home page

VIP नंबर लेने की लगी होड़, 0001 नंबर के मुकाबले 8888 के लिए लगाई गई लाखों की बोली

 | 
vip numbers of vehicles

इंदौर शहर में कारों के वीआईपी नंबरों  के लिए बड़ी-बड़ी बिज लगाई गईं।  वहीं एक नंबर तो ऐशा था जिसके खरीदी के लिए  नया रिकॉर्ड भी बन गया है। रविवार रात हुई नंबरों की नीलामी में 25 हजार रुपए की न्यूनतम कीमत का 8888 नंबर 1.62 लाख में बिका है । ये इंदौर में किसी नंबर  के लिए अब तक की सबसे बड़ी बोली थी। बता दें कि ये बोली पिछली नीलामी में बिके 0001 से भी अधिक थी।

1 लाख 62 हजार रुपए में बिका एमपी09-डब्ल्यूके के 8888 नंबर 
इंदौर परिवहन विभाग (Indore transport department) हर माह दो बार वीआईपी नंबरों की ऑनलाइन नीलामी करता है। नवंबर माह की पहली नीलामी रविवार रात को खत्म हुई थी। इसमें कारों की नई सीरिज एमपी09-डब्ल्यूके के 8888 नंबर के लिए तीन दावेदार बिड  लगा रहे थे। ये नीलामी 25 हजार से शुरू हुई थी। देर रात तक नीलामी चलती रही इसके बाद एमपी09-डब्ल्यू के के 8888 नंबर  1 लाख 62 हजार रुपए में सेल हुआ। बता दें कि  इससे पहले 21 अक्टूबर को हुई नीलामी में इसी सीरिज का 0001 नंबर, 1.21 लाख में बिका था।

पहली बार 8888 के लिए लगी इतनी बड़ी बोली
परिवहन विभाग के अधिकारियों  ने बताया कि अब से पहले तक अकसर 0001, 0007, 0009 जैसे नंबरों के लिए ही डेढ़ लाख से ज्यादा की बोली लगती रही है, लेकिन इस माह रविवार रात हुई बोली ने पुराने रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। ऐसा पहली बार  हुआ, जब 8888 नंबर इतनी ऊंची कीमत में बिक गया। वहीं पिछली बोली में 0007 और 0009 जैसे नंबर भी 50 से 51 हजार में नीलाम हुए थे। 

फलोदी कॉन इंफ्रा लिमिटेड कंपनी ने खरीदा नंबर
जानकारी के मुताबिक स नंबर को फलोदी कॉन इंफ्रा लिमिटेड कंपनी ने क्रय किया है। वहीं 7777 नंबर  60 हजार में रुपए में बिका है, इस नंबर के लिए तीन लोग बोली लगा रहे थे । नीलामी में कुल 40 नंबर बिके हैं, जिनमें से ज्यादातर कारों के नंबर हैं।

क्यो है 8888 नंबर की इतनी डिमांड 
पहले कार मालिक 01 से लेकर 09 नंबर खरीदना चाहते थे, पर बीते कुछ समय से स्थिति बदल गई है।  8888 नंबर यूथ को ज्यादा पसंद आता है, दरअसल 8888 के फोंट को थोड़ा- थोड़ा कर्व करके अलग-अलग तरह से पेश किया जाता है। कुछ जगहों पर इसे B बना लिया जाता है। इसे ताश के पत्तों की तरह  भी शो किया जाता है। वहीं 8 डिजिट को कलर से हल्का, और डार्क करके S बना लिया जाता है। 8 को 0 भी इसी कलर इफेक्ट के जरिए शो कर लिया जाता है। चार बार 8888 होने पर इसे BOSS की तरह शो किया जाता है। हालांकि 8055 नंब की भी डिमांड इसी लेटर को लिखने की वजह से होती है।  युवाओं को ये नंबर्स बहुत भाते हैं। हालांकि गाड़ी पर नंबर लिखने का एक मानक निर्धारित किया गया है। हर व्यक्ति को परिवहन विभाग के नियमों का पालन करना होता है।