Dress code in Temple : यूपी के इस मंदिर में जाने के लिए पहनना होगा धोती-गमछा, लागू हुआ ड्रेस कोड

Newz Fast
4 Min Read
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Newz Fast, New Delhi, Dress code in Temple : अगर आप भी उत्तर प्रदेश के प्रयागराज संगम पर स्थित बड़े हनुमान मंदिर के दर्शन करने के लिए जाने वाले हैं तो आपके लिए जरुरी है कि आप इस मंदिर के नियमों के बारे में अच्छे से जान लें। इस मंदिर में जाने के लिए आपको धोती और गमछा पहनना पड़ेगा।

प्रयागराज के संगम पर लेटे हुए हनुमान जी का सबसे मशहूर मंदिर है। इस मंदिर के दर्शन के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं। अपनी लेटे हुए मुद्रा और प्रयागराज संगम पर होने के कारण यह मंदिर हमेशा देश के प्रमुख धार्मिक पर्यटनों के केंद्र में रहता है।

Also read : 4000 करोड़ की लागत से यूपी में पशुपालन और डेयरी की बदलेगी तस्वीर, सरकार ने बनाया प्लान

अब मंदिर प्रशासन की ओर से सुबह की आरती में शामिल होने वाले श्रद्धालुओं के लिए ड्रेस कोड लागू कर देने से ये मंदिर चर्चा में आ गया है।

अगर आप भी प्रयागराज संगम पर स्थित बड़े हनुमान मंदिर में दर्शन करने जाते हैं और सुबह की आरती में शामिल होना चाहते हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि यहां पर नया ड्रेस कोड (Dress code in Temple) लागू हो गया है। अब आप मॉडर्न ड्रेस पहन कर बड़े हनुमान मंदिर में सुबह की आरती में शामिल नहीं हो सकेंगे।

इन कपड़ों में प्रवेश है वर्जित

मंदिर में लागू किए गए नियमों के अनुसार आपने कोई ऐसा कपड़ा पहना है जिसमें आपके अंग दिख रहे हों या फिर मॉर्डन कपड़े (Dress code in Temple) पहने हुए हैं तो आपको मंदिर में एंट्री नहीं मिलेगी। आपको सुबह की आरती में शामिल होने से रोक दिया जाएगा। मंदिर में आरती विशेष परिधान को धारण करके ही होगी।

ऐसा है नया ड्रेस कोड

इस नियम को आधार बनाकर एक और नियम लागू किया गया है जिसके अनुसार अगर आपको आरती में शामिल होना है तो आपको धोती पहननी पड़ेगी। साथ ही भक्तों को सिर पर गमछा भी रखना अनिवार्य कर दिया गया है।

Also read : 4000 करोड़ की लागत से यूपी में पशुपालन और डेयरी की बदलेगी तस्वीर, सरकार ने बनाया प्लान

आरती के लिए हैं ये नियम

मंदिर के मुख्य पुजारी और आचार्य बलबीर गिरी ने कहा है सनातन धर्म में पूजा और विधि विधान को लेकर जो बातें कही गई हैं उन्हे मानना सभी के लिए जरुरी है।

इससे भक्ति भाव में मन बना रहता है। उन्होंने कहा कि सुबह से लेकर शाम तक ड्रेस कोड को तो लागू नहीं किया जा सकता। लेकिन आरती में ये नियम लागू रहेगा।

इन मंदिरों में है ड्रेस कोड

देश के कई ऐसे मंदिर हैं जहां पर भक्तों के लिए ड्रेस कोड लागू किया गया हुआ है। लेकिन प्रयागराज में भी ऐसे प्रमुख मंदिर है जहां पर दर्शन के लिए विशेष कपड़े पहनने पड़ते हैं।

इसमें प्रमुख है मनकामेश्वर मंदिर। जहां महिलाएं साड़ी सलवार सूट पहन कर ही भगवान शिव का दर्शन कर सकती हैं। महिलाओं को जींस शर्ट टॉप या अन्य मॉडर्न कपड़े पहनकर मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाता है।

Also read : 4000 करोड़ की लागत से यूपी में पशुपालन और डेयरी की बदलेगी तस्वीर, सरकार ने बनाया प्लान

इसके अलावा चौक में स्थित जैन मंदिर में भी भारतीय परंपरागत ड्रेस को ही पहनकर प्रवेश देता है। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रवींद्र पुरी जी महाराज फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि सादे कपड़ों में विचार ठीक रहते हैं और मन का भटकाव नहीं होता है।

Share This Article