home page

काली हिरण के शिकारियों ने मचाया तांडव, तीन पुलिसकर्मियों को गोलियों से भूना...पढ़िए दिल दहला देने वाली खबर

मध्यप्रदेश के गुना में पुलिस और काले हिरण के शिकारियों के बीच मुठभेड़ में तीन पुलिसकर्मियों के शहीद होने का मामला सामने आया है। मृतकों में एसआई राजकुमार जाटव, आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम शामिल हैं। आरोपियों की तलाश जारी है।
 | 
encounter

मध्यप्रदेश के गुना में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां पुलिस और काले हिरण के शिकारियों के बीच भीषण मुठभेड़ हुई, जिसमें तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। वारदात शुक्रवार देर रात की है। मृतकों में सब इंस्पेक्टर राजकुमार जाटव, आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम शामिल हैं।

encounter1

बताया जा रहा है कि बदमाश काले हिरण को मारकर ले जा रहे थे। घटना को लेकर मुख्यमंत्री आवास पर सुबह 9.30 बजे बैठक की जाएगी। गुना में हुई ये घटना सागा बरखेड़ा गांव की है। बताया जा रहा है कि ये गांव आरोन पुलिस स्टेशन में आता है। पुलिस खुफिया जानकारी के बाद आरोपियों को पकड़ने गई थी। 

encounter

सूचना मिली थी कि कुछ शिकारी हिरणों का शिकार करने गए हैं। इन्हें पकड़ने के लिए पुलिस मौके पर गई थी। तभी शिकारियों के गैंग ने इन पर हमला कर दिया। इसी हमले में तीन पुलिसकर्मी शहीद हो गए हैं। घटनास्थल से बरामद तस्वीरें काफी भयावह है। यहां का दृश्य एनकाउंटर जैसा दिख रहा है। 

घटनास्थल को देखकर ऐसा लग रहा है कि पुलिसकर्मियों को नजदीक से गोली मारी गई है। घटनास्थल से हिरणों के 4 सिरए दो हिरणें जिनके सिर नहीं हैं और एक मोर पक्षी का शव बरामद हुआ है। जिले के वरिष्ठ पुलिसकर्मी घटनास्थल पहुंच गए हैं। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस बाबत बयान दिया है। 

उन्होंने कहा है कि गुना के पास अपराधियों की गोलीबारी में पुलिस के तीन जांबाज अफसर और कर्मचारी शहीद हुए हैं। अपराधियों को छोड़ा नहीं जाएगा और सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान स्वयं इसकी मॉनीटरिंग कर रहे हैं। इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाईलेवल इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है। 

बताया जा रहा है कि ये बैठक मुख्यमंत्री निवास में सुबह 9.30 बजे होगी। बैठक में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा, मुख्य सचिव, डीजीपी, एडीजी समेत बड़े पुलिस अधिकारी मौजूद रहेंगे।