home page

Mumbai Red Light Area : पहले महिलाओं को दिया जाता था नशा, फिर होता था गलत काम, NCB ने किया बड़ा खुलासा

Newz Fast, Mumbai Mumbai Red Light Area : मुंबई नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने एक ऐसे चौकाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है जो न सिर्फ महिलाओं से ड्रग्स की तस्करी करवाता था, बल्कि देह व्यापार भी करवाता था। इस मामले में एनसीबी ने एक महिला ड्रग्स पेडलर और गिरोह...
 | 
Mumbai Red Light Area : पहले महिलाओं को दिया जाता था नशा, फिर होता था गलत काम, NCB ने किया बड़ा खुलासा

Newz Fast, Mumbai

Mumbai Red Light Area : मुंबई नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने एक ऐसे चौकाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है जो न सिर्फ महिलाओं से ड्रग्स की तस्करी करवाता था, बल्कि देह व्यापार भी करवाता था।

इस मामले में एनसीबी ने एक महिला ड्रग्स पेडलर और गिरोह चलाने वाले एक सदस्य को गिरफ्तार किया है। इस गिरोह के मास्टरमाइंड की तलाश एनसीबी कर रही है, जो फिलहाल फरार बताया जा रहा है।

Mumbai Red Light Area : पहले महिलाओं को दिया जाता था नशा, फिर होता था गलत काम, NCB ने किया बड़ा खुलासा

दरअसल, एनसीबी को अपने गोपनीय सूत्रों से यह जानकारी मिली थी कि अंधेरी ईस्ट के मरोल इलाके के एक थ्री स्टार होटल से ड्रग्स का कार्टेल चलाया जा रहा है।

Faridabad Today News : लॉटरी की आड़ में चल रहा था देह व्यापार, पुलिस ने 44 लोगों को किया गिरफ्तार

इस जानकारी के मिलते ही एनसीबी ने होटल पर छापा मारा और वहां से एक महिला ड्रग्स पेडलर को गिरफ्तार करते हुए बड़ी मात्रा में एमडी ड्रग्स को बरामद किया।

Mumbai Red Light Area : पहले महिलाओं को दिया जाता था नशा, फिर होता था गलत काम, NCB ने किया बड़ा खुलासा

गिरफ्तार महिला की निशानदेही पर एनसीबी ने एक और छापेमारी करते हुए रोहन पांडे नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया। आरोपी से पूछताछ में ये सामने आया है कि उसका गिरोह पहले महिलाओं को ड्रग्स की लत लगवाता है और जब उन्हें इसकी बुरी लत लग जाती है तो उनसे ड्रग्स की तस्करी करने के साथ-साथ देह व्यापार भी करवाता है।

Mumbai Red Light Area : पहले महिलाओं को दिया जाता था नशा, फिर होता था गलत काम, NCB ने किया बड़ा खुलासा

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक प्रॉस्टिट्यूशन और ड्रग्स तस्करी का ये कार्टेल मुंबई से कर्नाटक से बीच चलाया जा रहा था। इस गिरोह में करीब 22 से 25 महिलाएं काम करती हैं। इस गिरोह का मास्टरमाइंड जीतू फरार है, जिसकी तलाश में एनसीबी जुटी हुई है।

Raj Kundra Film : अगर राज कुंद्रा पाए गए दोषी, तो इतने साल हो सकती है सजा ?

मुंबई एनसीबी के जॉइंट डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने बताया कि ऐसा पहली बार हुआ है, जब कोई गिरोह इस तरह से अपना रैकेट होटल से चला रहा था। दो आरोपियों को इस छापेमारी में गिरफ्तार किया गया है। जिस होटल से ये ड्रग्स कार्टेल चलाया जा रहा था, उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है। (Mumbai Red Light Area)