home page

कपड़ों के भी कान होते हैं:वैज्ञानिकों ने बनाया स्मार्ट फैब्रिक, ये साउंड डिटेक्ट करने में माहिर, शांति से शोर तक सब समझता है

किसी दिन हमारे कपड़े भी छिपकर बातें सुनेंगे। दरअसल, मेसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) के वैज्ञानिक वी यान ने एक नए तरह का फैब्रिक डिजाइन किया है, जो माइक और स्पीकर की तरह काम करता है।
 | 
smart kpda sune ga saei bate

Newz Fast, New Delhi ये मुंह से निकले शब्द, पक्षियों की चहचहाहट और उड़ते पत्तों की आवाजों को आसानी से पकड़ लेता है।नेचर जर्नल में प्रकाशित इस रिसर्च के अनुसार, आवाज सुनने वाले ये फाइबर्स एक कपड़े में बुने गए हैं।

जब कोई इंसान इस कपड़े को पहनता है, तब ये फाइबर्स साउंड डिटेक्ट करते हैं। ये कपड़ा पहने हुए व्यक्ति के दिल की धड़कन को भी सुन सकता है।

कपड़ा कैसे काम करता है?

जब कोई इंसान इस कपड़े को पहनता है, तब ये फाइबर्स साउंड डिटेक्ट करते हैं।रिसर्चर यान कहते हैं कि कपड़ों और आवाजों का कनेक्शन सदियों से है।

अब तक हम कपड़े की मदद से अपनी आवाज को मोडिफाई करने की कोशिश करते रहे हैं, लेकिन कपड़े को माइक की जगह इस्तेमाल करना एक अनोखा कॉन्सेप्ट है। यान अब सिंगापुर के नानयांग टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी में काम करते हैं।

यान के मुताबिक, ये कपड़ा ट्वारन नाम के मटेरियल और कॉटन से बनाया गया है।

इन धागों का कॉम्बिनेशन साउंड एनर्जी को वाइब्रेशंस में बदल देता है। इसके साथ ही कपड़े में एक स्पेशल फाइबर का भी इस्तेमाल हुआ है। ये पीजोइलेक्ट्रिक मटेरियल्स से बना है।

ऐसे मटेरियल को दबाने या मरोड़ने पर वोल्टेज प्रड्यूस होता है। इसके बाद ये सिग्नल्स एक डिवाइस के जरिए रिकॉर्ड कर पढ़े जाते हैं।फैब्रिक शांति और शोर में फर्क समझता है

रिसर्च के मुताबिक, यह कपड़ा एक शांत लाइब्रेरी और ट्रैफिक के शोर के बीच का अंतर समझ जाता है।

माइक की तरह काम करने वाला यह फैब्रिक कई रेंज और लेवल के साउंड को पकड़ने में सक्षम है। रिसर्च के मुताबिक, यह एक शांत लाइब्रेरी और ट्रैफिक के शोर के बीच का अंतर समझ जाता है।

फिलहाल रिसर्चर्स एक ऐसे कम्प्युटर डिवाइस को विकसित कर रहे हैं, जो बैकग्राउंड में हो रहे शोर को भी आसानी से पकड़ सके।रिसर्च में शर्ट के साथ किया एक्सपेरिमेंट

कपड़े से बनी हुई शर्ट आसानी से किसी व्यक्ति का हार्ट रेट मॉनिटर कर सकती है।

रिसर्च में शामिल वैज्ञानिक योगेन्द्र मिश्रा ने बताया कि अपने कॉन्सेप्ट को प्रूफ करने के लिए उन्होंने शर्ट का सहारा लिया। वैज्ञानिकों ने स्पेशल फाइबर्स को शर्ट में बुनकर इंसान के दिल की धड़कन सुनी।

मिश्रा का कहना है कि ये शर्ट आसानी से किसी व्यक्ति का हार्ट रेट मॉनिटर कर सकती है। केवल इतना ही नहीं, इस शर्ट के जरिए हार्ट के वाल्व बंद होने की आवाज भी सुनी जा सकती है।

पहनने पर बिलकुल नॉर्मल कपड़े जैसा

रिसर्च में पाया गया कि 10 बार धोने के बाद भी फैब्रिक ने पहले की तरह ही आवाजों को पकड़ा।यान कहते हैं कि स्पेशल फाइबर्स को कपड़े में बुनकर पहनने पर एकदम नॉर्मल फैब्रिक का फील आता है।

रिसर्च में पाया गया कि 10 बार धोने के बाद भी फैब्रिक ने पहले की तरह ही आवाजों को पकड़ा। यानी, ये कपड़ा कंफर्टेबल होने के साथ ही जल्दी ट्रेंडी भी बन सकता है।