home page

खाकी हुई दागदार, दो अफसर और दो कांस्टेबल सस्पेंड, जानिये है मामला

Newz Fast, Panipat पानीपत में हरियाणा पुलिस का चौंका देने वाला कारनामा सामने आया है। पुलिस कप्तान शशांक सावन ने ड्यूटी के प्रति लापरवाही व घायल को अस्पताल नहीं ले जाने के आरोप में दो सब इंस्पेक्टरों, दो कांस्टेबलों को पद से निलंबित कर दिया है।
 | 
Haryana Police

एक अधिकारी के खिलाफ थाना समालखा में केस भी दर्ज करवाया है। मामले में स्पेशल पुलिस ऑफिसर (एसपीओ) की छुट्टी कर दी गई है। एसपी शशांक ने दोनों सब इंस्पेक्टरों व कांस्टेबलों की विभागीय जांच के आदेश भी दिए हैं। विभागीय जांच की रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

समालखा की मातापुली स्थित बाग वाला मोहल्ला में घी व्यापारी राजकुमार को लुटेरों ने गोली मार कर उनकी नकदी लूट ली थी। घटना की जानकारी डायल 112 को दी गई थी। डायल 112 मौके पर पहुंची, पर इसमें तैनात सब इंस्पेक्टर कर्मबीर, कांस्टेबल सोमबीर व एसपीओ रामबीर ने घायल राजकुमार को अपने वाहन से ले जाने से कथित रूप से यह कहते हुए इन्कार कर दिया कि कार अंदर से खून से सन जाएगी।

वहीं, परिजन जैसे-तैसे राजकुमार को ऑटो रिक्शा से अस्पताल ले गए, जहां उसकी मौत हो गई। इधर, घायल राजकुमार को पुलिस स्टाफ द्वारा अस्पताल नहीं ले जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया था। मामले को एसपी शशांक ने गंभीरता से लिया।

प्राथमिक जांच में तीनों दोषी पाए गए। एसपी सावन ने एसआई कर्मबीर, कांस्टेबल सोमबीर को जहां पद से निलंबित किया, वहीं, दोनों की कार्यप्रणाली की विभागीय जांच के आदेश दिए। जांच रिपोर्ट पर आरोपित पुलिस अधिकारी व कर्मचारी पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

यही नहीं, समालखा के पास चार जनवरी की रात को दिल्ली निवासी सुरेंद्र वाधवा व इनके चालक मुकेश के साथ लूट हुई थी। लूट की शिकायत डायल 112 पर की गई। जल्द ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और सुरेंद्र व मुकेश से पूछताछ की। वहीं, डायल 112 में नियुक्त सब इंस्पेक्टर हरिदत्त जहां शराब के नशे में था।

वहीं उसने अपने सहयोगी कांस्टेबल मुकेश के साथ मिलकर सुरेंद्र वाधवा की कार के चालक मुकेश के साथ मारपीट की और अशब्द कहे। सुरेंद्र ने इस मामले की शिकायत डायल 112 पंचकूला मुख्यालय को दी। वहां से शिकायत को रिकॉर्ड कर पानीपत पुलिस मुख्यालय भेजा गया।

इधर, एसपी शशांक सावन ने इस मामले को गंभीरता से लिया और जांच में दोषी पाए जाने वाले सब इंस्पेक्टर हरिदत्त को जहां पद से निलंबित किया, वहीं उसके खिलाफ थाना समालखा में केस दर्ज करवाया।

इस मामले में एसपी सावन ने कांस्टेबल बिजेंद्र को भी पद से निलंबित करते हुए दोनों के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए है। विभागीय जांच रिपोर्ट के आधार पर एसपी शशांक इस मामले में आरोपित पुलिस अधिकारी व कर्मचारी पर आगे की कार्रवाई करेंगे।