home page

PM मोदी ने कहा- हमारे 800 से ज्यादा स्टार्टअप स्पोर्ट्स से जुड़े, मोबाइल गेमिंग में दुनिया के टॉप 5 देशों में है भारत

स्टार्टअप नीति का वर्चुअल शुभारंभ
 | 
modi

Newz Fast,New Delhi  PM नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को मध्यप्रदेश स्टार्टअप नीति का वर्चुअल शुभारंभ किया। कार्यक्रम में मोदी ने सबसे पहले स्टार्टअप करने वाले तीन युवाओं से बात भी की। इस मौके पर पीएम ने कहा- एमपी के स्टार्टअप से जुडे़ युवाओं से चर्चा की। दिल में जोश हो, नई उमंग हो, इनोवेशन का जज्बा हो तो इसका असर साफ नजर आता है।

मोदी ने कहा इंदौर ने स्वच्छता अभियान में देश के सामने बड़ा उदाहरण पेश किया है। इंदौर केमिकल मुक्त खेती, प्राकृतिक खेती के मामले में भी देश के सामने एक आदर्श बन सकता है।

PM मोदी ने कहा कि 2014 में जब हमारी सरकार आई थी, तो देश में 300-400 के आसपास स्टार्टअप थे। आज भारत में स्टार्टअप की दुनिया ही बदल गई, हमारे देश में करीब 70 हजार नए स्टार्टअप है। अब भारत में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप हब है। हम दुनिया के सबसे बड़े यूनिकॉर्न स्टार्टअप में भी सबसे बड़ी ताकत के रूप में उभर रहे हैं। अब देश में हर 7 दिन में एक नया यूनिकॉर्न स्टार्टअप तैयार हो रहा है। 50 प्रतिशत स्टार्टअप्स टीयर टू और टीयर थ्री सिटी में आते हैं।

हमने इनोवेशन- अटल इनोवेशन शुरू किया। 10 हजार से ज्यादा स्कूलों में अटल टिंकरिंग सेंटर चल रहे हैं।
हमारे देश में टूरिज्म का जो पोटेंशियल है उसे बढ़ाने में स्टार्टअप की बड़ी भूमिका है। टॉय इंडस्ट्री भी बड़ा सेक्टर है। भारत के 800 से ज्यादा स्टार्टअप खेल के काम से जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि इससे स्पोर्ट्स का स्पिरिट पैदा हुआ है। उन्होंने बताया कि मोबाइल गेमिंग में भारत दुनिया के टॉप 5 देशों में है. भारत की गेमिंग इंडस्ट्री की ग्रोथ रेट 40% से भी ज्यादा है।

पीएम मोदी ने MP के जिन तीन युवाओं से बातचीत की उनमें शॉप किराना स्टार्टअप वाले तनु सारस्वत,  भोपाल के 'उमंग श्रीधर डिजाइन' की संचालक सुश्री उमंग श्रीधर और इंदौर के कृषि के क्षेत्र में काम कर रही कंपनी ग्रामोफोन के संस्थापक तौसिफ खान शामिल हैं। इससे पहले स्टार्टअप कॉन्क्लेव- 2022 में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आज मप्र के सैकड़ों कॉलेजों में 5 लाख से ज्यादा नौजवान सीधे कॉलेज से जुड़े है।

उन्होंने कहा सही राह मिल जाए तो इंदौर स्टार्टअप में बैंगलोर को भी पीछे छोड़ देंगे। इस मौके पर सीएम शिवराज ने मध्यप्रदेश में स्टाम्प ड्यूटी कम करने की घोषणा की। उन्होंने कहा- मध्यप्रदेश स्टार्टअप पोर्टल लॉन्च किया जा रहा है। हम इंदौर, भोपाल समेत अन्य शहरों को स्टार्टअप हब के रूप में स्थापित करने का प्रयास करेंगे।