home page

मौसम का बदलेगा मिजाज, हरियाणा बढ़ने लगी ठंड, इन 7 राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी

मौसम विज्ञान विभाग ने शनिवार से दक्षिणी राज्य केरल में हो रही भारी बारिश के मंगलवार तक जारी रहने का अनुमान जताया। वहीं भारत मौसम विज्ञान विभाग ने सात राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया।
 | 
haryana rain today news

Haryana Weather News

Haryana Rain News

Winter Rain Today News

मौसम विभाग की ओर से जारी सूचना के मुताबिक, हरियाणा में पश्चिमी विक्षोभ के अभाव में उत्तर-पश्चिम भारत में शुष्क मौसमी स्थितियों के कारण अगले कुछ दिनों में हरियाणा के मौसम में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है। 15 नवंबर के बाद से राज्य के तापमान में अच्छी खासी गिरावट दर्ज होने की संभावना है। वहीं अगले दो दिन हरियाणा में घना कोहरा और धुंध छाने के आसार हैं। जिससे तापमान में तीन से चार डिग्री सेल्सियस की कमी देखने को मिल सकती है।
 
हरियाणा के हिसार कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञान विभाग की ओर से जारी मौसम पूर्वानुमान के अनुसार, हरियाणा राज्य में मौसम आमतौर पर 17 नवम्बर तक खुश्क रहने की संभावना है। इस दौरान राज्य में उत्तर-पश्चिम व पश्चिमी हवाएँ हल्की से मध्यम गति चलने से रात्रि तापमान में हल्की गिरावट और सुबह व देर रात्रि हल्की धुंध भी संभावित है।

weather rain update

मौसम विज्ञान विभाग ने शनिवार से दक्षिणी राज्य केरल में हो रही भारी बारिश के मंगलवार तक जारी रहने का अनुमान जताया। वहीं भारत मौसम विज्ञान विभाग ने सात राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया।

मौसम विज्ञान विभाग ने केरल, गोवा, उड़ीसा, बंगाल, तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। आईएमडी ने 18 नवंबर तक इन राज्यों में अलर्ट जारी किया है।

यूपी में ठंड धीरे-धीरे अपना असर दिखा रही है, वैसे तो पूरे उत्तर प्रदेश में सुबह व शाम को गुलाबी ठंडक पड़ना शुरू हो गई है, लेकिन पश्चिमी उत्तर प्रदेश के न्यूनतम तापमान में काफी गिरावट हुई है। जिसके कारण पश्चिम उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में ठंडक का प्रकोप बढ़ गया है।रविवार को मेरठ जिला सबसे ठंडा रहा, जहां पर न्यूनतम तापमान 8.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया जो कि सामान्य से 4 डिग्री सेल्सियस कम है। वहीं मुजफ्फरनगर में न्यूनतम तापमान 8.4, आगरा में 12.1, बरेली में 12.3, बिजनौर में 13.5, झांसी में 11.5 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकॉर्ड किया गया। वहीं पूर्वी उत्तर प्रदेश के कानपुर में न्यूनतम तापमान 12.5, गोरखपुर में 14.6, वाराणसी में 13.1, सोनभद्र में 14.1, हरदोई में 13.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

कम दबाव का क्षेत्र उत्तरी अंडमान सागर और आसपास के क्षेत्र पर बना हुआ है। संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 5.8 किमी तक फैला हुआ है। यह अगले 24 घंटों के दौरान एक अच्छी तरह से चिह्नित निम्न में और बाद में एक अवसाद में तेज हो सकता है। यह पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ेगा और 18 नवंबर तक आंध्र प्रदेश के तट पर पहुंच सकता है।

एक अन्य चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और उससे सटे उत्तरी आंतरिक तमिलनाडु पर है।

उत्तरी केरल तट पर कर्नाटक से दूर दक्षिण-पूर्व और उससे सटे पूर्वी मध्य अरब सागर के ऊपर एक चक्रवाती परिसंचरण देखा जाता है।

एक ट्रफ रेखा दक्षिण-पूर्वी अरब सागर से होते हुए केरल, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, तेलंगाना और ओडिशा से होते हुए निचले स्तरों पर गंगीय पश्चिम बंगाल तक फैली हुई है।

17 नवंबर के आसपास दक्षिण महाराष्ट्र और गोवा तट के पास पूर्वी मध्य अरब सागर के ऊपर निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है।

पिछले 24 घंटों के दौरान देश भर में हुई मौसमी हलचल

पिछले 24 घंटों के दौरानकेरल, तटीय कर्नाटक, तटीय ओडिशा के कुछ हिस्सों, झारखंड, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और तेलंगाना और तमिलनाडु के अलग-अलग हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई।

गंगीय पश्चिम बंगाल, आंतरिक ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश, आंतरिक कर्नाटक, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के शेष हिस्सों, गोवा और झारखंड के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई।

दक्षिण मध्य महाराष्ट्र, दक्षिण कोंकण और गोवा, छत्तीसगढ़ और लक्षद्वीप के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश हुई।

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की संभावित गतिविधि

अगले 24 घंटों के दौरानअंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तमिलनाडु के कुछ हिस्सों, कर्नाटक, केरल और तटीय आंध्र प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

छत्तीसगढ़ के ओडिशा भागों, तेलंगाना, लक्षद्वीप, दक्षिण मध्य महाराष्ट्र और दक्षिण कोंकण और गोवा में हल्की से मध्यम बारिश संभव है।

झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल, मणिपुर, विदर्भ और अरुणाचल प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में हल्की रेंज संभव है।