Newz Fast
BIG BREAKING राजनीति राष्ट्रीय खबर स्वास्थ्य

कोरोना महामारी के लिए चीन और डब्ल्यूएचओ जिम्मेदार : आईपीपीपीआर रिपोर्ट

NewzFast

कोरोना महामारी ने भारत को ही नहीं, बल्कि पूरे संसार सकते में डाल रखा है। मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना, नियमित रूप से सैनिटाइजर से हाथ धोना, आवश्यक काम होने पर ही घर से बाहर जाना, ये सभी जिंदगी के हिस्से बन चुके हैं। अब तो इसकी वैक्सीन भी आ चुकी है लेकिन हमे अभी सावधानी रखने की जरूरत है। ऐसे में इंडिपेंडेंट पैनल फॉर पैन्डेमिक प्रिपेयर्डनेस एंड रिस्पॉन्स ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अगर चीन चाहता तो कोरोना वायरस को महामारी बनने से रोक सकता था, मगर उसने समय रहते काबू नहीं किया। रिपोर्ट तैयार करने में शामिल जांचदल ने इसके लिए डब्ल्यूएचओ को भी जिम्मेदार बताया है। वैश्विक महामारी की जांच करने वाले इस स्वतंत्र दल ने निष्कर्ष निकाला है कि जब चीन में पहला मामला सामने आया था तब डब्ल्यूएचओ और बीजिंग तेजी से काम कर सकते थे मगर ऐसा नहीं किया, और इस लापरवाही की बजह से दुनिया परेशान है।

China and WHO responsible for Corona epidemic: IPPPR report
जांचदल ने अपनी दूसरी रिपोर्ट में कहा है कि महामारी के प्रारंभिक चरण के क्रोनॉलोजी का मूल्यांकन इस बात की ओर इशारा करता है कि शुरूआती संकेतों के साथ अधिक तेजी से काम करने की आवश्यकता थी।
अपनी रिपोर्ट में दल ने बताया है कि सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायो को जनवरी महीने में ही चीन ने स्थानीय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा अधिक बलपूर्वक लागू किया जा सकता था। इस दल ने डब्ल्यूएचओ की आलोचना करते हुए कहा है कि डब्ल्यूएचओ की स्वास्थ्य एजेंसी ने 22 जनवरी 2020 तक अपनी इमरजेंसी समीति को भी इस महामारी की सूचना नहीं दी।

China and WHO responsible for Corona epidemic: IPPPR report

रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि अब तक यह स्पष्ट नहीं है कि समिति जनवरी के तीसरे सप्ताह तक क्यों नहीं मिली और राष्ट्रीय इमरजेंसी पर सहमत क्यों नहीं हो पाई। जब से वायरस का संकट संसार में छाया है तभी से सतर्कता में ढ़ीलापन को लेकर डब्ल्यूएचओ की निरंतर आलोचना हो रही है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने डब्ल्यूएचओ को इस पर खूब लताड़ भी लगाई और चीन की कठपुतली तक कह दिया, और डब्ल्यूएचओ को दी जाने वाली आर्थिक मदद भी बंद कर दी। गौरतलब है कि विशेषज्ञो के इस जांचदल में न्यूजीलैंड के प्रधानमंत्री हेलेन क्लार्क और पूर्व लाइबेरियाई राष्ट्रपति एलेन जॉनसन सरलेफ़ भी शामिल हैं। अभी मई में इसकी आखिरी और फाइनल रिपोर्ट आएगी।

China and WHO responsible for Corona epidemic: IPPPR report

 

Related posts

Motivation: किन्नर अक्षरा का पुलिस में हुआ चयन, समाज से इस प्रकार लड़ी लड़ाई, जानिए पूरी कहानी

Newz Fast

शादी के मंडप में दुल्हे के लड़खड़ाए पैर, तो दुल्हन और परिवार ने कर दिया ये हाल

Newz Fast

किसान नेता राकेश टिकैत की फेसबुक पर लगी, पोर्न स्टार की फोटो, जानिए कैसे?

Newz Fast

1 comment

रामपाल सिंह January 19, 2021 at 9:35 am

बहुत बढ़िया है

Reply

Leave a Comment

Join Our Group