home page

ऑटोमोबाइल सेक्टर में आया जबरदस्त उछाल, इस प्रदेश में दर्ज की गई 17.17 प्रतिशत की Growth

 | 
growth in the automobile sector in chhattisgarh

कोरोना की लगातार संभलती परिस्थितियों के बीच छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में ऑटोमोबाइल सेक्टर (automobile sector) में अच्छा उछाल आया है। बीते वर्ष की तुलना में इस वर्ष दिवाली के दौरान प्रदेश में वाहनों के पंजीयन  (registration of vehicles) में 17.17 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। कृषि क्षेत्र में उपयोग किए जाने वाले ट्रेक्टर, हार्वेस्टर, व्यवसायिक ट्रेक्टर (Tractor, Harvester, Commercial Tractor) की खरीदी बढ़ी है। इसके साथ ही व्यक्तिगत उपयोग के वाहनों मोटर साइकिल, माल वाहक वाहनों की खरीदी में भी अच्छा खासा इजाफा हुआ है।

5 दिन में बिके 13 हजार 706 वाहन
छत्तीसगढ़ परिवहन विभाग (Chhattisgarh Transport Department) से मिली जानकारी के अनुसार इस वर्ष 2021 में दीपावली के दौरान 2 से 6 नवंबर के बीच 13 हजार 706 वाहनों की खरीदी हुई, जबकि वर्ष 2020 में दीपावली के दौरान 12 से 16 नवम्बर के दौरान 11 हजार 697 वाहनों की खरीदी हुई थी। दीपावली के दौरान पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष खरीदे गए वाहनों के पंजीयन में 17.17 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

 
बीते वर्ष के मुकाबले इस साल ऑटो सेक्टर में आया बूम
1..वर्ष 2021 में 11 हजार 313 मोटर साइकिल और स्कूटरों, 153 मोपेड की खरीदी हुई है। वर्ष 2020 में दीपावली के दौरान 9 हजार 223 मोटर साइकिल और स्कूटरों, 31 मोपेड वाहनों की खरीदी हुई थी। 

2..वर्ष 2021 में निजी उपयोग के लिए 13 ओमनी बस, 11 मैक्सी कैब, 10 मोटर कैब, 19 ई-रिक्शा, 05 ई-रिक्शा विथ कार्ड की खरीदी हुई। पिछले वर्ष 2020 में 07 ओमनी बस, 01 मैक्सी कैब, 8 मोटर कैब, 13 ई-रिक्शा और 29 ई-रिक्शा विथ कार्ड की खरीदी की गई थी। 

3..इस वर्ष 2021 में 1370 कार, 140 गुडस् कैरियर वाहन, 23 एक्सेवेटर की खरीदी की गई है। वर्ष 2021 में 9 हार्वेस्टरों और 18 कमर्शियल ट्रेक्टरों की खरीदी हुई है। बीते वर्ष मात्र 01 हार्वेस्टर और 7 कमर्शियल ट्रेक्टरों की खरीदी हुई थी। 

4.. प्रदेश में इस वर्ष 2021 में दीपावली के दौरान 607 कृषि कार्य में उपयोग में लाए जाने वाले ट्रेक्टरों की खरीदी की गई, जबकि वर्ष 2020 में दीपावली के दौरान 242 ट्रेक्टरों की खरीदी की गई थी। 

सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने शुरु की की लाभदायक योजनाएं
 बीते दो वर्षों में धनतेरस-दीपावली के दौरान भी ऑटोमोबाइल सेक्टर (Automobile sector ) में अच्छी रौनक रही। इस वर्ष कोरोना संक्रमण दर अत्यधिक कम होने के कारण बाजार में और भी बड़ा उछाल आया है। बता दें कि कोरोना संकट काल में भी समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी का कार्य किया गया। इससे किसानों की आय बढ़ी है। वहीं राज्य सरकार ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना, सुराजी गांव योजना का संचालन करके ग्रामीणों की आय बढ़ाई है। वहीं गोधन न्याय योजना, तेंदूपत्ता संग्रहण पारिश्रमिक की दर में भी बढ़ोतरी की गई है। समर्थन मूल्य पर लघु वनोपजों के संग्रहण और वेल्यू एडिशन, महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना जैसी योजनाओं से आय और रोजगार का अच्छा जरिया मिला।