home page

Weather Alert: चंडीगढ़ समेत पंजाब और हरियाणा में फिर बढ़ेगा गर्मी का प्रकोप, IMD ने जारी किया अलर्ट

इन दिनों लोगों को गर्मी की मार दोहरी मार झेलनी पड़ रही है। शहर में सुबह और रात के समय उमस और चिपचिपाती गर्मी लाेगों को बेहाल कर रही है तो वहीं दोपहर के समय में लू के थपेड़े परेशान कर रहे हैं।

 | 
garmi

Newz Fast, New Delhi पिछले कछ दिनों से शहर का तापमान 40 डिग्री से नीचे रह रहा था लेकिन शुक्रवार को तापमान 41 डिग्री रिकार्ड किया गया। पंजाब और हरियाणा के अधिकतर शहरों में तापमान 42 डिग्री के पार पहुंचा हुआ है।

केवल पंचकूला में तापमान 39.6 डिग्री दर्ज किया गया। पंजाब के बठिंडा का सबसे ज्यादा 45.4 डिग्री तापमान और हरियाणा के सिरसा में अधिकतम तापमान 48.8 डिग्री दर्ज किया गया जोकि अभी का रिकार्ड तापमान है।

इन दिनों लोगों को गर्मी की मार दोहरी मार झेलनी पड़ रही है। शहर में सुबह और रात के समय उमस और चिपचिपाती गर्मी लाेगों को बेहाल कर रही है तो वहीं दोपहर के समय में लू के थपेड़े परेशान कर रहे हैं।

अगर बात बीते दो दिनों की करें तो दोपहर के समय तापमान 42 डिग्री के आसपास रिकार्ड किया गया है।

16 मई को एक्टिव हो रहा वेस्टर्न डिस्टरबेंस

विभाग के अनुसार 16 मई को वेस्टर्न हिमालयन रेंज में वेस्टर्न डिस्टरबेंस एक्टिव हो रहा है। इस वजह से अगले 72 घंटे में मौसम में मिजाज में बदलाव होगा और कुछ स्थानों पर हल्की बूंदाबांदी होगी।

अगले तीन दिनों तक अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री की गिरावट देखने को मिलेगी और 96 घंटे के बाद गर्मी का प्रकोप फिर से बढ़ेगा।

इस बार जल्द आएगा मानसून

वहीं, इस साल मानसून समय से पहले ही दस्तक दे सकता है। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने इस बार समय से चार दिन पहले ही मानसून की दस्तक की भविष्यवाणी की है। इसके बाद चंडीगढ़ मौसम विभाग केंद्र ने जून के अंतिम सप्ताह में मानसून के शहर पहुंचने के आसार जताए हैं।

इस साल समय से चार दिन पहले 26 मई को मानसून के केरल पहुंचने की भी संभावना है। इसके बाद मानसून आगे बढ़ेगा। चंडीगढ़ मौसम विभाग केंद्र के निदेशक डा. मनमोहन सिंह ने बताया कि चंडीगढ़ में मानसून की स्थिती पिछले कुछ वर्षों के मुकाबले अच्छी रहने वाली है। शहर में बारिश भी सामान्य से अधिक हो सकती है।

पिछले पांच साल में इस समय आसा मानसून और इतनी हुई बारिश

साल तारीख बारिश (एमएम)

2017 12 जुलाई 752.8 एमएम

2018 28 जून 993.3 एमएम

2019 05 जुलाई 716.4 एमएम

2020 24 और 26 जून 791.1 एमएम

2021 23 जून 600.2 एमएम