home page

कम उम्र में प्रसिद्धि हासिल करने वाली डॉ. बरखा ने की आत्महत्या, पंखे से लटका मिला शव

बिहार के शेखपुरा में सोमवार को आखों की डॉक्टर ने अपने घर पर पंखे से फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली।

 | 
suicide
Newz Fast,New Delhi बिहार (Bihar) के शेखपुरा (Sheikhpura) में सोमवार को आखों की डॉक्टर ने अपने घर पर पंखे से फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या (Sucide) की वजह से पति—पत्नी के बीच आपसी विवाद बताया जा रहा है। हालांकि, अभी सुसाइड की वजह साफ नहीं हो सकी है। मृतका के पति भी डॉक्टर है और दोनों ने लव मैरिज की थी। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

जानकारी के मुताबिक, शेखपुरा निवासी बरखा सोलंकी का शव कमरे के अंदर पंखे से लटका मिला है। डॉक्टर बरखा सोलंकी (Dr. Barkha Solanki) (लगभग 32 साल) के दो बेटियां है। उनकी मौत की सूचना पर आस—पास के लोग भी गमगीन है। साथ ही परिजनों को सांत्वना देने पहुंच रहे है। जखराज स्थित निभा नर्सिंग होम के पास ही डॉ. बरखा सोलंकी अपना क्लीनिक चलाती थी। इनके पति भी डॉक्टर है। साथ ही ये शेखपुरा के सदर अस्पताल में भी तैनात थी। बरखा सोलंकी ने नेत्र रोग विशेषज्ञ के तौर पर कम उम्र में ही काफी प्रसिद्धि हासिल की। मोतियाबिंद का शिविर लगाकर बड़े स्तर पर फ्री में मोतियाबिंद के सैकड़ों मरीजों का फ्री में ऑपरेशन और उपचार कर चुकी थी।

बता दें कि, डॉ बरखा सोलंकी के पिता डॉ. एमपी सिंह भी शहर के जाने—माने प्रसिद्ध डॉक्टर, समाजसेवी और रिटायर्ड सिविल सर्जन है। मुफ्त मोतियाबिंद के ऑपरेशन की वजह से डॉ. बरखा सोलंकी की प्रसिद्धि दूर-दूर तक थी। जिसकी वजह से बड़ी संख्या में उनके घर लोग पहुंच रहे है। उधर, पुलिस ने बताया कि मामले की एफआईआर दर्ज कर ली गई है। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।