home page

UP Weather: यूपी में मानसून की रफ्तार पड़ी सुस्त, फिलहाल बारिश के आसार कम; जानें- झूम कर कब बरसेंगे बादल

UP Monsoon Date Update मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक मानसून की सुस्त रफ्तार की वजह से उत्तर प्रदेश में यह फिलहाल सक्रिय नहीं हो सका है। उम्मीद है कि अगले पांच दिनों में मानसून गति पकड़ेगा और पूरे प्रदेश में सक्रिय होगा।

 | 
barish

Newz Fast, New Delhi उत्तर प्रदेश में मानसून ने दस्तक तो दे दी है, लेकिन झमाझम बारिश के लिए अभी थोड़ा और इंतजार करना पड़ेगा। मौसम विज्ञानियों के अनुसार सोनभद्र के चुर्क के आसपास मानसूनी हवाएं फिलहाल ठहर गई हैं।

ऐसे हालात में चिंता बढ़ गई है। मौसम विभाग के ताजा अनुमान के मुताबिक अगले पांच दिनों तक बारिश के आसार नहीं हैं। हालांकि इस दौरान बादलों की आवाजाही जारी रहेगी। यानी उमस और गर्मी से फिलहाल राहत नहीं मिलने वाली है।

20 जून को सोनभद्र के चुर्क से मानसून ने उत्तर प्रदेश में प्रवेश किया, जिसके बाद उम्मीद लगाई जा रही थी कि जल्द सूबे में झमाझम बारिश देखने को मिलेगी।

लेकिन मानसून की सुस्त गति ने न सिर्फ मौसम विज्ञानियों की चिंता को बढ़ा दिया है, बल्कि धान की खेती करने वाले किसानों की चिंता भी बढ़ा दी है। गुरुवार से पांचवें दिन यानि 28 जून मानसूनी हवाएं आगे बढ़ना शुरू होंगी। मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक मानसूनी गतिविधियों पर पल पल नजर रखे हुए हैं।

इससे पहले मौसम विभाग ने 26 या 27 जून से बारिश का अनुमान जताया था, लेकिन अब 28 जून से बारिश का पूर्वानुमान लगाया जा रहा है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक मानसून की सुस्त रफ्तार की वजह से प्रदेश में यह सक्रिय नहीं हो सका है।

उम्मीद है कि अगले पांच दिनों में मानसून गति पकड़ेगा और पूरे प्रदेश में सक्रिय होगा। राजधानी लखनऊ में 27-28 जून को बारिश का अनुमान लगाया गया है। मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि 27-29 जून के बीच मानसून पूरी रफ्तार के साथ प्रदेश में बरसेगा।


मौसम विज्ञानियों के अनुसार मौजूदा समय यूपी के कुछ हिस्सों में हो रही बारिश मानसूनी नहीं कही जा सकती। दरअसल यह बारिश स्थानीय स्तर पर बने दबाव के क्षेत्र की वजह से हो रही है।

मौसम वैज्ञानिक के अनुसार दिन में आसमान साफ होने पर सूर्य की रेडियेशनल हीट यानी तीखी धूप के कारण तेजी से वाष्पीकरण होता है। इस बीच आद्रता यदि थोड़ी भी बढ़ गई तो एक झोंका बारिश का आ जाता है।


फिलहाल पश्चिम उत्तर प्रदेश से पूर्व की दिशा की ओर हवा चल रही है। मानसून सक्रिय होगा तो हवा का रुख पूर्व दिशा से पश्चिम की ओर हो जाएगा। मानसून को बंगाल की खाड़ी से पर्याप्त नमी नहीं मिल रही।

इसलिए यह चुर्क के पास ठिठका हुआ है। खाड़ी से नमी वाली हवा का सर्ज आते ही यह आगे बढ़ने लगेगा। इससे पूर्वी उत्तर प्रदेश के 50 प्रतिशत हिस्से में बारिश होगी। इसके अगले दिन 75 प्रतिशत तक बारिश हो जाएगी।