home page

हरियाणा में मौसम विभाग की चेतावनीः आज इन जिलों में बारिश के साथ ओलावृष्टि की संभावना, देखें कहां-कहां होगी बारिश ?

Newz Fast, Hisar Rain Weather Report in Haryana- हरियाणा में हल्की से मध्यम बारिश से जहां किसानों को राहत मिली है वहीं अब ओलावृष्टि के अलर्ट ने किसानों की नींद उड़ा दी है। हल्की बारिश के बाद ओलावृष्टि की संभावना से किसानों के चेहरों पर चिंता दिख रही है।
 | 
Haryana Rains Today

मौसम विभाग ने आज और कल प्रदेश के कई इलाकों में ओलावृष्टि की संभावना जाहिर की है।

सक्रिय मौसम प्रणाली वेस्टर्न डिस्टरबेंस की लगातार आवाजाही बनी हुई है। जिसकी वजह से भारत के मैदानी राज्यों पर लगातार बारिश का दौर जारी है।

उत्तरी पर्वतीय क्षेत्रों पर भारी मात्रा में हिमपात होने की वजह से मैदानी राज्यों में बर्फीली ठंडी हवाओं के तीखे तेवरों का प्रभाव जारी है। जिसके कारण से अधिकतम तापमान में लगातार गिरावट आ रही है।

आज से एक नया सशक्त वेस्टर्न डिस्टरबेंस भारत में उत्तरी पर्वतीय क्षेत्रों से प्रवेश करेगा और इस सशक्त मौसम प्रणाली की वजह से पूर्वी पाकिस्तान के भावलपुर व खुजद्वार और पश्चिमी राजस्थान के ऊपर एक प्रेरित साइक्लोनिक सरकुलेशन बनने जा रहा है।

जिसमें अरब सागर से प्रचुर मात्रा में नमी प्राप्त होगी और पछुआ पवनों का मिलन दक्षिणी पूर्वी नमी वाली पवनों से होगा ।

इस मौसम प्रभाव की वजह से पर्वतीय प्रदेशों पर भारी मात्रा में हिमपात और उत्तरी मैदानी राज्यों पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, एनसीआर दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जबरदस्त बारिश होने की एवं सीमित स्थानों पर ओलावृष्टि होने की पूरी संभावनाएं बन रही हैं।

कल सुबह से सम्पूर्ण इलाके पर एक बार फिर से बादल अपना डेरा जमा लेंगे और बर्फीली ठंडी हवाएं शीत ऋतु का तीखा अहसास करवाएंगी।

हरियाणा में सात जनवरी को पहला प्रभाव सुबह से चंडीगढ़, अंबाला और करनाल, सिरसा, फतेहाबाद, टोहाना, जींद, कैथल पर दिखाई देने की और रात्रि के समय सिरसा, हिसार, फतेहाबाद, भिवानी, महेंद्रगढ़ (नारनौल) और रेवाड़ी पर जबकि आठ जनवरी को सुबह भिवानी, लोहारू, महेंद्रगढ़ (नारनौल), रोहतक, झज्जर, व रेवाड़ी और बाद में करनाल, सोनीपत, पानीपत, गुड़गांव, फरीदाबाद, पलवल, सोहना तावडू और एनसीआर दिल्ली पर इस मौसम प्रणाली से हल्की से मध्यम बारिश की गतिविधियों की सम्भावना बन रही है।

8 जनवरी को बारिश की गतिविधियों में थोड़ी तेजी मिलेगी जिसकी वजह से कहीं कहीं मूसलाधार बारिश गरज चमक के साथ होने की और कुछ एक स्थानों पर ओलावृष्टि भी होने की प्रबल संभावनाएं बन रही है।

आने वाले दिनों में न्यूनतम और अधिकतम रफ़्तार तापमान में गिरावट दर्ज होगी और वातावरण में नमी की वजह से भारी मात्रा में कोहरा छाया रहेगा। यह बारिश किसानों की फसलों के लिए अमृत तुल्य प्रभाव डालेगी। हरियाणा में हल्की और सामान्य बारिश होने पर किसानों भाईयों में खुशी की लहर दौड़ गई है।

कृषि विज्ञान केंद्र पिंडारा से मौसम विशेषज्ञ डा. राजेश कुमार ने बताया कि रविवार तक आसमान में बादल छाए रहेंगे। शुक्रवार को तेज हवाओं के साथ बारिश होने और ओलावृष्टि की आशंका है। वहीं शनिवार को भारी बारिश हो सकती है।

किसान फिलहाल किसी फसल में सिंचाई ना करें। अपने खेत में निगरानी रखें। ज्यादा बारिश होने की स्थिति में निकासी की व्यवस्था रखें।

किसानों को अगले कुछ दिनों तक फसलों में सिंचाई और स्प्रे ना करने की सलाह दी गई है। ओलावृष्टि से जहां सरसों की फसल और हरे चारे में नुकसान हो सकता है। वहीं भारी बारिश से नीचले इलाकों में जहां पानी निकासी की व्यवस्था नहीं है, वहां गेहूं की फसल में भी नुकसान हो सकता है।

जिले में चार जनवरी को मौसम बदला था। बुधवार देर रात तक जींद 17, नरवाना में 25, जुलाना में 11, सफीदों 10, पिल्लूखेड़ा छह, अलेवा 15 और उचाना में पांच एमएम बारिश हुई। वीरवार को भी दिनभर आसमान में बादल छाए रहे।

देश भर में बने मौसमी सिस्टम

पश्चिमी विक्षोभ जम्मू कश्मीर और आसपास के इलाकों पर बना हुआ है। एक और पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी पाकिस्तान पर बना हुआ है। और एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दक्षिण-पश्चिम राजस्थान पर बना हुआ है।

पश्चिमी विक्षोभ जो उत्तरी पाकिस्तान के ऊपर है, आज रात तक पश्चिमी हिमालय को प्रभावित करना शुरू कर देगा।

पिछले 24 घंटों के दौरान देश भर में हुई मौसमी हलचल

पिछले 24 घंटों के दौरान, जम्मू कश्मीर, गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश और हिमपात के साथ कुछ स्थानों पर भारी हिमपात हुआ।

उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर हिमपात हुआ। राजस्थान, पंजाब, हरियाणा और उत्तर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर तेज बारिश हुई।

राजस्थान के शेष हिस्सों, दिल्ली, उत्तर प्रदेश के शेष हिस्सों, उत्तरी मध्य प्रदेश और गुजरात के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश के साथ एक स्थान पर मध्यम बारिश दर्ज की गई। दिल्ली, यूपी, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में न्यूनतम तापमान में और वृद्धि हुई।

पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार के कुछ हिस्सों में घना कोहरा छाया रहा। उत्तर प्रदेश के मध्य भागों और राजस्थान के कुछ हिस्सों में मध्यम कोहरा छाया रहा।

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की संभावित गतिविधि

अगले 24 घंटों के दौरान, मध्य और पूर्वी उत्तर प्रदेश, उत्तरी मध्य प्रदेश और पूर्वी राजस्थान में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। गुजरात के कुछ हिस्सों और बिहार के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर मध्यम बारिश हो सकती है।

पंजाब, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और दिल्ली एनसीआर के कुछ हिस्सों में 6 जनवरी को हल्की बारिश हो सकती है।

6 जनवरी को पश्चिमी हिमालय में हल्की से मध्यम बारिश और हिमपात संभव है और 7 और 8 जनवरी को एक बार फिर से तीव्रता बढ़ेगी। 7 और 8 जनवरी को पंजाब, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी बारिश की गतिविधियां बढ़ जाएंगी। लगातार जारी बारिश से दिल्ली और एनसीआर के वायु प्रदूषण में सुधार होगा।