home page

Gyanvapi Survey LIVE: ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में सर्वे का काम पूरा, कुछ देर में बाहर निलेगी टीम

ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे के दौरान मिला 7-8 फीट का ढेर, हिंदू पक्ष का दावा- दीवार पर कुछ आकृतियां दिखाई दीं
 | 
ज्ञानवापी मस्जिद

Gyanvapi Survey LIVE: ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में सर्वे का काम पूरा, कुछ देर में बाहर निलेगी टीम

Newz Fast , Gyanvapi Masjid: हिंदू पक्ष के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, गुंबद की तरफ सर्वे के दौरान एक दीवार पर हिंदू परंपरा के आकार दिखे, जिसे सफेद चुने से रंग आ गया है.

Gyanvapi Masjid Survey: वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे का आज दूसरा दिन है. कड़ी सुरक्षा के बीच मस्जिद में सर्वे किया जा रहा है. सर्वे की शुरुआत 8 बजे हुई. मस्जिद के अंदर सर्वे करने गई टीम को 7-8 फीट का ढेर मिला, जो सफेद पेंट से ढका हुआ है. जानकारी के मुताबिक, मलबे को हटाया जाएगा और उसके बाद जांच होगी.  

वहीं, हिंदू पक्ष के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, गुंबद की तरफ सर्वे के दौरान एक दीवार पर हिंदू परंपरा के आकार दिखे, जिसे सफेद चुने से रंग आ गया है. सर्वे की टीम ने इसकी वीडियोग्राफी की और प्रतीक चिन्ह का भी जिक्र किया.

बता दें कि आज मस्जिद की छत और गुंबद की वीडियोग्राफी हो सकती है. ये सर्वे सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे तक किया जाएगा. सर्वे का 50 फीसदी काम पूरा हो चुका है. रिपोर्ट 17 मई को अदालत के सामने पेश की जाएगी.

इससे पहले सर्वे के पहले दिन ज्ञानवापी मस्जिद में कोर्ट के आदेश पर 5 तहखानों की वीडियोग्राफी की गई. सर्वे में दोनों पक्षों ने सहयोग किया. सर्वे के बाद हिंदू पक्ष ने दावा करते हुए कहा कि सभी साक्ष्य हमारे पक्ष में हैं. तहखानों में मूर्तियों के भग्नावशेष मिले हैं.

हिंदू पक्ष ने कहा कि तहखाने में शरारती तत्वों ने मिट्टी भर दी थी उसे साफ किया गया. लिंगायत समाज में काशी में लिंग दान का प्रचलन है, तहखाने में उस परम्परा के टूटे लिंग मिले हैं.

'सभी के लिए दर्शन की व्यवस्था की गई'

आज हो रहे सर्वे पर वाराणसी के  डीसीपी आरएस गौतम ने कहा है कि काशी विश्वनाथ दर्शन करने वालों के लिए एक गेट छोड़कर सभी गेट खोले गए हैं, सिर्फ एक गेट से सर्वे टीम को एंट्री दी गई है.

उन्होंने कहा कि आज सभी के लिए दर्शन की व्यवस्था की गई है.  दर्शनार्थियों को कोई समस्या ना हो इसके लिए सारे मार्ग खोले गए हैं और उनमें पर्याप्त ड्यूटी भी लगाई गई है. अभी एक गेट से कमीशन के सदस्य को एंट्री दी जा रही है और बाकि से श्रद्धालु दर्शन कर रहे हैं.