home page

सेंसेक्स समीक्षाः वैश्विक रुख का बाजार पर रहेगा असर

उतार-चढ़ाव से गुजरता हुआ बीते सप्ताह गिरावट की मार झेल चुके शेयर बाजार पर बढ़ती महंगाई और विकास के बीच संतुलन स्थापित करने के उद्देश्य से अमेरिकी फेड रिजर्व ओपन मार्केट कमेटी (एफओएमसी) के रुख एवं वैश्विक स्तर पर जारी होने वाले
 | 
stock market

Newz Fast,New Delhi  उतार-चढ़ाव से गुजरता हुआ बीते सप्ताह गिरावट की मार झेल चुके शेयर बाजार पर बढ़ती महंगाई और विकास के बीच संतुलन स्थापित करने के उद्देश्य से अमेरिकी फेड रिजर्व ओपन मार्केट कमेटी (एफओएमसी) के रुख एवं वैश्विक स्तर पर जारी होने वाले पीएमआई का अगले सप्ताह बाजार पर असर रहेगा।

बीते सप्ताह बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 136.28 अंक उतरकर सप्ताहांत पर 57060.87 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 69.4 अंक फिसलकर 17102.55 अंक पर रहा। 

बीएसई की दिग्गज और मझौली कंपनियों के मुकाबले छोटी कंपनियों पर बिकवाली का दबाव अधिक रहा। मिडकैप 280.33 अंक की गिरावट लेकर 24418.04 अंक वहीं स्मॉलकैप 636.06 अंक लुढ़ककर 28611.92 अंक पर रहा। निवेशकों को निवेश सलाह देने वाली कंपनी स्वस्तिका इंवेस्टमेंट लिमिटेड के शोध प्रमुख संतोष मीणा ने कहा कि घरेलू शेयर बाजार लगातार तीसरे सप्ताह गिरावट पर रहा। 

हालांकि बाजार सीमित दायरे में रहा लेकिन कंपनियों के समाप्त वित्त वर्ष 2021-22 की चौथी तिमाही की आय के आंकड़ों का बाजार पर असर रहा। अमेरिकी बाजार में तेज गिरावट के बाद अगले सप्ताह घरेलू शेयर बाजार में मंदी की शुरुआत होने की संभावना है। वहीं, अमेरिकी एफओएमसी बैठक के नतीजे, जो रिकॉडर् मुद्रास्फीति और विकास चिंताओं के बीच महत्वपूर्ण है पर निवेशकों की नजर रहेगी। मीणा ने कहा कि एफओएमसी की बैठक बुधवार को होनी है और घरेलू बाजार पर गुरुवार को इसका असर देखा जा सकेगा। 

अगले सप्ताह एफओएमसी बैठक के अलावा बीओई ब्याज पर निर्णय, अमेरिका में रोजगार के आंकड़े विश्वव्यापी पीएमआई आंकड़े जारी किए जाएंगे। इन वैश्विक कारकों का शेयर बाजार की दिशा निर्धारित करने में महत्वपूर्ण भूमिका होगी। साथ ही कमोडिटी की कीमतों में उतार-चढ़ाव, डॉलर इंडेक्स और विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) का व्यवहार भी बाजार को प्रभावित करने वाले अन्य प्रमुख कारक बने रहेंगे। स्थानीय स्तर पर अगले सप्ताह अप्रैल में वाहनों की बिक्री के साथ ही रिलायंस, ब्रिटानिया, एचडीएफसी लिमिटेड, अदानी एंटरप्राइजेज, हीरो मोटोकॉर्प, टाटा स्टील, टाइटन, कोटक महिंद्रा बैंक और टाटा पावर जैसी दिग्गज कंपनियों की चौथी तिमाही के जारी होने वाले आंकड़ों का भी बाजार पर असर रहेगा।