्ध नहीं है।

​कितने लाख का ​फ्री बीमा मिलेगा?

ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्टर्ड वर्कर्स प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत एनरोल होंगे। इसके तहत रजिस्टर्ड श्रमिक को 2 लाख रुपये तक का दुर्घटना बीमा कवर (Accidental Insurance Cover) दिया जाएगा।

पोर्टल पर रजिस्टर्ड श्रमिक यदि दुर्घटना का शिकार होता है तो मृत्यु या फिर पूर्ण विकलांगता की स्थिति में 2 लाख रुपये की धनराशि दी जाएगी। वहीं, अगर श्रमिक आंशिक रूप से विकलांग होता है तो इस बीमा योजना के तहत वह एक लाख रुपये का हकदार होगा।

​कौन भरेगा बीमा का प्रीमियम

बीमा का पहले साल का प्रीमियम, भारत सरकार का श्रम मंत्रालय (Ministry of Labour and Employment) भरेगा। दूसरे साल से वर्कर्स को 12 रुपये सालाना के प्रीमियम पर 2 लाख रुपये का एक्सीडेंटल डेथ/परमानेंट डिसएबिलिटी कवर और 1 लाख रुपये का पार्शियल डिसएबिलिटी कवर मिलेगा। दूसरे साल से प्रीमियम का भुगतान उसी वर्कर को करना होगा, जो बीमा को जारी रखना चाहते हैं।

​कामगार की मृत्यु होने पर क्या प्रॉसेस करनी होगी फॉलो

रजिस्टर्ड कामगार की मृत्यु होने की स्थिति में कामगार द्वारा नॉमिनी बनाए गए व्यक्ति या परिवार के सदस्य को संबंधित दस्तावेजों के साथ ई-श्रम पोर्टल/सीएससी पर दावा दायर करना होगा।

वे अपने संबंधित बैंकों से भी संपर्क कर सकते हैं। 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद कामगार को कोई कार्रवाई करने की आवश्यकता नहीं है। ईश्रम परियोजना के तहत उन्हें उनका आधिकारिक लाभ प्राप्त रहेगा।

​अगर करनी हो कोई शिकायत

ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने के इच्छुक श्रमिकों की सहायता के लिए सरकार ने एक राष्ट्रीय टोल फ्री नंबर 14434 भी शुरू किया है। अगर कोई कामगार इस हेल्प डेस्क नंबर पर संपर्क करने में असमर्थ होता है तो फिर वह CSC (Common Service Center) द्वारा उपलब्ध कराए गए 10 अंकों के नंबर पर संपर्क कर सकता है।

किसी प्रकार की शिकायत या पूछताछ के लिए नेशनल हेल्पडेस्क नंबर पर कॉल कर सकते हैं या फिर gms.eshram.gov.in पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं।