home page

वाहनों की सेल में आई भारी गिरावट, जानिए आखिर क्यों धीमी पड़ी ऑटो सेक्टर की रफ्तार

 | 
automobile news

कोरोना महामारी के दौरान ऑटो इंडस्ट्री ने काफी नुकसान उठाया है। इस बीच वाहनों की सेल में काफी गिरावट आई। हालांकि धीरे-धीरे इंडस्ट्री में सुधार आने शुरू हुए मगर ग्लोबल लेवल पर सेमीकंडक्टर की कमी ने वाहनों की सेल को एक बार फिर से प्रभावित किया है। नतीजन वाहनों की सेल में गिरावट पाई गई है।

अक्टूबर 2021 में यात्री वाहनों (पैसेंजर व्हीकल) की सेल में 27.15% की गिरावट देखी गई और दोपहिया वाहनों की सेल में अक्टूबर 2020 की तुलना में 24.94% की गिरावट देखी गई है। ये आंकड़े सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (SIAM) की तरफ से जारी किए गए हैं। सियाम ने शुक्रवार को कहा कि सेमीकंडक्टर की कमी से वाहन मैनुफैक्चरर्स का प्रोडक्शन प्रभावित होने से भारत में यात्री वाहनों की थोक बिक्री में सालाना आधार पर 27 प्रतिशत की गिरावट आई है।

पिछले महीने यात्री वाहनों की सेल 2,26,353 यूनिट रही, जो एक साल पहले की इसी समय में 3,10,694 यूनिट थी। सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (SIAM) के नए आंकड़ों के अनुसार, डीलरों को टू-व्हीलर वाहनों की डिलीवरी भी अक्टूबर 2020 में 20,53,814 यूनिट्स की तुलना में 15,41,621 यूनिट्स पर 25 प्रतिशत की गिरावट देखी गई।

मोटरसाइकिल डिस्पैच भी पिछले महीने 26 प्रतिशत घटकर 10,17,874 यूनिट रह गई, जबकि एक साल पहले की अवधि में यह 13,82,749 यूनिट थी। सियाम ने कहा कि स्कूटर की सेल 21 प्रतिशत गिरकर 4,67,161 यूनिट रह गई, जो एक साल पहले इसी महीने 5,90,507 यूनिट थी। पिछले महीने यात्री वाहनों, थ्री-व्हीलर, टू-व्हीलर और क्वाड्रिसाइकिल कटेगरी में वाहनों की सेल अक्टूबर 2020 में 23,91,192 यूनिट्स से 25 प्रतिशत घटकर 17,99,750 यूनिट रह गई।

सियाम के डायरेक्टर जनरल राजेश मेनन ने कहा। “मैनुफैक्चरर फाईनेंशियल ईयर 2021-22 के शुरुआती हिस्से में सेल में भारी गिरावट से उबरने के लिए त्योहारी सीजन पर बैंकिंग कर रहे थे। हालांकि, इंडस्ट्री पर सेमीकंडक्टर्स की कमी और कच्चे माल की लागत में भारी बढ़ोतरी का बुरा असर हुआ है। पिछले महीने, यात्री वाहनों, थ्री-व्हीलर, टू-व्हीलर और क्वाड्रिसाइकिल का कुल प्रोडक्शन 22,14,745 यूनिट रहा, जो अक्टूबर 2020 में 28,30,844 यूनिट्स से 22 प्रतिशत कम है।