लव मैरिज के दूसरे ही दिन महिला के साथ हैवानियत, पति ने दोस्तों से करवाया गैंगरेप

मध्य प्रदेश के इंदौर में पति  ने दोस्तों से पत्नी का गैंगरेप कराया. पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.
 | 
gangrape

Newz Fast, MP मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में गैंगरेप के आरोप में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार लोगों में महिला का पति भी है. युवती ने पुलिस को आपबीती बताई कि वह विदिशा की रहने वाली है.

उसका पति उसे पहले इंदौर लाया और फिर शादी की. शादी के दो दिन बाद ही उसके दोस्त आए और सभी ने शराब पी. तब पति उससे बोला कि दोस्तों ने शादी में बहुत मदद की है, उन्हें भी खुश कर दे. इसके बाद पति के दोस्तों ने उसका रेप किया. पुलिस ने महिला की शिकायत पर तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

 मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में रिश्तों को तार-तार करने वाला मामला सामने आया है. यहां एक पति ने पत्नी का दोस्तों से गैंगरेप कराया. जबकि, उनकी लव मैरिज दो दिन पहले ही हुई है. पति ने दोस्तों को खुश करने के लिए ऐसी हैवानियत भरा कदम उठाया. युवती की शिकायत पर पुलिस ने पति सहित दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जेल भिजवा दिया. मामला इंदौर के आजाद नगर का है.

आजाद नगर पुलिस के मुताबिक, 19 साल की युवती ने गैंगरेप की शिकायत की है. यह युवती विदिशा के शमशाबाद की रहने वाली है. युवती ने पुलिस को दी शिकायत में कहा है कि छोटेलाल मीणा मुझे शादी का झांसा देता रहता था. 9 अप्रैल को वह शादी करने के नाम पर मुझे इंदौर ले आया. यहां मुझसे शादी की. शादी के दो दिन बाद उसके दोस्त आनंद मीणा और दीपक मीणा भी घर आए. तब पति छोटेलाल ने कहा इन दोस्तों ने उनकी शादी में बहुत मेहनत की है. इसलिए एक बार उन्हें भी खुश कर दे.

पुलिस को सुनाई आपबीती

युवती ने पुलिस को बताया कि ये सुनकर उसके होश उड़ गए. उसे समझ नहीं कि क्या हो रहा है. इसके बाद आंनद मीणा और दीपक मीणा ने मेरे साथ रेप ने रेप किया. उसके बाद जब मैंने  घर जाने की बात की तो तीनों धमकाने लगे कि अगर किसी को कुछ बताया तो भाई को मार डालेंगे. हालांकि, जानकारी मिली है कि युवती और छोटेलाल के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था. दोनों ने इंदौर आजाद नगर आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली. छोटेलाल और दीपक पिता के साथ किसानी का काम करते हैं. आनंद बीकॉम सेकंड ईयर का छात्र है.

परिजनों ने दर्ज कराई थी गुमशुदगी की रिपोर्ट

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि, युवती के घर से चले जाने के बाद के उसके परिजनों ने विदिशा में उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी. जैसे-तैसे उसके इंदौर में होने की सूचना मिली तो परिजन यहां पुलिस के पास आए और सभी ने उसे ढूंढा. इसके बाद ही युवती ने पुलिस को खुलकर पूरी कहानी बताई. आरोपी ने पहले कुछ दिनों तक प्रेम होने का  ढोंग रचाया, फिर शादी के नाम पर हैवानियत की.